• shareIcon

महामारी की तरह फैल रहा है खुजली वाला रोग 'स्केबीज', छोटे बच्चों और बड़ों में दिखते हैं ये लक्षण

Updated at: Dec 10, 2019
अन्य़ बीमारियां
Written by: अनुराग अनुभवPublished at: Dec 10, 2019
महामारी की तरह फैल रहा है खुजली वाला रोग 'स्केबीज', छोटे बच्चों और बड़ों में दिखते हैं ये लक्षण

त्वचा पर लाल चकत्ते और तेज खुजली स्केबीज रोग का संकेत हो सकता है, जो इन दिनों कई राज्यों में तेजी से फैल रहा है। डॉक्टर से जानें इसके लक्षण और बचाव

सर्दियों का मौसम शुरू होते ही संक्रामक रोगों का सिलसिला भी तेजी से बढ़ने लगता है। इन दिनों छत्तीसगढ़ और आसपास के राज्यों में स्केबीज नाम का एक खास संक्रामक रोग तेजी से फैल रहा है, जिसके कारण व्यक्ति को तेज खुजली शुरू हो जाती है। स्केबीज एक तरह का संक्रामक रोग है, जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैलता है। एम्स हॉस्पिटल रायपुर में इन दिनों इस खुजली रोग से प्रभावित सैकड़ों मरीज हर सप्ताह इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। डॉक्टरों का कहना है स्केबीज संक्रामक रोग है, जो 30 साल पहले महामारी की तरह फैला था। इतने दिनों बाद एक बार फिर से ये रोग तेजी से फैला है क्योंकि रायपुर के अस्पतालों में इन दिनों हर दिन स्केबीज से प्रभावित 50 से ज्यादा मरीज आ रहे हैं।

बच्चों को होता है ज्यादा खतरा

स्केबीज एक ऐसा त्वचा रोग है, जिसका शिकार सबसे ज्यादा बच्चे होते हैं। सिद्धार्थ नगर के चिकित्साधिकारी डॉ. राम आशीष के अनुसार स्केबीज एक तरह का स्किन इंफेक्शन (त्वचा का संक्रमण) है, जो इलाज न करने पर फैलता जाता है और महीनों तक रह सकता है। ये रोग Sarcoptes scabiei नाम के बेहद छोटे परजीवियों के द्वारा फैलता है, इसलिए ये संक्रामक होता है। प्रभावित व्यक्ति की त्वचा पर ये परजीवी अंडे देते हैं, जिसके कारण त्वचा पर लाल चकत्ते और दाने निकल आते हैं, जिनमें तेज खुजली होती है।

इसे भी पढ़ें: सर्दी में होने वाले फंगल इंफेक्शन और खुजली से राहत दिलाते हैं ये आयुर्वेदिक नुस्खे

इस रोग से सबसे ज्यादा बच्चे प्रभावित होते हैं। खासकर स्कूल जाने वाले, हॉस्टल या बोर्डिंग में रहने वाले बच्चों में इसके फैलने की संभावना होती है क्योंकि ये बीमारी गंदगी के कारण फैलती है। संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले दूसरे बच्चे या व्यक्ति भी इसका शिकार बन जाते हैं।

स्केबीज रोग के लक्षण या संकेत

  • आमतौर पर स्केबीज रोग कलाइयों, कोहनियों, आर्मपिट (कांख), स्तनों, लिंग, कमर, हिप्स और उंगलियों में ज्यादा दिखाई देते हैं।
  • इस इंफेक्शन के कारण त्वचा पर लाल चकत्ते दिखाई देने लगते हैं।
  • कई बार चकत्तों की जगह त्वचा पर लाल छोटे दाने भी दिख सकते हैं।
  • इन चकत्तों या दानों में बहुत तेज खुजली होती है।
  • रात के समय खुजली की समस्या काफी बढ़ जाती है और कई बार खुजलाते हुए त्वचा छिल जाती है।
 

स्केबीज रोग से बचने के लिए क्या करें?

चूंकि स्केबीज एक संक्रामक रोग है इसलिए इससे बचाव के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

  • अगर घर में किसी सदस्य में ऊपर बताए गए लक्षण दिख रहे हैं, तो सबसे पहले उसे डॉक्टर को दिखाएं और सही इलाज शुरू करें।
  • जिस भी व्यक्ति या बच्चे को यह रोग हुआ है, उसके इस्तेमाल का साबुन, तौलिया, कपड़े, चादर आदि अलग कर दें, वर्ना अन्य जो लोग इनका इस्तेमाल करेंगे उन्हें भी ये संक्रमण हो जाएगा।
  • सप्ताह में कम से कम 1 बार चादर, तकिया कवर, तौलिया और रोजाना इस्तेमाल के कपड़ों को गर्म पानी से धोएं, जिससे इस इंफेक्शन को फैलाने वाले परजीवी मर जाएं।
  • पालतू जानवरों जैसे कुत्ते, बिल्लियों आदि के कारण ये इंफेक्शन तेजी से फैलता है, इसलिए अगर आपके इलाके में स्केबीज रोग फैल रहा है, तो अपने पालतू जानवर के बाहर घूमने-टहलने पर रोक लगाएं और उनकी साफ-सफाई का ख्याल रखें।
  • डॉक्टर द्वारा दी गई दवाएं सही समय पर खाएं और क्रीम को पूरे शरीर पर परिवार के सभी सदस्य लगाएं, ताकि परजीवी को पूरी तरह खत्म किया जा सके, अन्यथा ये जल्दी ही दोबारा पनप जाएंगे।
  • इस इंफेक्शन के रोगी को स्वस्थ व्यक्ति के साथ न सुलाएं, बल्कि इनका बिस्तर अलग लगाएं।

Read more articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK