भारतीय लोगों में बढ़ रहा है आलसीपन, सोने और पैदल चलने में फिसड्डी हैं भारतीय: रिपोर्ट

Updated at: Oct 31, 2019
भारतीय लोगों में बढ़ रहा है आलसीपन, सोने और पैदल चलने में फिसड्डी हैं भारतीय: रिपोर्ट

18 देशों में किए गए सर्वे के मुताबिक दुनिया में सबसे आलसी और स्वास्थ्य के प्रति लापरवाह लोगों में भारत का नंबर दूसरा है। रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय लोग सोते भी कम हैं और पैदल भी कम चलते हैं। यहां पढ़ें पूरी रिपोर्ट।

Anurag Anubhav
लेटेस्टWritten by: Anurag AnubhavPublished at: Oct 31, 2019

एक नए सर्वे के मुताबिक दुनिया सबसे आलस और स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही के मामले में भारतीय लोग दुनिया में दूसरे नंबर हैं। ये सर्वे फिटबिट नामक एक्टिविटी ट्रैकर कंपनी ने 18 देशों के लोगों के रोजाना के पैदल चलने और सोने के आंकड़ों को जुटाकर किया है। सर्वे में भाग लेने वाले सभी देशों की तुलना में सबसे खराब नींद के मामले में भारतीय लोग दूसरे नंबर हैं। वहीं पैदल चलने के मामले में भी भारतीय लोग अन्य देशों की अपेक्षा काफी पीछे हैं। शायद यही कारण है कि भारत में लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं। ये सर्वे भारतीयों के स्वास्थ्य के बारे में काफी कुछ बताता है।

sleep-less-indians

7 घंटे सोते हैं भारतीय

इस सर्वे के मुताबिक भारतीय लोग अच्छी नींद नहीं लेते हैं, जबकि वे दूसरे देशों के लोगों की अपेक्षा ज्यादा देर तक सोते हैं। यानी गहरी नींद के मामले में भारतीय लोग काफी पीछे हैं। सर्वे के आंकड़ों के अनुसार एक भारतीय औसतन रोजाना 7 घंटे 1 मिनट की नींद लेता है। जबकि सिंगापुर में एक व्यक्ति औसतन 7 घंटे 5 मिनट सोता है। सोने के मामले में सबसे खराब देश जापान है, जहां एक व्यक्ति औसतन 6 घंटे 47 मिनट की नींद लेता है। जबकि अमेरिका में लोग भारतीयों की अपेक्षा 32 मिनट ज्यादा सोते हैं और यूके में लोग भारतीयों की अपेक्षा 48 मिनट ज्यादा सोते हैं।

इसे भी पढ़ें:- चैन की नींद सोना है तो रोज रात में पिएं ये स्पेशल हर्बल बेड टाइम टी, तुरंत आएगी गहरी नींद

आलसी होते हैं भारतीय

फिटबिट द्वारा किए गए इस सर्वे के अनुसार भारतीय लोग अन्य देशों की अपेक्षा काफी आलसी होते हैं और स्वास्थ्य के प्रति लापरवाह होते हैं। इंटरनैशनल हेल्थ गाइडलाइन्स के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को रोजाना कम से कम 10,000 (दस हजार) कदम पैदल चलना चाहिए, जबकि भारतीय लोग औसतन 6,533 कदम ही रोजाना चलते हैं। इस मामले में हॉन्ग कॉन्ग के लोग सबसे बेहतर हैं क्योंकि वो भारतीयों की अपेक्षा रोजाना 3600 कदम ज्यादा चलते हैं।

सर्वे की मुख्य बातें जो बताती हैं भारतीय हैं स्वास्थ्य के प्रति लापरवाह

  • सर्वे के मुताबिक बहुत सारे भारतीय लोगों को सोने के बाद रात में एक बार जागने की आदत है। औसतन वे रोजाना रात में 57 मिनट जागते हैं, जिससे उनकी नींद की क्वालिटी खराब होती है और वे गहरी नींद नहीं सो पाते हैं।
  • 75 से 90 साल की उम्र के लोग सबसे कम नींद लेते हैं। इनकी औसत नींद 6 घंटे 35 मिनट है।
  • 18 से 25 साल की उम्र के ज्यादातर युवा देर रात में सोते हैं। (औसतन रात के 12.33 बजे के बाद)
  • भारतीय लोग बहुत कम पैदल चलते हैं।

सर्वे कैसे किया गया

ये सर्वे 18 देशों के लगभग 1050 करोड़ लोगों के रोजाना पैदल चलने और सोने के आंकड़ों को जुटाकर किया गया है। इन देशों में अर्जेन्टीना, ऑस्ट्रेलिय, कैनेडा, चिली, फ्रांस, इटली, जापान, न्यूजीलैंड, सिंगापुर, यूएस, यूके, आयरलैंड और भारत जैसे देश शामिल थे। ये सर्वे 1 अगस्त 2018 से लेकर 31 जुलाई 2019 तक प्राप्त आंकड़ों के आधार पर किया गया है।

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK