प्रेग्नेंसी के दौरान भी अपने रिलेशनशिप को कैसे रखें बेहतर? जानें 5 टिप्स

Updated at: Nov 01, 2019
प्रेग्नेंसी के दौरान भी अपने रिलेशनशिप को कैसे रखें बेहतर? जानें 5 टिप्स

गर्भावस्था के दौरान मूड-स्विंग्स और बढ़ते हुए वजन का असर आपके रिश्तों पर भी पड़ सकता है। इस दौरान बहुत ज्यादा चिड़चड़ा हो जाना और कभी भी रिएक्ट कर देना झगड़े का कारण बन सकता है। इसके लिए सबसे पहली जरूरत ये है कि प्रेग्नेंसी के दौरान भी आप अपने आप

Pallavi Kumari
मैरिजWritten by: Pallavi KumariPublished at: May 28, 2012

स्त्री जीवन का सबसे अच्छा अनुभव होता है गर्भवती होना। पर बहुत सी महिलाओं को लगता है कि जब वे मां बनने वाली होती हैं, तो उनके पति उन्हें कम प्यार करने लगते हैं। ऐसा इसलिए भी इन महिलाओं को लगता है क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान आपके शरीर में काफी बदलाव आ जाते हैं। अपने बढ़ते वजन और बिगड़ते साइज के कारण यह महिलाएं अपनी सुंदरता को कम आंकने लगती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान इन औरतों को लगता है कि उनके पतियों को अब वे उतनी खूबसूरत नहीं लगेंगी, जितना वे पहले लगती थी। अक्सर वह अपने आप शीशे में देखकर आश्चर्यचकित होती हैं कि क्या वे फिर से अपना पुराना दुबला-पतला शरीर पा पायेंगी या नहीं। कभी कभार इस तरह कि छोटी-छोटी बातों के पाछे उनके मूड स्विंग्स भी होते हैं, जिसके कारण वह अपने बढ़ते वजन को देखकर चीढ़ जाती हैं।  

Inside29_loveduringpregnancy

इस तरह के शारीरिक बदलाव के कारण महिलाओं की सोच में बदलाव आना बहुत ही सामान्य बात है। ऐसा माना जाता है कि पुरूष तो इन बातों को समझ नहीं पाते। खैर आज के इस दौर में पतियों के लिए पत्नियों का ये हाल भी समझना बहुत मुश्किल नहीं है। पति समझते हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान उनकी पत्नी किन किन चीजों से गुजर रही होती हैं। ऐसे में वह अपनी वाइफ की परेशानियों के बारे में भी सोचकर उनसे पहले की तरह पेश नहीं आते और पत्नियों को लगता है कि उनके पति बदल गए हैं। पर फिर भी अगर गर्भावस्था के दौरान किसी भी महिला को लगता है कि उनके पति उनसे थोड़ा दूर हो रहे हैं या पहले कि तरह उनके साथ समय नहीं बिता रहे हैं, तो हम आपको बताते हैं अपने रिलेशनशिप को ठीक करने के कुछ टिप्स -

अपने साइज के कपड़े लें

प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में काफी बदलाव आ जाते हैं। शरीर थोड़ा भारी और मोटा हो जाता है। ऐसे में वो कपड़े लें जो आप पर उस अच्छे दिखें। बहुत ढीले कपड़े भी न बहुत टाइट। अपने सकारात्मक गुणों को ध्यान में रखें और वेस्टर्न व इंडियन में जिस तरह के कपड़े आप पर अच्छे लगे उसे पहनें।

 इसे भी पढ़ें : जानिए 5 खास बातें जो बनाती हैं शाहरुख और गौरी खान को परफेक्ट कपल

सौंदर्य दिनचर्या

अपनी पुरानी सौंदर्य दिनचर्या का पालन करें या अपना थोड़ा और ध्यान देने की कोशिश करें। प्रेग्नेंसी के दौरान ही हर महीने मैनीक्योर ,पैडिक्योर ,फेशियल और हेयर स्पा लेते रहें। इससे आप ज़रूर अच्छा महसूस करेंगे। साथ ही किसी के भी सामने आपका आत्मविश्वास बना रहेगा और आप घर से बाहर जाने से बचेंगी नहीं।

वजन पर ध्यान दें

चाकलेट और आइसक्रीम खाने की इच्छा के साथ अपने आपको फिट रखना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। लेकिन ध्यान रखें वजन बढ़ने से प्रेगनेंसी के बाद ना केवल आपको वजन कम करने में परेशानी होगी बल्कि आप अपने आपको अनाकर्षित भी महसूस करने लगेंगे। इसके लिए आप प्रेग्नेंसी के दौरान से ही कुछ खास योग करते रहें, जिन्हें गर्भावस्था के दौरान ही सुझाया जाता है। साथ ही अपने बढ़ते हुए वजन से परेशान न हों और सोचें कि यह आपके जीवन का सबसे खास फेज है।

 इसे भी पढ़ें : शादी के बाद दोस्‍ती में आ गयी है दरार, तो दोस्‍ती बरकरार रखने मदद करेंगी ये 5 जरूरी टिप्‍स

पार्टनर से बात करें

अगर आपके पार्टनर को पता चलता है कि आप अपने शरीर में हो रहे बदलाव को लेकर कैसा अनुभव कर रही हैं तो वह ना केवल अपने आपको आपसे जोड़ने की कोशिश करेंगे बल्कि अपने बच्चे की ओर भी उसका ध्यान केंद्रित करेंगे। पर इसके लिए जरूरी है कि आप अपने पार्टनर से बात करें। उनसे अपनी हर छोटी-बड़ी मन की बात कहें और सुने। अपने पार्टनर के साथ बाहर जाएं और शौपिंग करें। कैसे भी हो ज्यादा से ज्यादा खुश रहने की कोशिश करें।

दूसरी क्रियाओं में भाग लें

आप अपने पार्टनर के साथ क्वालिटी टाइम बिता सकती हैं जैसे डिनर पर जाना या डांस करना। बच्चों का ख्याल रखने के लिए आप किताबें भी पढ़ सकते हैं या गेम्स भी खेल सकती हैं। इस तरह से कुछ आसान तरीके अपनाकर आप अपने पार्टनर के साथ कुछ समय बिताने के साथ साथ अपने पार्टनर को आकर्षित भी कर सकते हैं।अगर पार्टनर एक दूसरे से प्यार करते हैं तो ऐसी किसी बात की गुंज़ाइश ही नहीं रहती। इसके अलावा कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा आप अकेले न रहें और लोगों के बीच रहें। कोशिश करें कि आपके प्रेग्नेंसी का पूरा वक्त आपकी फैमली और फ्रेंड्स के साथ गुजरे क्योंकि इससे आपके बच्चे पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

Read more articles on Marriage in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK