क्या आप सही तरीके से इस्तेमाल करते हैं नहाने का साबुन? ज्यादातर लोग करते हैं ये गलतियां

आप भी साबुन को इस्‍तेमाल करने का सही तरीका जानना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़ें

Yashaswi Mathur
त्‍वचा की देखभालWritten by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 21, 2021
Updated at: Jun 21, 2021
क्या आप सही तरीके से इस्तेमाल करते हैं नहाने का साबुन? ज्यादातर लोग करते हैं ये गलतियां

स्‍क‍िन को साफ करने के ल‍िए हम साबुन का इस्‍तेमाल रोजाना करते हैं पर इसके बावजूद भी आपकी स्‍क‍िन पर अक्‍सर बैक्‍टीर‍ियल या फंगल इंफेक्‍शन हो जाता है तो इसका एक कारण साबुन को इस्‍तेमाल करने का गलत तरीका भी हो सकता है। बहुत से लोगों को साबुन को सही तरीके से इस्‍तेमाल करना नहीं आता है ज‍िसके कारण वो इंफेक्‍शन का श‍िकार हो जाते हैं। इस लेख में हम साबुन को इस्‍तेमाल करने का सही तरीका जानेंगे, इसी के साथ आपको ये भी जानने को म‍िलेगा क‍ि अपनी स्‍क‍िन टाइप के मुताब‍िक साबुन का चयन कैसे करना चाह‍िए और साबुन से जुड़ी कुछ जरूरी बातों पर भी चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की।

how to use soap

साबुन को इस्‍तेमाल करने का सही तरीका (How to use soap)

बॉडी की हाइजीन बनाए रखने के ल‍िए साबुन को सही तरह से इस्‍तेमाल करना जरूरी है इसल‍िए साबुन को इस्‍तेमाल करने से पहले सही तरीका जान लें- 

  • 1. डॉ देवेश ने बताया क‍ि बहुत से लोग शरीर के ऊपरी ह‍िस्‍से से नीचे की ओर साबुन लगाते हैं पर सही तरीका ये है क‍ि आपको शरीर के निचले ह‍िस्‍से से शुरूआत करते हुए ऊपर की ओर आना चाह‍िए।
  • 2. अगर नहाने के ल‍िए साबुन का इस्‍तेमाल कर रहे हैं तो पहले पूरे शरीर को अच्‍छी तरह साबुन से साफ कर लें। 
  • 3. आपको साबुन से स्‍क‍िन को रगड़ने के बजाय लूफा का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। 
  • 4. साबुन को बेवजह झाग बनाने के ल‍िए बर्बाद न करें, साबुन या शैम्‍पू का इस्‍तेमाल करते समय ज्‍यादा झाग स्‍क‍िन के ल‍िए अच्‍छी नहीं होती। 
  • 5. प्राइवेट पार्ट सेंसेट‍िव होता है इसल‍िए ऐसा साबुन चुनें जि‍समें माइल्‍ड या नो कैम‍िकल हों। 
  • 6. साबुन से हाथों को अच्‍छी तरह से साफ करें, कम से कम आपको 20 सेकेंड तक हाथों को साफ करना चाह‍िए।
  • 7. साबुन को इस्‍तेमाल के बाद ऐसी जगह पर रख दें जो सूखी हो। साबुन में मॉइश्‍चर नहीं होना चाह‍िए। अगर साबुन में मॉइश्‍चर रहेगा तो आपको इंफेक्‍शन हो सकता है।

साबुन को चेहरे पर इस्‍तेमाल करने की गलती न करें (Don't always use soap for face)

soap on face

साबुन को चेहरे पर इस्‍तेमाल करना चाह‍िए या नहीं? चेहरे की त्‍वचा बाकि शरीर से अलग होती है इसल‍िए आपको हर समय चेहरे पर साबुन का इस्‍तेमाल नहीं करना चाह‍िए। अगर चेहरे की स्‍क‍िन पर आप ध्‍यान नहीं देंगे तो चेहरे की स्‍क‍िन ड्राय और बेजान होने लगेगी। अगर आप चेहरे को साफ करने के लिए साबुन का इस्‍तेमाल कर भी रहे हैं तो इस बात का ध्‍यान रखें क‍ि ज्‍यादा हार्ड कैमिकल से बने साबुन को चेहरे पर न लगाएं। ऐसा करने से आपके चेहरे की स्‍क‍िन से मॉइश्‍चर कम हो जाएगा। साबुन में मौजूद हार्ड कैमिकल से आपके चेहरे की स्‍क‍िन में एलर्जी हो सकती है। आपको चेहरे पर साबुन की जगह नैचुरल फेसवॉश का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। इससे त्‍वचा को हेल्‍दी रखने में मदद म‍िलेगी। फेसवॉश में मौजूद कैम‍िकल्‍स साबुन से ज्‍यादा माइल्‍ड होते हैं इसल‍िए वो चेहरे को सूट करेंगे। 

इसे भी पढ़ें- साबुन या बॉडी वॉश, किससे नहाना है ज्यादा बेहतर? डर्मेटोलॉजिस्ट से जानें जवाब

साबुन को इस्‍तेमाल करते समय क्‍या करें और क्‍या अवॉइड करें? (Do and don't of using soap) 

  • साबुन को गीला छोड़ने की गलती न करें नहीं तो आपके स्‍क‍िन पर साबुन पर मौजूद बैक्‍टीर‍िया बार-बार च‍िपकते रहेंगे। साबुन को सूखी जगह पर रखें। 
  • साबुन को बैक्‍टीर‍िया मुक्‍त रखने के ल‍िए एक साथ पूरा साबुन इस्‍तेमाल करने के बजाय आप साबुन को दो या अध‍िक ह‍िस्‍सों में काटकर रख लें और जरूरत के अनुसार इस्‍तेमाल करें।
  • ऐसा कहा जाता है क‍ि ल‍िक्‍व‍िड साबुन एंटी-बैक्‍टीर‍ियल होता है पर आपको ल‍िक्‍व‍िड साबुन के पंप को भी इस्‍तेमाल करने से पहले साफ करना चाह‍िए नहीं तो वो जर्म्स फ्री नहीं रह पाएगा। 
  • स्‍क‍िन को साफ करने के ल‍िए आपको बहुत देर स्‍क‍िन पर साबुन रगड़ने की जरूरत नहीं है। साबुन को लगाकर लूफा से स्‍क‍िन स्‍क्रब करें तो त्‍वचा साफ हो जाएगी और जब च‍िपच‍िपाहट महसूस न हो तो समझ जाइए त्‍वचा साफ हो गई है।

स्‍क‍िन टाइप के मुताब‍िक चुनें साबुन (Choose soap according to skin type)

natural soaps

साबुन चुनते समय अपनी स्‍क‍िन टाइप का ध्‍यान रखना बहुत जरूरी है। हर व्‍यक्‍त‍ि की स्‍किन, दूसरे से अलग होती है। ऐसा जरूरी नहीं है क‍ि जो साबुन क‍िसी एक व्‍यक्‍त‍ि को सूट कर रहा है वो दूसरे की स्‍क‍िन को भी सूट कर जाए। इसल‍िए आपको अपनी स्‍क‍िन के मुताब‍िक साबुन का चयन करना चाहि‍ए-

1. एक्‍ने-प्रोन स्‍क‍िन होने पर सैल‍िस‍िल‍िक एस‍िड युक्‍त साबुन का इस्‍तेमाल करें (Best soap for acne-prone skin)

अगर आपकी स्‍क‍िन पर आए द‍िन एक्‍ने की समस्‍या रहती है तो आप ऐसा साबुन इस्‍तेमाल करें ज‍िसमें सैल‍िस‍िल‍िक एस‍िड हो। सैल‍िस‍िल‍िक एस‍िड से ब्‍लैकहैड्स, एक्‍ने आद‍ि की समस्‍या दूर होती है। इसके अलावा आपको एंटी-बैक्‍टीर‍ियम फॉर्मूला से बने साबुन को चुनना चाह‍िए। एक्‍ने स्‍किन पर नॉर्मल साबुन का इस्‍तेमाल करेंगे तो साबुन ड्राय होने के कारण धूल और बैक्‍टीर‍िया को ट्रैप कर लेगा और आपको एक्‍ने की समस्‍या से छुटकारा नहीं म‍िलेगा। 

2. ऑयली स्‍क‍िन है तो ग्‍ल‍िसरीन युक्‍त साबुन का इस्‍तेमाल करें (Best soap for oily skin)

डॉ देवेश ने बताया क‍ि ऑयली स्‍क‍िन होने पर आप आपको ऐसे साबुन चुनने चाह‍िए ज‍िसमें ग्‍ल‍िसरीन हो। इससे स्‍क‍िन में मौजूद एक्‍सट्रा ऑयल नि‍कल जाएगा। आपको इस बात का ध्‍यान रखना है क‍ि ऑयली स्क‍िन होने के बावजूद आपको ज्‍यादा देर साबुन से त्‍वचा को रगड़ना नहीं है। ऐसा करने से स्‍क‍िन में मौजूद नैचुरल ऑयल या सीबम की मात्रा कम होने लगेगी।

इसे भी पढ़ें- एक ही साबुन का इस्तेमाल घर के सब लोग करते हैं तो हो सकती हैं ये 4 समस्याएं, जानें एक्सपर्ट से

3. ड्राय स्‍क‍िन है तो आर्गेन‍िक साबुन ही चुनें (Best soap for dry skin)

choose soap according to skin

ज‍िन लोगों की ड्राय स्‍क‍िन होती है उन्‍हें आर्गेन‍िक साबुन का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। अगर आपकी स्‍क‍िन ड्राय है तो साबुन खरीदते समय इस बात पर ध्‍यान दें क‍ि इंग्रीड‍िएंट्स में एलोवेरा, व‍िटाम‍िन ई, श‍िया, कोकोआ बटर, ऑल‍िव ऑयल, बादाम का तेल आद‍ि मौजूद हों। इन इंग्रीड‍िएंट्स के मौजूद होने से स्‍क‍िन मॉइश्‍चराइज रहेगी। आपको ये कोशिश भी करनी चाह‍िए क‍ि साबुन की खुशबू ज्‍यादा तेज न हो या और भी अच्‍छा है अगर साबुन में खुशबू न हो। 

4. सेंसेट‍िव स्‍क‍िन है तो नैचुरल साबुन इस्‍तेमाल करें (Best soap for sensitive skin)

सेंसेट‍िव स्‍क‍िन होने पर स्‍क‍िन में रैशेज, खुजली आद‍ि समस्‍या होती रहती है। सेंसेट‍िव स्‍क‍िन है तो आप ऐसे साबुन इस्‍तेमाल करें ज‍िसमें माइल्‍ड कैमिकल्‍स हों। ऐसे साबुन के इंग्रीड‍िएंट्स में आपको नैचुरल इंग्रीड‍िएंट्स नजर आएंगे जैसे नीम, तुलसी, गुलाब आद‍ि। ऐसे साबुन स्‍क‍िन फ्रैंडली होते हैं और ज्‍यादातर सभी स्‍क‍िन टाइप को सूट करते हैं। नैचुरल साबुन, सेंस‍ेट‍िव स्‍क‍िन को मॉइश्‍चराइज करने का काम करते हैं। 

अगर आपको अपने ल‍िए सही साबुन चुनने या अपनी स्‍क‍िन टाइप चुनने में द‍िक्‍क्‍त होती है तो अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें। 

Read more on Skin Care in Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK