Coronavirus & Food: कोरोनावायरस से बचना है तो नॉनवेज खाना पकाते समय इन बातों रखें खास ख्‍याल

Updated at: Jul 24, 2020
Coronavirus & Food: कोरोनावायरस से बचना है तो नॉनवेज खाना पकाते समय इन बातों रखें खास ख्‍याल

अगर आप नॉनवेजिटेरियन हैं और कोरोना वायरस से बचाव के लिए खानपान के नियम नहीं जाते हैं तो यहां आप डब्‍ल्‍यूएचओं के माध्‍यम से जानकारी दी गई है।

Atul Modi
स्वस्थ आहारWritten by: Atul ModiPublished at: May 13, 2020

कोरोना वायरस के इस दौर में कई बदलाव देखने को मिले हैं। लोगों के रहन-सहन से लेकर खानपान तक में बड़े बदलाव आए हैं। कोरोना संकट से खुद को बचाए रखना बड़ी चुनौती बन गई है। वर्तमान के साथ-साथ भविष्‍य में भी यदि कोरोना का संक्रमण धीमा पड़ जाए तब भी हमें फिजिकल डिस्‍टेंसिंग, हैंडवॉश और मास्‍क लगाना जारी रखना चाहिए। क्‍यों कि ये न सिर्फ कोविड-19 के संक्रमण को रोकेगा बल्कि फ्लू और प्रदूषण से होने वाली बीमारियों से बचाएंगे।

विशेषज्ञों की मानें तो कोरोना वायरस के प्रसार खानपान की वस्‍तुओं से भी फैल रहा है। जिसके लिए विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (डब्‍ल्‍यूएचओ) ने एक नई गाइडलाइन जारी की है। जिसमें खानपान को लेकर कई सावधानियां बरतने की सलाह दी गई है।

coronavirus-in-india

खान को सही तापमान पर रखें 

खानपान की वस्‍तुओं को उसके सही तापमान पर ही रखा जाना चाहिए। इससे उन पर किसी प्रकार के सूक्ष्‍म जीव का हमला नहीं हो पाता है। पके हुए भोजन दो घंटे से ज्‍यादा खुले में न रखें। उसे फ्रिज में रख सकते हैं, जहां वह सुरक्षित रहेगा। जो भोजन जल्‍दी खराब हो जाते हैं उन्‍हें 5 डिग्री तापमान पर फ्रिज में रखना चाहिए। इसके अलावा फ्रिज में अधिक समय तक किसी भी आहार को न रखें।

नॉनवेज को सही तरीके से रखें 

हमेशा कच्‍चे भोजन और पके हुए भोजन को अलग-अलग स्‍थानों पर यानी दूरी बनाकर रखना चाहिए। ऐसा इसलिए जरूरी है क्‍योंकि जैसे कच्‍चा भोजन जैसे- अंडे, मांस, पॉल्‍ट्री उत्‍पाद, सीफूड और मछली पर कई तरह के हानिकारक बैक्‍टीरिया या वायरस हो सकते हैं। इसे पकाते समय दूसरी खाने पीने की चीजें संक्रमित हो सकती हैं। इन खाद्य पदार्थों पर कुछ ऐसे सूक्ष्‍म जीव मौजूद होते हैं जो आपके अच्‍छे खासे ताजे भोजन को खराब कर देते हैं।

इसे भी पढ़ें: लो कैलोरी और 90 % पानी से भरपूर खरबूजा गर्मियों में रखेगा पेट को ठंडा और आपको हाइड्रेट, जानें 5 जबरदस्त फायदे

नॉनवेज को अच्‍छी तरह से पकाएं

खासकर अंडे, पॉल्‍ट्री उत्‍पाद, सीफूड को अच्‍छी तरह से ही पकाकर खाया जाना चाहिए। मांस और पोल्‍ट्री उत्‍पाद तैयार करते समय इस बात का विशेष ध्‍यान रखना चाहिए कि शोरबा गुलाबी न रहे। ऐसा इसलिए जरूरी है क्‍योंकि जब ये अच्‍छी तरह से पकाया जाता है तो सभी सूक्ष्‍म हानिकारक जीव मर जाते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो कम से कम 70 डिग्री तापमान पर खाना पकाना ये सुनिश्चित करता है कि खाना अच्‍छी तरह से पकाया गया है।

इसे भी पढ़ें: गर्मियों में आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं ये 5 तरह के आहार, कब्‍ज से हो सकते हैं परेशान

खुद की साफ-सफाई का दें ध्‍यान

खाना पकाते समय ये ध्‍यान रखना जरूरी है कि आप खुद की स्‍वच्‍छता के प्रति कितने सजग हैं। आप किचन की सतह को साफ रखें। किचन में प्रयोग की जाने वाली वस्‍तुओं मसलन- कपड़े, लाइटर, चूल्‍हा, बर्तन और बर्तन धोने का स्‍थान व टोटी आदि ये सभी साफ हों। खाना बनाने से पहले और हाथ धोना जरूरी है। अपने किचन को कॉकरोच और दूसरे कीड़े मकौड़ों से सुरक्षित करें। ऐसा इसलिए जरूरी है क्‍योंकि ये जीव जन्‍तु किसी भी हानिकारक संक्रमण के वाहक बन सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रेगनेंसी में तरबूज खाने से दूर होती हैं 7 समस्‍याएं, मगर ध्‍यान रखें ये 1 बात

साफ और स्‍वच्‍छ पानी

खाना बनाते समय हमेशा साफ और स्‍वच्‍छ पानी का ही इस्‍तेमाल करें। क्‍योंकि गंदा पानी जलजनित रोगों के संक्रमण का कारण बन सकते हैं। इससे आपका खाना दूषित होता है और बीमारी का कारण बनता है।

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK