प्याज को पकाने का आपका तरीका हो सकता है गलत, जानें प्याज को पकाने का सही तरीका और पाएं सभी स्वास्थ्य लाभ

Updated at: Jun 25, 2020
प्याज को पकाने का आपका तरीका हो सकता है गलत, जानें प्याज को पकाने का सही तरीका और पाएं सभी स्वास्थ्य लाभ

प्याज को पकाने का सही तरीका जानकर आप अपने खाने को और हेल्दी बना सकते हैं। तो आइए जानते हैं पकाते समय प्याज के पोषक तत्वों को कैसे बचाया जाए। 

Pallavi Kumari
स्वस्थ आहारWritten by: Pallavi KumariPublished at: Jun 25, 2020

प्याज विटामिन और खनिजों से भरा हुआ है और कम कैलोरी वाला है। एक मध्यम प्याज में सिर्फ 44 कैलोरी होती है लेकिन यह विटामिन, खनिज और फाइबर की काफी खुराक देता है। वहीं ये सभी व्यंजनों की रीढ़ है और इसके बिना बहुत से व्यंजनों की आप कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। लेकिन प्याज को पकाने का तरीके ये तय करता है कि आपको ये पोषक तत्व मिल पाएंगे भी या नहीं। दरअसल बहुत से लोगों को प्याज पकाने का सही तरीका नहीं पता होता है। प्याज लगभग हमेशा किसी न किसी फैटी ऑयल में पकाया जाता है और उसे इसमें पूरी तरह से भून दिया जाता है, जिससे इसके सारे पोषक तत्व मर जाते हैं। तो आज हम आपको प्याज को पकाने का सही तरीका बताएंगे और जानेंगे कि इसके ज्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य लाभ कैसे लिए जाएं।

insideonions

प्याज को पकाने का सही तरीका (How To Cook Onions)

तेज आंच पर कभी प्याज न पकाएं

तेज आंच पर प्याज पकाने से इसके पोषक तत्व एक दम से खत्म हो जाते हैं। इसलिए पहले पैन को गर्म करें और प्याज डालें। सुनिश्चित करें कि आपने एक फ्राइंग पैन बहुत पतला न हो जो इसे जला दे। एक मध्यम आंच पर पैन की हल्की ऑयलिंग करें फिर अपने प्याज को एक चुटकी नमक के साथ मिलाएं।

प्याज को नमक डाल कर उसके भांप के साथ पकाएं

प्याज को नमक के साथ पकाने के तरीके को नमक से भांप आना या पानी निकालना कह सकते हैं। आमतौर पर नमक से बहुत जल्दी पानी निकल आता है। इस तरह वो आसानी से भूरे रंग के होकर पक जाएंगे। गर्मी और नमक प्याज से नमी को बाहर निकाल देंगे, इस प्रकार आप उनमें बिना अतिरिक्त तेल डालें पका सकते हैं। प्याज भी चमकना शुरू हो जाएगा और गीला दिखाई देगा। तब आप इसमें बाकी मसाले आदि डास लें।

प्याज को कभी भी पूरा न पकाएं

प्याज को पूरा नहीं अधपका रखना चाहिए। ताकि खाने में स्वाद के साथ आपको फायदा भी पहुंचे। अगर आप प्याज को कुछ और मिनटों के लिए पकाते हैं, तो वो नमी युक्त हो जाते हैं। पर अगर प्याज ज्यादा पकाए जाए तो ये नमी वाष्पीकृत हो जाएगी और प्याज आगे विलीन हो जाएगा। आंच को मध्यम रखें और समायोजित करें ताकि प्याज पक जाए, लेकिन फिर से, उन्हें भूरा न होने दें। कुछ और मिनटों में, प्याज कुछ रंग लेना शुरू कर देगा। वे किनारों के आसपास थोड़ा सुनहरा हो जाएगा और थोड़ा कारमेल जैसी सुगंध शुरू कर देगा।

insidecookingonions

इसे भी पढ़ें : Onion Tea For BP : रोजाना 1 कप प्‍याज की चाय कर सकती है आपके हाई ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोल, जानें बनाने का तरीका

इस तरह से प्याज पकाने के फायदे

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है इस तरह से पका हुआ प्याज खाना

प्याज में एंटीऑक्सिडेंट और यौगिक होते हैं, जो सूजन से लड़ते हैं, ट्राइग्लिसराइड्स को कम करके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हैं। इस तरह ये सभी दिल के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है।साथ ही इसके शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण उच्च रक्तचाप को कम करने और रक्त के थक्कों से बचाने में मदद कर सकते हैं।

हाई ब्लड प्रेशर को करता है कंट्रोल

प्याज के पानी में क्वेरसेटिन नामक एक फ्लेवोनॉइड एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो उच्च रक्तचाप को कम करके हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं। उच्च रक्तचाप वाले लोगों के एक अध्ययन में पाया गया कि क्वेरसेटिन युक्त प्याज के 162 मिलीग्राम प्रति दिन की खुराक ने सिस्टोलिक रक्तचाप को प्लेसीबो की तुलना में 3-6 mmHg तक कम कर दिया।

इसे भी पढ़ें : फेफड़ों में जमा गंदगी और बलगम को बाहर निकाल देगा 4 चीजों (प्याज, हल्दी, अदरक, शहद) से बना ये खास काढ़ा

एंटीऑक्सिडेंट से है भरपूर

एंटीऑक्सिडेंट यौगिक होते हैं जो ऑक्सीकरण को रोकते हैं। ऑक्सीकरण वो प्रक्रिया है, जो सेलुलर क्षति की ओर ले जाती है और कैंसर, मधुमेह और हृदय रोग जैसी बीमारियों में योगदान करती है। प्याज एंटीऑक्सिडेंट का एक उत्कृष्ट स्रोत हैं। वास्तव में, उनमें फ्लेवोनोइड एंटीऑक्सिडेंट्स की 25 से अधिक विभिन्न किस्में होती हैं। इस तरह प्याज को सही ढ़ंग से पका कर खाना आपको कई तरह की बीमारियों से बचाए रख सकता है।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK