एक से दूसरे एक्सरसाइज करने के बीच रेस्ट लेना है जरूरी, जानें एक्सरसाइज के हिसाब से रेस्ट लेने का सही तरीका

Updated at: Aug 20, 2020
एक से दूसरे एक्सरसाइज करने के बीच रेस्ट लेना है जरूरी, जानें एक्सरसाइज के हिसाब से रेस्ट लेने का सही तरीका

जल्दी जल्दी एक्सरसाइज करने का मतलब ये नहीं है कि आपके मसल्स जल्दी से बन जाएंगे। सही ये है कि आप रेस्ट लेकर एक्सरसाइज करें।

Pallavi Kumari
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Pallavi KumariPublished at: Aug 20, 2020

एक्सरसाइज करने को लेकर बहुत सारे लोग जुनून से भरे होते हैं। ऐसे लोग बिना ब्रेक लिए लगातार एक्सरसाइज करते हैं। वो अपने लिए किसी भी दिन को छुट्टी वाला दिन नहीं मानते हैं और ठीक उसी समय पर बिना रूके लगातार एक्सरसाइज करते हैं। कभी कभार आपको ऐसे लोग एक्सरसाइज एडिक्टेड भी लग सकते हैं। यहां तक कि अगर आप इन्हें जिम में देख लें, तो पाएंगे कि ये अपने एक्सरसाइज के एक सेट से दूसरे सेट के बीच में भी आराम नहीं लेते हैं, जो कि अच्छी आदत नहीं है। दरअसल शरीर की कुशलता को देखते हुए और एक्सरसाइज का ज्यादा फायदा लेने के लिए हमें एक एक्सरसाइज करने के बाद थोड़ा रूकना चाहिए और फिर दूसरी एक्सरसाइज करनी चाहिए।

insidehowtotakerestbetwwenexercise

एक्सरसाइज करने के बीच में रेस्ट लेना क्यों जरूरी है?

एक्सरसाइज के बीच-बीच में थोड़ा सा गैप लेने से शरीर को ठहरने का मौका मिल जाता है। इससे शरीर एनर्जी की रिकवरी कर पाता है और आपको दोबारा दूसरे एक्सरसाइज तो करने का प्रोत्साहन देता है। अगर आप एक एक्सरसाइज से दूसरे एक्सरसाइज के बीच नहीं रूकते तो ये आपके शरीर की कोशिकाओं के भीतर ऊर्जा को कम करना। इससे कोशिकाओं का नुकसान भी हो जाता है और शरीर चोटिल भी महसूस कर सकता है।

इसे भी पढ़ें : एक्सरसाइज रूटीन से चीट करने में नहीं है कोई नुकसान, जानें क्यों कभी कभी एक्सरसाइज नहीं करना भी है जरूरी

एक्सरसाइज के हिसाब से रेस्ट लेने का तरीका (rest between workouts)

शॉर्ट रेस्ट पीरियड्स (Short Rest Periods)

शॉर्ट रेस्ट पीरियड्स लगभग 30 सेकंड का होता है। यानी कि आपको एक एक्सरसाइज से दूसरे एक्सरसाइज के बीच लगभग 30 सेकंड का गैप ले लाना चाहिए। पर प्रश्न ये है कि आप इन एक्सरसाइजों के बीच ये वाला गैप लेंगे। दरअसल जब आप वेट लिफ्टिंग कर रहे हों, तब आप दो सेट्स के बीच में ये गैप लें। हालांकि, आपको लग सकता है कि ये बहुत छोटा सा टाइम पीरियड है, पर अगर आप बहुत ज्यादा आराम लेंगे, तो आपका मनोबल कम हो जाएगा और आप इसे अच्छे से नहीं कर पाएंगे और जल्दी थक जाएंगे।

insideresttime

लोंग रेस्ट पीरियड्स (Long Rest Periods)

लोंग रेस्ट पीरियड्स में आप 2 मिनट से 5 मिनट तक का रेस्ट ले सकते हैं। इस लंबी अवधि के आराम का प्राथमिक लाभ यह है कि, इससे आपको अपनी एनर्जी को वापिस लेने में मदद मिल सकती है। इसके बाद आप अधिकतम वजन वाले टूल्स का उपयोग कर सकते हैं जिसके परिणामस्वरूप आपके मसल्स और अच्छे होंगे। हालांकि, लंबी अवधि के लिए कमियां यह है कि आप अक्सर अपनी मांसपेशियों को पर्याप्त रूप से थकाते नहीं हैं और धीमे-धीमे में जल्दी थक जाते हैं।

इसे भी पढ़ें : रेगुलर एक्सरसाइज करना आपको बना सकता है दीर्घायु, जानें उम्र के किस पड़ाव में कौन सी एक्सरसाइज करें?

मॉडरेट रेस्ट पीरियड्स (Moderate Rest Periods)

मॉडरेट रेस्ट पीरियड्स लगभग 60-90 सेकंड होता है। मॉडरेट रेस्ट, मांसपेशियों के विकास को प्रोत्साहित करने के लिए फायदेमंद है। यही कारण है कि मध्यम आराम की अवधि मांसपेशियों के निर्माण के लिए सबसे अच्छी मानी जाती है। ये मांसपेशियों के तंतुओं को विकास के लिए क्षमता को बढ़ाता है। 

अगर आप नार्मल योग भी कर रहे हैं, तो एक योग से दूसरे योग के बीच में मॉडरेट रेस्ट लें। इसके बाद फिर दूसरी मुद्रा की शुरुआत करें। इस तरह ये आपके शरीर पर बहुत असर दिखाएगा। तो जल्दी-जल्दी व्यायाम न करें। आराम से रेस्ट करके सही नियमों के साथ एक्सरसाइज करें।

Read more articles on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK