World Mental Health Day: मेंटल हेल्‍थ को बेहतर के लिए जीवनशैली में करें ये 5 बदलाव, मानसिक रोगों से मिलेगा छुटकारा

Updated at: Oct 09, 2019
World Mental Health Day: मेंटल हेल्‍थ को बेहतर के लिए जीवनशैली में करें ये 5 बदलाव, मानसिक रोगों से मिलेगा छुटकारा

Mental Health Tips: एक छोटा सा बदलाव वास्तव में आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। यहां कुछ छोटे-छोटे बदलाव दिए गए हैं, जिन्‍हें अपनाकर आप मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर

Atul Modi
अन्य़ बीमारियांWritten by: Atul ModiPublished at: Aug 12, 2019

Mental Health Tips: जीवनशैली की अच्छी आदतों को अपनाने से आप मानसिक रूप से बेहतर महसूस कर सकते हैं। अध्ययन और विशेषज्ञों के अनुसार खाद्य पदार्थ जो पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, वे आपके स्वास्थ्य को बनाए रखने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ऐसे छोटे-छोटे बदलाव हैं जिसके माध्‍यम से आप अपने मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बना सकते हैं। इसके अलावा भविष्‍य में होने वाली गंभीर बीमारियों जैसे- अल्‍जाइमर, डिमेंशिया, डिप्रेशन, एंग्‍जाइटी आदि से बचा जा सकता है।   

कनाडाई मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित एक 2019 के अध्ययन में पाया गया कि शराब का सेवन कम करने से महिलाओं में मानसिक स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है। हांगकांग विश्वविद्यालय में स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के शोधकर्ताओं ने संयुक्त राज्य अमेरिका और हांगकांग के 40,000 से अधिक लोगों का अध्ययन किया। जिन लोगों ने कभी शराब नहीं पी थी, उनमें मानसिक स्तर का उच्चतम स्तर था, जबकि अध्ययन के दौरान शराब पीना छोड़ने वाली महिलाओं के मानसिक स्वास्थ्य में सुधार देखा गया।

यदि आप पूरी तरह से शराब नहीं छोड़ना चाहते हैं तो इसके सेवन को सीमित करने जैसा एक छोटा सा बदलाव वास्तव में आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा भी यहां छोटे-छोटे बदलाव दिए गए हैं, जिन्‍हें अपनाकर आप मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं।

mental-health

मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य में कैसे लाएं सुधार- How To Boost Your Mental Health

पार्क या पेड़-पौधों के बीच बिताएं समय 

कई शोधकर्ताओं ने प्रकृति में समय बिताने से जुड़े स्वास्थ्य लाभों पर ध्यान दिया है। एक अध्‍ययन के मुताबिक, प्रकृति के बीच सप्ताह में सिर्फ दो घंटे बिताने से आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पर अच्‍छा प्रभाव देखने को मिल सकता है। प्रकृति के साथ दैनिक संपर्क तनाव की भावनाओं को कम करने में मदद कर सकता है। 

सोशल मीडिया और स्‍मार्ट फोन के लिए समय निर्धारित करें

स्मार्टफोन के बिना जीना असंभव सा लगने लगा है। लेकिन ईमेल और सोशल मीडिया के नोटिफिकेशन न केवल विचलित कर रही हैं, बल्कि वे आपके तनाव के स्तर को भी बढ़ा रही हैं। शोध में पाया गया है कि लगातार सोशल मीडिया का उपयोग खराब मानसिक स्वास्थ्य में योगदान देता है, खासकर युवा वयस्कों में। आपको पूरी तरह से प्रौद्योगिकी या सोशल मीडिया को छोड़ने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन इसके लिए एक समय निर्धारित करने की जरूरत है।

morning-walk 

7 से 9 घंटे की नींद जरूरी 

वैज्ञानिक मानते हैं कि, नींद की कमी मस्तिष्क के सभी कार्यों को प्रभावित कर सकती है। यह ध्यान और आपकी स्पष्ट रूप से सोचने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है। यह आपके मूड और व्यवहार को भी प्रभावित कर सकता है।  अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त नींद लेना महत्वपूर्ण है। आप हर रात अच्छी नींद लेने के लिए लगभग सात से नौ घंटे सोना जरूरी है।

इसे भी पढें: अल्जाइमर (भूलने की बीमारी) से बचने के लिए सुधारें मस्तिष्‍क की सेहत, पढ़ें एक्‍सपर्ट की सलाह

मेडिटेशन से अपने स्‍ट्रेस को करें कंट्रोल 

तनाव से इंफ्लामेशन की समस्‍या हो सकती है, जो अवसाद, चिंता और हार्मोन असंतुलन जैसे स्वास्थ्य के मुद्दों को जन्म दे सकती है। तनाव से निपटने का एक तरीका ध्यान और मन की साधना करना है। नियमित और सुसंगत रूप से इसका अभ्यास करने से सीखने और याददाश्‍त बढ़ाने में मदद मिल सकती है। मेडिटेशन आपकी एकाग्रता, मनोदशा और चिंता का प्रबंधन कर सकता है। 

इसे भी पढें: डिमेंशिया और अन्‍य मानसिक रोगों में फायदेमंद हैं ये 5 फूड, बढ़ती है याददाश्‍त

खानपान को सीमित करने से बचें

वैज्ञानिकों का मानना है कि, खुद को खानपान से जुड़े मुद्दों को लेकर सीमित दायरा न बनाएं। सबकुछ खाएं लेकिन कम खाएं। अपनी डाइट को हेल्‍दी रखें। रोजाना ब्रेकफास्‍ट करें, जिसमें नट्स, फ्रूट्स और अन्‍य पोषक युक्‍त चीजों को शामिल करें। अल्‍जाइमर के शुरूआती लक्षण और बचाव

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK