• shareIcon

सांवली त्वचा के लिए देखभाल

त्‍वचा की देखभाल By Bharat Malhotra , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jan 18, 2014
सांवली त्वचा के लिए देखभाल

सांवली त्वचा की देखभाल के लिए नियमित रुप से त्वचा की क्लीजिंग, टोनिंग और मॉश्चरराइजर करना ना भूलें। इससे त्वचा की सफाई होती रहेगी और त्वचा की चमक भी कम नहीं होगी। 

आपकी त्‍वचा में मौजूद मेलानिन का स्‍तर ही उसकी रंगत निर्धारित करता है। त्‍वचा में मेलानिन जितना ज्‍यादा होगा, रंग उतना ही गहरा होगा। वैज्ञानिक त्‍वचा की रंगत के पीछे प्रव्रजन और माहौल में ढलने को भी एक कारण मानते हैं।

dark skin careसांवली त्‍वचा वाले लोगों में सूर्य की हानिकारक किरणों से बचने की क्षमता सफेद रंगत वाले लोगों के मुकाबले अधिक होती है। इसके साथ ही उनकी त्‍वचा को नुकसान भी बाकी लोगों की अपेक्षा कम और बाद में होता है। अगर आपकी रंगत भी इसी श्रेणी में आती है, तो त्‍वचा की सही देखभाल आपको जवां और खूबसूरत बनाये रखने में मदद करेगी।


पहला कदम

अपनी त्‍वचा को रोजाना मॉश्‍चराइज करना ना भूलें। काली त्‍वचा आमतौर पर रूखी होती है। पीटर्सबर्ग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है कि ह्यूमेक्‍टेंट्स युक्‍त मॉश्‍चराइजर सांवली त्‍वचा के लोगों के लिए आदर्श होता है। ह्मेक्‍टेंट्स पानी को अवशोषित करता है। इससे आपकी त्‍वचा नरम और कोमल बनी रहती है। अगर आपकी त्‍वचा ऑयली है, तो आपको ऑयल फ्री क्‍लींजर का इस्‍तेमाल करना चाहिए, इससे पोरों में गंदगी जमा नहीं होती।

दूसरा कदम

माश्‍चराइजर बॉडी वॉश से अपनी त्‍वचा को साफ करें। आपके माश्‍चराइजर में ग्‍लीसरिन, यूरिया, हायलूरॉनिक एसिड जैसे तत्‍वों का मिश्रण होना चाहिए। बॉडी वॉश को साफ कपड़े अथवा शॉवर पफ से अपने शरीर पर लगायें। अपने चेहरे को साफ करने के लिए सुबह और शाम अलग क्‍लींजर का इस्‍तेमाल करें। इससे आपके रोमछिद्र साफ रहेंग और त्‍वचा चमकदार और साफ रहेगी।

तीसरा कदम

मृत त्‍वचा को हटाती रहें। रूखापन और चेहरे पर गांठ हो जाना अधिक सांवली त्‍वचा की प्रकृति माना जाता है। इसकी बड़ी वजह मृत त्‍वचा कोशिकायें होती हैं। अगर आपकी त्‍वचा रूखी और पतली है, तो सप्‍ताह में एक बार मृत त्‍वचा कोशिकाओं को जरूर हटायें। तैलीय अथवा मिश्रित त्‍वचा के लिए सप्‍ताह में तीन बार इस प्रक्रिया को करना चाहिए। इसके लिए विशेष रूप से बनी एक्‍फोलिएशन क्रीम अथवा शॉवर खूझा से आपकी त्‍वचा मुलायम बनेगी।

चौथा कदम

अपनी त्‍वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचायें। एसपीएफ 15 या उससे अधिक की सनस्‍क्रीन का इस्‍तेमाल करें। सिर्फ इसलिए कि आपकी त्‍वचा की रंगत गहरी है, इसका अर्थ यह नहीं कि आपको सूर्य की अल्‍ट्रावॉयलेट किरणों से किसी प्रकार का खतरा नहीं है। वास्‍तविकता यह है कि सांवली त्‍वचा पर झुर्रियों का खतरा होता है और इसे भी स्किन कैंसर हो सकता है।

पांचवां कदम

स्‍वस्‍थ खाओ और अपनी त्‍वचा की रंगत बनाये रखो। आपके खानपान की आपकी त्‍वचा पर गहरा असर पड़ता है। रोजाना आठ से दस गिलास पानी जरूर पियें। फलों और सब्जियों का सेवन भी करें। आपके आहार में प्रोटीन युक्‍त खाद्य पदार्थ और साबुत अनाज जरूर होने चाहिए। इससे आपकी त्‍वचा को अंदरूनी निखार मिलेगा, जो बाहर भी नजर आएगा।

ध्‍यान रखें

किसी भी चीज का शॉर्टकट नहीं होता। त्‍वचा की देखभाल भी इसका अपवाद नहीं। माश्‍चराइजर इस्‍तेमाल न करना, सनस्‍क्रीन न लगाना और अपने आहार का खयाल न रखना जैसी 'छोटी-छोटी' चूक आपकी त्‍वचा को बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है। और यही वो बातें हैं जिनका ध्‍यान रखकर आप अपनी त्‍वचा को निखार सकते हैं।

टिप्‍स

  • अगर आपकी त्‍वचा संवेदनशील है, तो ऐसा मॉश्‍चाइजर चुनें, जो आपकी त्‍वचा के लिए मुफीद हो।
  • अपनी त्‍वचा के लिए अलग क्रीम चुनें।
  • रोजाना कम से कम तीस मिनट का व्‍यायाम जरूर करें। इससे आपकी त्‍वचा को फायदा होगा।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK