• shareIcon

अपने घर को कैसे बनाएं 'पॉल्‍यूशन फ्री', जानें ये 5 आसान उपाय

तन मन By अतुल मोदी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Nov 18, 2019
अपने घर को कैसे बनाएं 'पॉल्‍यूशन फ्री', जानें ये 5 आसान उपाय

वायु प्रदूषण एक गंभीर समस्‍या है। यह कई जानलेवा रोगों का कारण बन सकता है। अपने घर को प्रदूषण मुक्‍त रखने के लिए आप कुछ उपाय अपना सकते हैं।

दिल्‍ली-एनसीआर समेत देश के ज्‍यादातर हिस्‍सों में वायु प्रदूषण अपने चरम पर है। ये प्रदूषण न सिर्फ सड़कों पर है बल्कि लोगों के घर में भी पहुंच चुका है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के अनुसार, एयर पॉल्‍यूशन कई जानलेवा बीमारियों का कारण भी बन रहा है, जिनमें फेफड़ों का कैंसर, सीओपीडी, हृदय रोग के अलावा न्‍यूरोलॉजिक प्रभाव के साथ प्रजनन तंत्र पर भी गंभीर प्रभाव पड़ता है। प्रदूषण से बचने के लिए लोग मास्‍क और एयर प्‍यूरीफायर का धड़ल्‍ले से उपयोग कर रहे हैं। लेकिन इसका प्रयोग आप ज्‍यादा समय तक नहीं कर सकते हैं। इसके लिए आपको कुछ प्राकृतिक उपायों की ओर रूख करने की जरूरत है।  

अगर आप भी पॉल्‍यूशन से से परेशान हैं तो इसकी शुरूआत सबसे पहले अपने घर से करने की जरूरत है। इसके लिए यहां हम आपको 5 जरूरी उपाय के बारे में बता रहे हैं जो आपके घर को पॉल्‍यूशन फ्री बनाने में आपकी मदद करेंगे। 

वेंटीलेशन 

सुनिश्चित करें कि आप घर में वेंटीलेशन (हवादार) की समुचित व्‍यवस्‍था हो। घर का पूरी तरह से पैक रहना भी सही नहीं होता है। इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप अपनी खिड़कियों को हर समय बंद नहीं रखेंगे। इससे घर के अंदर की खराब हवा बाहर निकलेगी। जिस तरह से आपके शरीर को ऑक्सीजन की जरूरत होती है और कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ते हैं, उसी तरह, आपके घर को रसायनों से भरी हवा को छोड़ने की जरूरत है।

plant

घर में पौधे लगाएं

घर के अंदर अलग-अलग वजहों से उत्‍पन्‍न होने वाले केमिकल फेफड़ों को नुकसान पहुचाते हैं। शुद्ध हवा के लिए हाउसप्लांट का होना बहुत जरूरी है। अगर आपकी खुली छत है तो वहां भी प्‍लांटेशन कर सकते हैं। इसके अलावा तुलसी, एलोवेरा समेत कई ऐसे पौधे हैं, जिन्‍हें आप घर के अंदर लगा सकते हैं। इन सभी पौधों को प्रत्यक्ष रूप से सूर्य के प्रकाश की आवश्यकता नहीं होती है, इसलिए उन्हें बनाए रखने में परेशानी नहीं होगी।

साल्‍ट लैंप 

हिमालय सेंधा नमक से बने लैंप को साल्‍ट लैंप कहते हैं। इसके कई कारणों से लोग अपने घरों में रखते हैं। नमक के क्रिस्टल हवा से जल वाष्प को अवशोषित करने में मदद करते हैं। यह आपके घर में सांस लेने वाली हवा से वायुजनित अड़चन, रोगजनकों और एलर्जी की सामग्री को कम करने में मदद करता है। अपने कमरे या अपने डेस्क में लैंप को लगाने से आपके घर को एक ठाठ देखने को मिलेगा, बल्कि यह आपको हवा की बेहतर गुणवत्ता प्रदान करेगा। 

इसे भी पढ़ें: क्‍या शुद्ध हवा का स्‍थाई विकल्‍प है एयर प्‍यूरीफायर, एक्‍सपर्ट से जानें इसके पीछे की सच्‍चाई

एक्टिवेटेड चारकोल 

सक्रिय कार्बन की गंधहीन, अत्यधिक अवशोषित गुणवत्ता हवा से अशुद्धियों को अवशोषित करने में मदद करती है। इसे आपके रहने की जगह में हवा को शुद्ध करने में मदद करता है। जो वास्तव में आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा होगा। आप अपने आस-पास की हवा को शुद्ध करने के लिए कमरे में बांस का कोयला (Bamboo Charcoal) रखने पर भी विचार कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: हृदय रोगियों के लिए क्‍यों खतरनाक है एयर पॉल्यूशन? कॉर्डियोलॉजिस्‍ट से जानें इससे होने वाले खतरे

ऐसेंशियल ऑयल 

जब आप अपने कमरे में ऐसेंशियल ऑयल डालते हैं, तो कोई वायरस, कवक, बैक्टीरिया आपके कमरे से दूर हो जाते हैं। इसमें दालचीनी, अजवायन, मेंहदी, अजवायन के फूल, अंगूर, नींबू, लौंग, चाय के पेड़ और अन्य औषधियों के तेल शामिल हैं। शोध के अनुसार, ये तेल 99.96% वायुजनित जीवाणुओं को मार सकते हैं। तो, क्या आप इस बदलाव को अपने घर में लाने से रोक रहे हैं?

निष्कर्ष

हालांकि, एयर प्यूरीफायर बेहत हो सकता है, लेकिन बेहतर वायु और बेहतर स्वास्थ्य के लिए इन मामूली बदलावों से आप शुरुआत कर सकते हैं। यह वह समय है जब आप सुरक्षित घर की ओर कदम बढ़ाते हैं जो आपको ताजी हवा में सांस लेने में मदद करता है। 

Read More Articles On Mind Body In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK