त्वचा में दरार और खून बहना हो सकता है 'सोराइसिस' रोग का संकेत, जानें इस स्थिति में हल्दी कैसे है फायदेमंद

Updated at: Jun 12, 2020
त्वचा में दरार और खून बहना हो सकता है 'सोराइसिस' रोग का संकेत, जानें इस स्थिति में हल्दी कैसे है फायदेमंद

हम सभी जानते हैं कि हल्दी एक औषधि भी है, घर की रसोईं में मिलने वाला ये हर्ब स्वाद से लेकर सौंदर्य बढ़ाने के काम आता है, पर क्या आप जानते है कि ये त्वच

Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: Aug 05, 2015

जैसा कि आप जानते भी हैं की हल्दी हमारे स्वास्थ्य के लिए कितनी फायदेमंद होती है और कई गंभीर बीमारियों के खतरे को कम करने का काम करती है। हल्दी का इस्तेमाल कई बीमारियों के लिए घरेलू इलाज के तौर पर किया जाता है। ऐसे ही सोराइसिस त्वचा संबंधित बीमारी है, जिसमें हल्दी काफी फायदेमंद साबित होती है। कई अध्ययनों के अनुसार, हल्दी त्वचा की स्थिति सोरायसिस के लक्षणों के इलाज के लिए एक शक्तिशाली और प्राकृतिक उपचार हो सकता है। सोराइसिस रोग के कारण त्वचा की परत काफी बदरंग होने लगती है और ये शरीर में खून की खराबी के कारण होता है। आइए जानते हैं कि इस रोग क्या है, इसके कारण क्या है और इससे बचाव करने के लिए हल्दी कितनी लाभदायक है। 

skincare

सोराइसिस रोग क्या है (What Is Psoriasis In Hindi)

सोरायसिस रोग एक त्वचा संबंधित रोग है जो आपकी त्वचा की कोशिकाओं के तेजी से निर्माण का कारण बनती है। कोशिकाओं का यह निर्माण त्वचा की सतह पर स्केलिंग का कारण बनता है। जिसके चारों ओर सूजन और लालिमा काफी आम है। इसके साथ ही आपकी त्वचा पर लाल और मोटे पैच विकसित होने लगते हैं, कई मामलों में इनसे दरार पड़कर खून भी निकलने लगता है। त्वचा की कोशिकाएं त्वचा में गहराई से बढ़ती हैं और धीरे-धीरे सतह पर बढ़ती हैं और आखिरकार, वे गिर जाते हैं। एक त्वचा की कोशिका का जीवन चक्र एक महीने ही होता है। ये समस्या आपके शरीर पर किसी भी हिस्से पर हो सकती है जैसे: हाथ, नाक, गला, मुंह और पैर।

सोराइसिस के कारण (Causes Of Psoriasis)

सोराइसिस को लेकर डॉक्टर भी स्पष्ट नहीं हैं कि सोरायसिस का मुख्य कारण क्या है। हालांकि, उनके पास दो प्रमुख कारण है पहला जेनेटिक और दूसरा इम्यून सिस्टम के कमजोर होने के कारण। डॉक्टरों का मानना है कि कई लोगों को इस बीमारी का शिकार खुद की वजह से ही होना पड़ता है जैसे इम्यून सिस्टम का कमजोर होना। वहीं, जिन लोगों के साथ ये एक जेनेटिक समस्या बनी हुई है उन लोगों को इसका शिकरा होना पड़ता है। 

लक्षण (Symptoms)

  • त्वचा का लंबे समय तक लाल होना।
  • त्वचा में अचानक से उभरे हुए पैच।
  • सूखी त्वचा जो दरार और खून का बहना।
  • पैच के आसपास खुजली और जलन।

सोराइसिस के लिए हल्दी है फायदेमंद (Turmeric is beneficial for Psoriasis)

हल्दी में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो आपकी त्वचा से इस रोग को दूर करने का काम करते हैं। हल्दी का इस्तेमाल सदियों से हीलिंग मसाले के रूप में भी किया जाता है। यह चीनी और आयुर्वेदिक चिकित्सा दोनों में लोकप्रिय है। हल्दी में शक्तिशाली सूजन-रोधी क्षमता होती है, जो सोरायसिस के लक्षणों को दूर करने में हमारी मदद कर सकती है।

हल्दी का नियमित रूप से सेवन करने से ये आपके शरीर में आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है और किसी भी बीमारी के खतरे को कम करती है। इसके साथ ही  हल्दी आपके शरीर में मौजूद खून को साफ करती है और ऊर्जा को निर्मल बनती है। आप हल्दी का इस्तेमाल एक पेस्ट के रूप में भी कर सकते हैं। आप इसका पेस्ट बनाकर प्रभावित हिस्स पर भी लगा सकते हैं। नियमित रूप से इसे लगाने से आपको कुछ ही दिनों में त्वचा बेहतर होती नजर आएगी।

 

 
 

 

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK