खर्राटों के कारण आपके रिश्तों में भी पड़ रहा है असर, तो इन तरीकों से खर्राटों को करें खत्म

Updated at: Jul 10, 2020
खर्राटों के कारण आपके रिश्तों में भी पड़ रहा है असर, तो इन तरीकों से खर्राटों को करें खत्म

अगर आपका साथा भी रात में सोते हुए खर्राटे भरता है तो जान लें ये आपके रिश्तों को कैसे कर रहा है प्रभावित और क्या है इससे बचने का तरीका।

Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: May 02, 2011

आपका साथी रोजाना सोते हुे खर्राटे भरता है और आप इसे अनदेखा करने की कोशिश करते हैं? इस समस्या से सिर्फ आप ही परेशान नहीं है बल्कि आपकी तरह कई और लोग भी हैं जो अपने साथी के खर्राटों से परेशान रहते हैं। आप पहले सो जाने की कोशिश करते हैं, लेकिन कभी-कभार होने वाला खर्राटें आपको जगा देते हैं, इसलिए आप अपने सिर के ऊपर तकिया रख लें। रातभर खर्राटों के कारण आपकी नींद खराब होती है और आप इस हरकत से गुस्सा करने लगते हैं।

खर्राटों को नजरअंदाज करने के लिए आप इयरप्लग का इस्तेमाल करने की कोशिश करते हैं, लेकिन ये काफी असुविधाजनक होता है। इसके साथ ही आपके रिश्तों पर खर्राटों का बहुत असर पड़ने लगता है जो आपको समझने की जरूरत है।  इन सभी चीजों के अलावा खर्राटे आते क्यों है और इसको खत्म करने का क्या तरीका है ये आपको जानना चाहिए। तो हम आज आपको इस लेख में बताएंगे कि आपको या आपके साथी को खर्राटे के कारण आपके रिश्तों पर कैसे असर पड़ता है साथ ही ये क्यों आते हैं और इससे बचाव क्या है। 

खर्राटे रिश्तों को कैसे प्रभावित करते हैं (How Does Snoring Affect Relationships)

अगर आपका साथी खर्राटे ले रहा है या आप खर्राटे ले रहे हैं, तो चुनौतियों के लिए तैयार रहें। ऐसा इसलिए, क्योंकि नींद जीवन का एक हिस्सा है, इसलिए हमारे पास नींद के व्यवहार के कुछ पैटर्न हैं जिनके साथ हम सहज हैं। लेकिन जब कोई दूसरा व्यक्ति हमारे बिस्तर के वातावरण में कूदता है, तो हम नींद पूरी करने या उनके साथ बिस्तर पर समय बिताने में परेशानी हो सकती है और पूरी तरह से मूड में बदलाव आ सकता है। जब खर्राटे आपके लिए एक गंभीर मुद्दा बन जाते हैं, तो आप यह सोचना शुरू कर सकते हैं कि खर्राटे मेरे मूड, स्वास्थ्य और जीवन को कैसे प्रभावित करते हैं। जैसे:

  • यौन प्रदर्शन में कमी आने लगती है।
  • ऊर्जा की कमी महसूस करना।
  • मूड के तुरंत बदलाव आना।
  • लगातार होने वाला बिस्तर का झगड़ा।

इन सभी परेशानियों को देखते हुए जरूरी होता है कि आप इन खर्राटों को बंद करने का तरीका निकालें जो आपके रिश्तों को पटरी पर ला सकता है। 

इसे भी पढ़ें: नींद पूरी न होने के संकेत हैं शरीर में दिखने वाले ये 7 लक्षण, खतरनाक हैं ये

खर्राटे आने का कारण (Causes Of Snoring In Hindi)

  • जागने के घंटों के दौरान, गले और ऊपरी वायुमार्ग में ऊतक फेफड़ों तक आसान वायु सेवन के लिए खुले होते हैं। जिसके कारण खर्राटे आने लगते हैं। 
  • नींद के दौरान, नरम ऊतक और जीभ आराम करते हैं, और वायुमार्ग को अवरुद्ध कर सकते हैं।
  • अगर वायुमार्ग से अंदर और बाहर आने वाली हवा पर्याप्त प्रतिरोध, कंपन या खर्राटों से मिलती हो।
  • इसके अलावा मोटापा, धूम्रपान, शराब पीना, या बार-बार नाक का जमाव होना, आदतों के खर्राटों का खतरा बढ़ जाता है। 

इसे भी पढ़ें: किसी भी रिश्ते में प्राइवेसी की होती है अपनी जगह, जानें प्यार के संबंधों में कितनी जरूरी है प्राइवेसी

बचाव (Prevention)

  • शराब से परहेज और दवाओं से छेड़खानी बंद करें।
  • नाक की रुकावट से राहत। 
  • नींद की स्थिति बदलना।
  • एक नियंत्रित वजन रखना।
  • ज्यादा मोटापा न बढ़ना।
  • रोजाना करें गले का व्यायाम।
  • धूम्रपान छोड़ना। 
  • अच्छी नींद स्वच्छता प्रथाओं का पालन करें।

Read more articles on Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK