• shareIcon

आने वाला है दिल तोड़ने वाला महीना! तो हो जाएं सावधान

डेटिंग टिप्स By Rahul Sharma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Dec 26, 2016
आने वाला है दिल तोड़ने वाला महीना! तो हो जाएं सावधान

एक सर्वे की मानें तो सबसे ज्यादा ब्रेकअप जनवरी में होते हैं। देखिए, प्रेमियों के मद्देनज़र यह गंभीर है, इसलिए हम इस लेख के माध्यम से इस बात की गहराई तक जाने का प्रयास कर रहे हैं। चलिए विस्तार से जानें ....

नए साल का इंतजार हर किसी को रहता है, हालांकि इसको लेकर लोगों की अपनी-अपनी अलग वजहें होती हैं, मसलन कोई इस ने साल में कोई नया रेज़ोल्यूशन लेने वाला होता है तो किसी को नए साल में अपना कोई सपने पूरा करना होता है। कुल मिलाकर नए साल को पुरजोर तरीके से स्वागत और जश्न मनाया जाता है। लेकिन प्रेमी जोड़ों के लिए नया साल जोखिम से भरा हो सकता है... जी हां ये हम नहीं ये सर्वे कह रहा है। इस सर्वे की मानें तो सबसे ज्यादा ब्रेकअप जनवरी में होते हैं। देखिए, प्रेमियों के मद्देनज़र यह गंभीर है, इसलिए हम इस लेख के माध्यम से इस बात की गहराई तक जाने का प्रयास कर रहे हैं -


आमतौर पर किसी भी रिश्ते जुड़ने या टूटने में आपसी समझ और एक-दूसरे के प्रति प्यार और इज्ज़त ही मायने रखतें है और इसका किसी खास महीने या समय से कोई लेना देना नहीं होना चाहिए। लेकिन इस सर्वे में चौकाने वाली बात सामने आई है। सर्वे के मुताबिक सबसे ज्यादा ब्रेकअप जनवरी के महीने में होते है और साल की शुरुआत में ही सबसे ज्यादा रिश्ते टूट जाते हैं।

 

नए साल का रेज़ोल्यूशन बन सकता है कारण

ब्रिटेन में 18 वर्ष से ज्यादा आयु वाले तकरीबन 2000 लोगों पर किए गए रिसर्च में पाया गया कि इनमें से अधिकांश का जनवरी महीने में ब्रेकअप हुआ था। प्रतिभागियों द्वारा रिसर्च में ब्रेकअप और रिलेशनशिप पर किए गए सवालों के जवाबों के आधार पर यह साबित हुआ कि युवाओं के लिए जनवरी के महीने में ब्रेकअप करना बहुत ही आम बात है।
एक मनी सेविंग ब्रांड वाउचर क्लाउड ऑनलाइन के सर्वे के अनुसार जनवरी महीने में सबसे ज्यादा ब्रेकअप होते हैं और इसके पीछे का मुख्य कारण है कि जनवरी महीने से ही साल की शुरूआत होती है।


और साल की शुरुआत के साथ ही अधिकांश व्यक्ति कुछ ना कुछ नया रिजोल्युशन लेने का प्रण भी करते हैं।
इस ज़ोल्यूशन में ज्यादातर लोग यह भी तय करते हैं कि वो ज़िंदगी की प्रति ज्यादा ईमानदार और परिपक्व होकर रहेंगे। इसी वजह से कई लोग बोझ बन चुके अपने रिश्ते को ने साल के साथ खत्म कर देना चाहते हैं। अधिकांश लोग अपने जीवन में एक नई शुरुआत इस महीने से करना चाहता है।

इसे भी पढ़ें- जानें किशोरावस्‍था के प्‍यार में क्‍यों हैं इतनी उलझनें

जनवरी में ब्रेकअप को लेकर दूसरा शोध

वहीं एक दूसरे शोध के अनुसार आज के समय में वयस्कों को ब्रेकअप करने में पहले की तरह 3 महीने से लेकर 11 हफ्तों का वक्त नहीं लगता है। हालांकि द हेल्थ साईट की रिपोर्ट के मुताबिक ब्रेकअप होने से जुड़ी अच्छी बात ये है कि इससे युवाओं को काफी कुछ सीखने को मिलता है, साथ ही इस तरह उनमें असल जिंदगी को परखने की समझ भी विकसित हो पाती है।


गौरतलब है रिसर्च के दौरान 155 वयस्क युवाओं ने इस बात को स्वीकार किया कि वे रिलेशनशिप में विपल रहे। लेकिन इसमें से 71 प्रतिशत ने माना की उन्हें ब्रेकअप से बहुत कुछ सीखने को मिला और इससे अपने व्यक्तित्व का विकास कर पाए। इससे एक बात ये भी साफ होती है कि ब्रेकअप के बाद व्यक्ति पहले से कहीं ज्यादा इमोशनली स्ट्रोंग हो जाता है और जिन्दगी के प्रति गंभीर भी हो जाता है। हालांकि जब एक रिश्ता टूटता है तो उसके साथ उस समय के लिए वह इंसान टूट भी जाता है।

 

Read more articles on Relationship in Hindi.

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK