एग्‍जाम रिजल्‍ट के बाद कैसे करें आगे की तैयारी

Updated at: May 11, 2016
एग्‍जाम रिजल्‍ट के बाद कैसे करें आगे की तैयारी

बारहवीं की बोर्ड परीक्षा समाप्त हो चुकी हैं और इसके परिणाम भी आचुके हैं। लेकिन छात्रों के बीच एक बड़ा प्रश्न ये होता है कि इम्तहान के परिणामों के बाद आगे की रणनिती भला कैसे बनाई जाए? तो चलिये आज इस प्रश्न का उत्तर देते हैं।

Rahul Sharma
मानसिक स्‍वास्‍थ्‍यWritten by: Rahul SharmaPublished at: May 11, 2016

बारहवीं की बोर्ड परीक्षा समाप्त हो चुकी हैं और इसके परिणाम भी आचुके हैं। छात्रों ने कड़ी मेहनत और तनाव का सामना करते हुए इसे पार किया और अपनी मेहनत के हिसाब से अंक भी पाए। लेकिन जंग यहां खत्म नहीं होती है, क्योंकि बारहवीं पास करते ही प्रतियोगी परीक्षाओं का लक्ष्य सामना खड़ा होता है। और कई प्रतियोगी परीक्षाओं की आवेदन प्रक्रिया शुरू हो जाती है, जिनके लिए बारहवीं पास विद्यार्थी ही नहीं बल्कि बारहवीं परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्र भी आवेदन कर सकते हैं। लेकिन छात्रों के बीच एक बड़ा प्रश्न ये होता है कि इम्तहान के परिणामों के बाद आगे की रणनिती भला कैसे बनाई जाए? तो चलिये आज इस प्रश्न का सुलभ उत्तर बताते हैं।  

 

हम आपको कुछ ऐसी परीक्षाओं के बारे में भी बता रहे हैं, जिनके लिए किसी भी स्ट्रीम के विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं, जबकि कुछ ऐसी परीक्षाओं के बारे में भी बताएंगे जिनके लिये खास स्ट्रीम के विद्यार्थी ही आवेदन कर सकते हैं। जिन परीक्षाओं के लिए किसी भी स्ट्रीम के विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं, उनमें - नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी (एनसीएचएमएटी) जेइइ परीक्षा तथा कॉमन लॉ एंट्रेंस टेस्ट (क्लैट) की परीक्षाएं प्रमुख हैं और इन परिक्षाओं को पास करने के लिये किस प्रकार से रणनिति बनाई जाए।  

 

Future After Exam Results in Hindi

 

सफलता के लिये कैसे बनाएं सही रणनीति

  • किसी भी परीक्षा में सफलता का एक ही मंत्र है और वो है, "कड़ी मेहनत और सही तैयारी"। इसके लिये सबसे पहले अपनी परीक्षा को ठीक से जानें। आपको अपने द्वारा आवेदन दी हुई परीक्षा के प्रारूप को पूरी तरह से समझना होगा और फिर उसके हिसाब से ही खुद की क्षमता का आकलन करना होगा। इसके लिए आप पुराने प्रश्नपत्रों को हल कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपको जरूरत होती है खुद को जानने की। परीक्षा कोई भी हो, अपनी क्षमताओं की परख सबसे जरूरी होती है। परीक्षा से पहले खुद की अभिरुचियों, मजबूत बातों आदि को जानना बेहद जरूरी है।
  • अपरोक्त दोनों बिंदुओं का यदि आपने सही से अनुसरण कर लिया तो तो ऐपको अपनी परीक्षा की तैयारी में कोई खास बड़ी परेशानी नहीं होगी।


हर विषय की करें पूरी तैयारी

वस्तुनिष्ठ परीक्षा की तैयारी के लिए गति और सटीकता दोनों की प्रेक्टिस करें। साथ ही अपने पढ़ने की गति को बढ़ाएंगे तो कम समय में बेहतर तैयारी कर पाएंगे। इन परीक्षाओं में जीके बेहद खास होती है। तो यह जानने के कोशिश करें कि जीके के किस भाग में आपकी पकड़ कमजोर हो रही है और फिर उसे मजबूत करें। अंग्रेजी पर भी ध्यान दें, देखिये अंग्रेजी की औसत समझ वाले विद्यार्थी 25 से 30 प्रश्नों को आसानी से हल कर सकते हैं। पर अच्छे अंक लाने के लिए आपको केवल 20 कठिन प्रश्नों की तैयारी पर ध्यान केंद्रित करना होगा।

 

इसके अलावा और लीगल एप्टीट्यूड की अच्छी तैयारी कर इससे बोनस मार्क्‍स प्राप्त कर सकते हैं। मैथ्स से अकसर बच्चे घबराते हैं लेकिन इस सेक्शन में जिसका बेसिक्स अच्छा होता है, उन्हें स्कोर करने में खास परेशानी नहीं होती है। इसे बेहतर करने के लिए पुराने प्रश्नपत्रों को हल करें और उससे अंदाज़ा सैट कर तैयारी करें। इन परिक्षाओं के लिये लॉजिकल रीजनिंग की तैयारी भी ट्रिकी तरीके से करें और अलग-अलग पैटर्न पर आधारित समस्याओं को एनालिटिकल तरीके से हल करने का अभ्यास करें। आज ज़रूर सफल होंगे, हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।



Image Source - Getty

Read More Article On Mental Health In Hindi.

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK