इम्यूनिटी बूस्टर है गाय या भैंस का पहला दूध, रुजुता दिवेकर से जानें खरवस से बनने वाली हेल्दी रेसिपी और फायदे

Updated at: Sep 25, 2020
इम्यूनिटी बूस्टर है गाय या भैंस का पहला दूध, रुजुता दिवेकर से जानें खरवस से बनने वाली हेल्दी रेसिपी और फायदे

खरवस शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। ये शरीर में न सिर्फ इम्यूनिटी को मजबूत बनाता है बल्कि मांसपेशियों का निर्माण और वजन घटाने में भी मदद करता है।

 
Pallavi Kumari
स्वस्थ आहारWritten by: Pallavi KumariPublished at: Sep 25, 2020

मां का पहला दूध जिस तरह से बच्चे के लिए पोषण से भरपूर होता है, ठीक उसी तरह से गाय या भैंस के पहले दूध में भी कुछ ऐसे एंटीबॉडीज होते हैं, जो कि आपका इम्यूनिटी बिल्डअप कर सकता है। जी हां, चौंकिए नहीं क्योंकि ये हम नहीं बल्कि सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर बता रही हैं। दरअसल गाय या भैंस के पहले दूध को बोवाइन कोलोस्ट्रम (Bovine colostrum) कहा जाता है। इसमें कुछ माइक्रो न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं, जो शरीर को कॉमन फ्लू और इंफेक्शन से बचने में मदद करता है। वहीं स्वास्थ्य के लिए इसके कई और लाभ भी सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर हाल ही में इससे बनने वाली रेसिपी और इसके फायदों को अपने इंस्टाग्राम पर शेयर किए है। तो आइए सबसे पहले जानते हैं क्या होता है बोवाइन कोलोस्ट्रम (Bovine colostrum),फिर रुजुता दिवेकर की रेसिपी और फिर इसे खाने के फायदे।

insidekharvas

क्यों खास है गाय या भैंस का पहला दूध (Bovine colostrum)?

गोजातीय कोलोस्ट्रम एक दूधिया तरल पदार्थ है, जो बच्चे को जन्म देने के बाद गायों और भैंसों के स्तनों से आता है। ये बहुत गाढ़ा और हल्का पीला रंग दूध होता है। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, विटामिन, खनिज और विशिष्ट प्रकार के प्रोटीन होते हैं जिन्हें एंटीबॉडी कहा जाता है। ये कोलोस्ट्रम बैक्टीरिया और वायरस जैसे रोग पैदा करने वाले एजेंटों से लड़ते हैं। गोजातीय कोलोस्ट्रम में एंटीबॉडी का स्तर नियमित गाय के दूध में स्तरों की तुलना में 100 गुना अधिक हो सकता है।

insidecowanditsfirstmilk 

इसे भी पढ़ें :  रेनबो डाइट अपनाकर आप रह सकते हैं स्वस्थ, सेहतमंद और जी सकते हैं लंबी जिंदगी, जानें क्यों खास है ये डाइट?

कोलोस्ट्रम बरी बनाने की रेसिपी (first milk of cow recipe)

भारत के कुछ हिस्सों में इसे खरवस भी कहा जाता है। इस खरवस से विभिन्न रेसिपी तैयार की जाती हैं। रुजुता दिवेकर ने ऐसी ही एक रेसिपी शेयर की है, जिसमें इस दूध से उन्होंने बरी बनाया है।  इसे बनाने के लिए उन्होंने रेसिपी भी शेयर की हैं, जिस पर आप भी एक नजर डाल लीजिए। 

सामग्री

  • -गाय / भैंस की डिलीवरी के बाद पहला दूध लें
  • -1.5-2 कप नॉर्मल दूध लें
  • -1 कप चीनी
  • -केसर / जायफल / इलायची पाउडर या अपने स्वाद के आधार पर तीनों का मिश्रण बना लें।
  • -चीनी की जगह गुड़ का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

तरीका

  • -सभी सामग्री को एक साथ अच्छे से मिला लें। 
  • -फिर इसे प्रेशर कुकर में तीन सीटी लगा लें और टुकड़ों में काट लें।
  • -आप चाहें तो इसे हल्का फ्राई भी कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : नाश्ते में शामिल करें फलों के ये 5 कॉम्बिनेशन, इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ आपकी खूबसूरती में भी लगाएंगे चार चांद

कोलोस्ट्रम बरी खाने के स्वास्थ्य लाभ  (Cow kharvas Health Benefits)

एथलीट कोलोस्ट्रम फैट बर्न करने, मांसपेशियों का निर्माण, सहनशक्ति और अपने एथलेटिक प्रदर्शन में सुधार करने के लिए इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा ये  गोजातीय कोलोस्ट्रम भी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने, चोटों को ठीक करने, तंत्रिका तंत्र की क्षति की मरम्मत और मूड में सुधार करने में मदद करता है। इसके साथ ही इसके कई और फायदे भी हैं। जैसे कि

  • -कोलोस्ट्रम को इंसुलिन के विकास में मदद करता है। रुजुता दिवेकर के अनुसार, कोलोस्ट्रम मधुमेह और अस्थमा से निपटने में भी मदद करता है।
  • -कोलोस्ट्रम को मैक्रोन्यूट्रिएंट्स, खनिज और विटामिन का एक समृद्ध स्रोत कहा जाता है।
  • - यह वयस्कों में कोशिकाओं के निर्माण में भी मदद करता है।
  • - यह वसा को जलाने में मदद करता है और स्ट्रेचिंक के निशान को भी कम करता है।

बता दें कि ये कोलोस्ट्रम या खरवस  आंत के बैक्टीरिया के विकास को बनाए रखने के लिए प्रोबायोटिक और प्रीबायोटिक दोनों के रूप में काम करता है। यहा आंत्र सिंड्रोम को रोकने और कम करने में भी मददगार हो सकता है। यह एलर्जी से निपटने के लिए भी काफी प्रभावी है। इस तरह ये शरीर के लिए हर तरह से फायदेमंद है।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK