वेट लिफ्टिंग से पहले या बाद में कितना जरूरी है कार्डियो वर्कआउट, जानें आपके लिए कब है फायदेमंद

Updated at: Jul 24, 2020
वेट लिफ्टिंग से पहले या बाद में कितना जरूरी है कार्डियो वर्कआउट, जानें आपके लिए कब है फायदेमंद

अगर आप भी वेट लिफ्टिंग करते हैं या वजन के साथ स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करते हैं तो पहले या बाद में कितना जरूरी होता है कार्डियो वर्कआउट।

Vishal Singh
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Vishal SinghPublished at: Jul 24, 2020

किसी भी एक्सरसाइज या वर्कआउट (Workout) करने के लिए एक योजना बनानी जरूरी होती है तभी आप खुद की बॉडी पर मेहनत कर सकते हैं। ऐसे ही वेट लिफ्टिंग (Weight Lifting) है, जिसमें आपको एक बेहतर वर्कआउट योजना की जरूरत होती है। कई लोग रोजाना बस एक्सरसाइज की शुरुआत करते ही वेट लिफ्टिंग शुरू कर देते हैं। लेकिन कई लोगों के मन में सवाल उठता है कि क्या वजन उठाने से पहले या बाद मं कार्डियो करना चाहिए या नहीं? तो इसका जवाब होगा कि अगर आप किसी लक्ष्य के लिए वर्कआउट नहीं कर रहे लेकिन खुद पर बेहतर फिटनेस चाहते हैं तो आपके लिए कार्डियो जरूरी हो जाती है।

अमेरिकन कॉलेज ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन (American College Of Sports Medicine) के अनुसार, बैक-टू-बैक एक जैसी स्ट्रेंथ ट्रेनिंग आपके शरीर की पर्याप्त वसूली नहीं कर पाता। इससे आपको थकान का अनुभव ज्यादा हो सकता है साथ ही चोट का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए हम आपको बताएंगे कि आपको वजन उठाने या वेट लिफ्टिंग से पहले कार्डियो (Cardio) करना चाहिए या नहीं। 

fitness

कितना फायदेमंद कार्डियो वर्कआउट ?

आपकी मांसपेशियां एक रबर बैंड की तरह होती हैं, इसलिए इन मांसपेशियों के साथ मेहनत करने के लिए चारों ओर से पर्याप्त रूप से तना हुआ होनी चाहिए। एक हाइपरवियर एथलीट और इक्विनॉक्स मास्टर ट्रेनर गेरेन लिलेस बताते हैं कि जब आप रबर बैंड लेते हैं और बार-बार खींचते हैं, तो यह बहुत ढीली हो जाती है और एक साथ वस्तुओं को पकड़ पाने में असमर्थ हो जाती है। ऐसे ही आपकी मांसपेशियां काम करती हैं। इसलिए कार्डियो में दोहराए जाने वाली एक्सरसाइज आपकी मांसपेशियों को प्रभावी ढंग से आपकी क्षमता कम हो जाती है। 

इसे भी पढ़ें: रोजाना दौड़ने से पहले जरूर कर लें ये 5 स्ट्रेचिंग, जानें कैसे है ये आपके लिए फायदेमंद

वेट लिफ्टिंग से पहले या बाद में कितनी जरूरी?

साल 2016 में जर्नल ऑफ स्ट्रेंथ एंड कंडिशनिंग रिसर्च (Journal of Strength and Conditioning Research) के एक अध्ययन में 11 स्वस्थ पुरुषों को शामिल कर एरोबिक वर्कआउट के 10 मिनट बाद उनकी शक्ति प्रदर्शन की जांच की गई। अभ्यास में उच्च पुल, स्क्वाट, बेंच प्रेस, डेडलिफ्ट और पुश प्रेस शामिल थे। इस अध्ययन के परिणामों के आधार से पता चला कि एरोबिक वर्कआउट के बाद स्ट्रेंथ मूव्स पर उनके प्रदर्शन में काफी समझौता किया गया था। सभी पुरुषों ने स्क्वाट्स के साथ कम प्रतिनिधि प्रदर्शन किया और एरोबिक वर्कआउट करने के बाद उच्च पुल, स्क्वाट और बेंच प्रेस के लिए उनकी ताकत कम हो गई।

दूसरी ओर साल 2016 में यूरोपीय जर्नल ऑफ स्पोर्ट साइंस (European Journal of Sport Science)के एक अध्ययन में 30 फिट पुरुषों को चार अलग-अलग ट्रेनिंग दी गई। जिसके परिणामों से ये पता चलता है कि परिणामों से पता चलता है कि स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से पहले धीरज अभ्यास करने से बिगड़ा शक्ति प्रशिक्षण प्रदर्शन में परिणाम होता है, खासकर जब भारी उठाने से। 

इसे भी पढ़ें: बिना उपकरण घर पर रोजाना करें ये 4 कार्डियो एक्सरसाइज, जानें क्या है करने का आसान तरीका

वजन कम करने के लिए क्या करें

अगर आप वजन कम करने के बारे में सोच रहे हैं और आपको लगता है कि स्ट्रेंथ कार्डियो कितना सही है तो अक्सर देखा जाता है कि ज्यादातर लोग ज्यादा कार्डियो करने पर ध्यान केंद्रित करेंगे जब वे वजन कम करने की कोशिश कर रहे होते हैं, क्योंकि यह आपके शरीर से ज्यादा कैलोरी जलाता है। लेकिन सप्ताह में दो से तीन दिन स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करना ज्यादा बेहतर माना जाता है।

Read more articles on Exercise-Fitness in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK