World First Aid Day 2020: इन 5 गंभीर स्थितियों में ऐसे करें प्राथमिक उपचार, जानें जीवन के लिए क्यों है जरूरी

Updated at: Sep 08, 2020
World First Aid Day 2020: इन 5 गंभीर स्थितियों में ऐसे करें प्राथमिक उपचार, जानें जीवन के लिए क्यों है जरूरी

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस (World First Aid Day) के मौके पर जानते हैं कि इन 5 गंभीर स्थितियों में कैसे करें प्राथमिक उपचार।

Vishal Singh
विविधWritten by: Vishal SinghPublished at: Sep 08, 2020

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस (World First Aid Day) हर साल सितंबर के दूसरे शनिवार को मनाया जाता है, इस दिवस का लक्ष्य है कि लोगों को प्राथमिक चिकित्सा के बारे में जागरूक किया जा सके। यानी शुरुआती इलाज की मदद से कैसे किसी की जान बचाई जा सकती है। ये आपको मामूली संकट से गुजरने में मदद कर सकता है, कम से कम जब तक आपको कोई चिकित्सक उपचार नहीं मिलता। ये हर किसी के लिए जरूरी होता है चाहे वो बच्चा हो, जवान हो या कोई बुजुर्ग। विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस के इस खास मौके पर जानते हैं कि प्राथमिक चिकित्सा की मूल प्रक्रिया क्या है। 

आपको बता दें कि प्राथमिक चिकित्सा (First Aid) का लक्ष्य किसी के भी जान की रक्षा करना और स्थिति को गंभीर बनाने से बचाना है। इसके जरिए आप किसी भी आपदा या आपात स्थिति में यहां तक कि आम लोग भी मदद कर सकते हैं और प्राथमिक इलाज प्रदान करके किसी की जान बचाई जा सकती है। 

first aid day

कार्डिएक अरेस्ट के लिए प्राथमिक चिकित्सा

कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन (CPR) दिल की गंभीर स्थिति के लिए ये सबसे महत्वपूर्ण चिकित्सा प्रक्रिया है। अगर कोई व्यक्ति कार्डिएक अरेस्ट में है (हृदय अब रक्त पंप नहीं कर रहा है) तो आपको शुरुआती इलाज के तौर पर उन्हें तुरंत सीपीआर यानी कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन देना चाहिए। अगर मरीज की इस गंभीर स्थिति में सीपीआर नहीं किया जाता है, तो वह व्यक्ति मर जाएगा। 

कैसे करें

कार्डिएक अरेस्ट की स्थिति में आप तुरंत मरीज की छाती को संकुचित करना शुरू करें। छाती के केंद्र में कठोर और तेज संपीड़ित करें, जिससे संकुचन के बीच पुनरावृत्ति हो सकती है। 

ब्लीडिंग के लिए प्राथमिक चिकित्सा

किसी भी कारण से रक्तस्राव होने पर आप प्राथमिक चिकित्सा की मदद से नियंत्रित कर सकते हैं। हल्के रक्तस्राव आमतौर पर अपने आप बंद हो जाते हैं। अगर गंभीर रक्तस्राव को नियंत्रित नहीं किया जाता है, तो इससे झटका लग सकता है और इससे कारण पीड़ित की मृत्यु भी हो सकती है। 

कैसे करें

  • किसी भी तरह के घाव या चोट कपड़े से ढक दें।
  • रक्त प्रवाह को रोकने के लिए प्रत्यक्ष दबाव लागू करें।
  • जब तक आपको चिकित्सक मदद न मिले आपको तब तक कपड़ा नहीं हटाना। 
  • बहुत ज्यादा रक्तप्रवाह की स्थिति में आप कपड़े की लेयर बना सकते हैं। 

first aid day

इसे भी पढ़ें: मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य का भी होता है प्राथमिक उपचार, जानें कब और किसे होती है इसकी जरूरत

जलने की स्थिति में प्राथमिक चिकित्सा

जलने की स्थिति में आपको सबसे पहले जलने की प्रक्रिया को रोकना चाहिए। कोई फर्क नहीं पड़ता कि जलने का कारण क्या था या वे कितने बुरे हैं, जलने को रोकने से पहले जलने का इलाज किया जाता है। त्वचा के जलने पर आपको तुरंत अपनी त्वचा या प्रभावित हिस्से को बहते पानी के साथ रखना है। ऐसा कर आप त्वचा पर जलने के कारण पड़ने वाले छाले को रोका जा सकता है। 

कैसे करें

  • कुछ मिनट तक चलने वाले पानी के साथ जला हुआ हिस्सा को फ्लश करें। 
  • प्रभावित हिस्से पर आप बर्फ का इस्तेमाल न करें। 
  • जले पर मलहम, मक्खन, या तैलीय इलाज न करें।
  • अगर जरूरत हो तो दर्द से राहत के लिए इबुप्रोफेन या एसिटामिनोफेन लें।
  • फफोले बन जाने पर उन्हें फोड़ें नहीं। 

फ्रैक्चर के लिए प्राथमिक चिकित्सा

किसी भी हड्डी की चोट लगने पर जब तक आपके पास या डॉक्टर के पास एक्स-रे नहीं आ जाते, तब तक इसका इलाज एक फ्रैक्चर की तरह ही किया जाता है। अगर एक्स-रे में हड्डी में फ्रैक्चर सामने आता है तो इसका तुरंत इलाज जरूरी है। 

कैसे करें

  • प्रभावित हिस्से को सीधा करने की कोशिश न करें।
  • स्थिर रखने के लिए एक स्प्लिंट और पैडिंग का इस्तेमाल करें। 
  • चोट पर ठंडा पैक लगाएं, बर्फ को सीधे त्वचा पर न लगाएं। 
  • इबुप्रोफेन या नेपरोक्सन जैसी दवाओं दें।

नाक से खून के लिए प्राथमिक चिकित्सा

नाक से खून का निकलना ज्यादातर लोगों के लिए एक आम होता है। लेकिन अगर इसे नजरअंदाज किया जाए तो ये गंभीर भी हो सकता है। इसका सीधा मतलब है कि आघात के कारण नाक के अंदर से खून आना। इसलिए जरूरी है कि तुरंत इस नकसरी को रोका जाए। 

इसे भी पढ़ें: प्राथमिक चिकित्सा किट में क्या चीज़ें रखना है जरूरी

कैस करें

  • थोड़ा आगे की ओर झुकें। 
  • नाक को ऊपर तरफ से दबाएं।
  • कुछ मिनट के बाद जांचें कि क्या रक्तस्राव बंद हुआ या नहीं। 
  • नाक के पुल पर कोल्ड पैक का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। 

 

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK