• shareIcon

पीलिंग की समस्या हाने पर कैसे करें उपचार

फैशन और सौंदर्य By Anubha Tripathi , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jun 11, 2013
पीलिंग की समस्या हाने पर कैसे करें उपचार

Stop Peeling in Hindi - पीलिंग एक सामान्य प्रक्रिया है, इसके कई कारण हो सकते है। पीलिंग के कई कारण हो सकते हैं जैसे सनबर्न, एक्जिमा, सराइअसिस व रुखी त्वचा। इन सभी स्थितियों में त्वचा में खुजली व मृत त्वचा की पीलिंग होती है। चलिए त्वचा की पीलिंग के

क्‍या आपकी त्‍वचा की पपड़ी उतर जाती है। क्‍या आपकी त्‍वचा की परत अपने आप ही उतरने लगती है। इसमें घबराने या डरने की कोई बात नहीं है। हमारी त्‍वचा हर 28 दिनों में पीलिंग (त्‍वचा की ऊपरी परत का छिलना या हटना) की प्रक्रिया से गुजरती है। त्‍वचा की पुरानी कोशिकायें मरती हैं और नयी कोशिकायें जन्‍म लेती हैं। लेकिन, यह प्रक्रिया कई बाहरी कारणों से भी हो सकती है। पीलिंग के कई कारण हो सकते हैं जैसे सनबर्न, एक्जिमा, सराइअसिस व रुखी त्वचा। इन सभी स्थितियों में त्वचा में खुजली व मृत त्वचा की पीलिंग होती है। चलिए त्वचा की पीलिंग के कारणों और इसके उपचार के बारे में विस्तार से-  



सनबर्न

बहुत ज्यादा सूर्य की रोशनी में रहने पर त्वचा की ऊपरी परत पर असर पड़ता है। सूर्य की हानिकारक यूवी किरणें त्वचा को क्षतिग्रस्त कर देती हैं, जिससे त्वचा की परत हटने लगती है। शॉवर लेने, सफेद सिरके के प्रयोग से क्षतिग्रस्त त्वचा को ठीक करने में मदद मिलती है।

[इसे भी पढ़ें:कैसे करें त्वचा की देखभाल]

एक्जिमा
एक्जिमा, त्वचा पर होने वाला एक प्रकार का रैशेज है, जो त्वचा में खुजली व पीलिंग पैदा करता है। त्वचा में खुजली व लाल हो जाना इसके मुख्य लक्षण हैं। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपंर्क करना चाहिए।

 


सराइअसिस

यह भी एक प्रकार का त्वचा रोग है जिसमें त्वचा की ऊपरी परत हटने लगती है। इस अवस्था में त्वचा रंग भी फीका पड़ने लगता है। इस अवस्था में डॉक्टर से कंसल्ट कर तुरंत इलाज शुरु करवाएं।   

 


पीलिंग को रोकने के कुछ असरकारी उपायों के बारें में जानें-

मॉश्चराइजर का प्रयोग

अक्सर त्वचा रुखी होने के कारण उसकी ऊपरी परत हटने लगती है। ऐसे में मॉश्चराइजर के प्रयोग से त्वचा नरम व मुलायम बनी रहती है। जिस जगह पर पीलिंग की समस्या हो वहां पर नियमित रुप से एंटीऑक्सीडेंट मॉश्चराइजर के प्रयोग से त्वचा का निर्माण जल्दी होता है।  

[इसे भी पढ़ें: गर्मियों में ऐसे करें मेकअप]

एलोविरा लगाएं

एलोविरा जेल त्वचा के पीलिंग को रोकने में मददगार हो सकता है। एलोविरा के पौधे से निकलने वाले जॅल को दिन में दो बार पीलिंग वाली जगह पर लगायें और कुछ समय बाद साधारण पानी से धो लें। आप चाहें तो एलोविरा का पौधा घर पर भी लगा सकते हैं।
विटामिन ई युक्त तेल का प्रयोग


विटामिन ई

विटामिन ई त्वचा को मॉश्चराइज करने के लिए काफी अच्छा माना जाता है साथ ही यह त्वचा में होने वाली लालिमा व पीलिंग को भी रोकता है। इस विटामिन युक्‍त तेल इस तेल को नियमित रुप से पीलिंग वाली जगह पर हल्के हाथों से रगड़ें और फर्क देखें।

[इसे भी पढ़ें:सौंदर्य निखार के उपाय]

प्राकृतिक उपाय


  • प्राकृतिक ओट्स को स्क्रब के रुप में इस्तेमाल करें। हल्के हाथों से इसे पीलिंग वाली जगह पर लगायें और थोड़ी देर बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • पुदीने की पत्तियों को पीस कर पीलिंग वाली जगह पर लगाएं। इसे त्वचा को ताजगी मिलेगी साथ ही यह त्वचा को पीलिंग से भी बचाएगा।  
  • प्राकृतिक मॉश्चराइजर के लिए पीलिंग वाली जगह पर शहद से मालिश करें। आधे घंटे बाद साफ पानी से धो लें। इसे त्वचा मॉश्चराइजर को अवशोषित कर लेगी और आगे से पीलिंग की समस्या नहीं होगी।

 

इसके अलावा ऑलिव ऑयल, शहद व हल्दी को अच्छे से मिलाएं और इसे पीलिंग वाली जगह पर नियमित रुप से लगाएं। खाने में विटामिन ए,बी,सी युक्त भोजन को शामिल करें। हरी सब्जियों व ताजे फलों के सेवन से पीलिंग की समस्या से निजात मिल सकता है।

 

 

Image Source - Getty

Read More Articles On Beauty In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK