गठिया और डायबिटीज के रोगियों के लिए सही नहीं है पार्टनर से झगड़ना

गठिया और डायबिटीज के रोगियों के लिए सही नहीं है पार्टनर से झगड़ना

गठिया और मधुमेह से पीड़ित लोग यदि अपने जीवनसाथी के साथ झगड़ते हैं तो इससे उनका शारीरिक कष्ट और बढ़ सकता है। 

गठिया और मधुमेह से पीड़ित लोग यदि अपने जीवनसाथी के साथ झगड़ते हैं तो इससे उनका शारीरिक कष्ट और बढ़ सकता है। यह बात एक शोध के आधार पर कही गई है। ‘एनल्स ऑफ बिहैवियोरल मेडिसिन’ में प्रकाशित शोध के नतीजों के अनुसार, गठिया और मधुमेह से पीड़ित बुजुर्गो के दो अलग-अलग समूहों के मरीजों में जिन्हें अपने जीवनसाथी को लेकर ज्यादा तनाव महसूस होता था, उनकी तकलीफें ज्यादा बढ़ी हुई पाई गईं।

शोध के सह-लेखक व अमेरिका स्थित पेंसिलवेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर लीन मार्टायर ने कहा, ‘शोध के नतीजों से हमें यह जानने को मिला कि शादी से किस प्रकार स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है। खासतौर से गठिया और मधुमेह जैसे रोगों से पीड़ित मरीजों को यह जानना आवश्यक है।’शोधकर्ता ने बताया कि घुटनों की हड्डियों के रोग से पीड़ित मरीज बहुत जल्द अपंग बन जाते हैं और अनियंत्रित मधुमेह से पीड़ित मरीजों को ज्यादा खतरा बना रहता है।

शोधकर्ता ने अपने अध्ययन में घुटनों में गठिया रोग की शिकायत वाले 145 मरीजों के एक समूह को शामिल किया, जिसमें उनके जीवनसाथी भी शामिल थे। इसके अलावा दो प्रकार के मधुमेह से पीड़ित 129 मरीजों का एक दूसरा समूह बनाया। दोनों समूहों के प्रतिभागियों की दिनचर्या में उनके मूड, उनकी तकलीफें और उनके जीवनसाथी की प्रतिक्रियाओं को दर्ज किया गया। गठिया व मधुमेह के रोगियों ने क्रमश: 22 और 24 दिनों तक अपनी दिनचर्या लिखी। शोधकर्ताओं ने पाया कि जिस दिन मरीज अपने जीवनसाथी को लेकर तनाव में होते थे, उस दिन उनका मूड खराब रहता था और उनमें रोग के लक्षण की गंभीरता भी बढ़ जाती थी।

इसे भी पढ़ें : खून बढ़ाने के साथ ही डायबिटीज से भी बचाती है ये चमत्कारिक सब्जी

गठिया और डायबिटीज का इलाज है विजयसार 

विजयसार मध्य ऊंचाई से लेकर अधिक ऊंचाई वाला वृक्ष है। यह एक पर्णपाती वृक्ष है जिसकी ऊंचाई 30 मीटर तक हो सकती है। यह भारत, नेपाल और श्रीलंका में पाया जाता है। भारत में यह पश्चिमी घाट और मध्य भारत के वनों में पैदा होता है। विजयसार की लकड़ी आपको किसी भी आयुर्वेदिक औषधि की दूकान में मिल जाएगी। इस लकड़ी का रंग हल्‍का या फिर गहरा लाल रंग का होता है। आयुर्वेद विशेषज्ञों की मानें तो विजयसार की लकड़ी औषधीय गुणों का खजाना है। यह मधुमेह, धातुरोग और गठिया जैसे रोगों के लिए रामबाण है। जिन पहाड़ी क्षेत्रों में ये लकड़ी पाई जाती है वहां इस लकड़ी का ग्‍लास मिलता है, जिसमें पानी पीने से ही कर्इ तरह के रोग दूर हो जाते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles on Health News in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।