चेहरे पर मुंहासे (Acne) क्यों निकलते हैं? जानें इन 5 तरह के एक्ने को दूर करने के आसान उपाय

Updated at: Dec 03, 2020
चेहरे पर मुंहासे (Acne) क्यों निकलते हैं? जानें इन 5 तरह के एक्ने को दूर करने के आसान उपाय

मुंहासे और पिंपल्स के बीच अंतर यह है कि मुंहासे एक बीमारी है और पिंपल्स इसके लक्षणों में से एक है। ये चेहरे पर कई कारणों से होते हैं।

Pallavi Kumari
त्‍वचा की देखभालWritten by: Pallavi KumariPublished at: Dec 03, 2020

चेहरे पर फुंसी क्यों होती है (What Causes Acne)? ये प्रश्न सबसे ज्यादा टीएज और उन अडल्ट होते नौजवानों का है, जो कि चेहरे पर पिंपल्स, कील-मुंहासे और दाग-धब्बों से परेशान हैं। दरअसल, चेहरे पर फुंसी या एक्ने तेल का अतिरिक्त उत्पादन (सीबम प्रोडक्शन), बैक्टीरिया, हार्मोनल असंतुलन और मृत त्वचा कोशिकाओं के कारण होती है। ये सिर्फ चेहरे की खूबसूरती को कम करता है, बल्कि कई बार असहनीय दर्द भी देते हैं। ऐसे में लोगों के मन में अक्सर यह सवाल उठता है कि कैसे एक्ने की परेशानी से निजात पाया जाए (How do I remove acne)?। तो सबसे पहले जानते हैं एक्ने के 5 प्रकार और फिर इनसे निजात पाने का उपाय।

insidepimplesandacne

मुहांसों के प्रकार -How many types of acne are there?

1.ब्लैकहेड्स -What causes blackhead?

ब्लैकहेड्स होने का कारण का सबसे बड़ा कारण हैं हमारे स्किन के पोर्स का भर जाना। ब्लैकहेड्स तब होते हैं जब हमारे स्किल पोर्स सीबम और मृत त्वचा कोशिकाओं से भरा जाते हैं। बाकी भाग भरा होने के बावजूद, मुहांसे ऊपर से खुले हुए नजर आते हैं। इसके कारण जब ये ठीक भी हो जाते हैं, तो आपके स्किन पर दाग छोड़ जाते हैं।

2 व्हाइटहेड्स -Why am I getting so many white heads?

व्हाइटहेड्स को मुंहासे का ही प्रकार कहा जाता है, जिसमें यह केवल त्वचा के बाहरी हिस्से को प्रभावित करता है। यह चेहरे, छाती और पीठ पर छोटे-छोटे सफेद उभार के रूप में दिखाई देते हैं, जिनमें सफेद रंग का सिस्ट जमा होता है। स्किन में पोर्स का बॉल्क हो जाना, हार्मोनल का डिसबैलेंस और सीबम का ज्यादा प्रोडक्शन व्हाइटहेड्स का मुख्य कारण होते हैं। व्हाइटहेड्स से बचने का उपाय ये है कि अपने मुंह को साफ रखें और गंदगी और ऑयल जमा न होने दें।

3.पपल्स पुस्टुल्स (Papules-Pustules)

पपल्स तब होते हैं जब आपके मुंहासों के आसपास की दीवारें गंभीर सूजन से टूट जाती हैं। ये मुहांसे काफी दर्दनाक होते हैं। ये पहले तो व्हाइटहेड्स जैसे ही होते हैं, पर बाद में छिद्रों के आसपास सूज कर गुलाबी हो जाती है। फिर इनमेंमवाद भरा जाता है। ये पक कर त्वचा से बाहर निकलते हैं और त्वचा लाल हो जाती है । 

इसे भी पढ़ें : Skin Care: त्वचा के अनुसार रखें अपने चेहरे का ध्यान, अपनाएं ये आसान तरीके

4.नोड्यूल्स (Nodules) 

नोड्यूल्स तब होता है, जब मुहांसे बहुत भरे हुए से नजर आते हैं। इसमें सूजन आ जाती। ये त्वचा के नीचे गहराई में होते हैं और आसानी से नहीं निकलते। पर इनमें दर्द बहुत होता है। आप आमतौर पर घर पर उनका इलाज नहीं कर सकते हैं। आपके डॉक्टर या त्वचा विशेषज्ञ संभवतः दवा ले लें। ज्यादातर डॉक्टर इसमें विटामिन ए खाने की सलाह देते हैं।

insideblackhead

5. सिस्ट (Cysts)

सिस्ट तब विकसित हो सकते हैं जब बैक्टीरिया, सीबम और मृत त्वचा कोशिकाओं के संयोजन से पोर्स बंद हो जाते हैं। ये बंद त्वचा के भीतर गहरे होते हैं और नोड्यूल्स की तुलना में सतह से नीचे होते हैं। ये बड़े लाल या सफेद मुहांसे होते हैं, जिन्हें अक्सर छुना इस स्थिति को और दर्दनाक बना देती है। ये मुंहासे का सबसे बड़ा रूप हैं और इनका गठन आमतौर पर एक गंभीर संक्रमण के परिणामस्वरूप होता है। इस तरह के मुंहासों के दाग पड़ने की भी सबसे अधिक संभावना होती है।

एक्ने का चेहरे पर क्या असर होता है -What does acne do to your skin?

एक्ने यानी मुहांसे के कारण त्वचा के नीचे के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं। तेल और मृत त्वचा कोशिकाएं और पिंपल्स पैदा करती हैं, जिसके दाग आपके चेहरे पर लंबे समय तक रह सकते हैं। मुहांसे सबसे ज्यादा चेहरे पर होते हैं, लेकिन पीठ, छाती और कंधों पर भी दिखाई दे सकते हैं।

क्या खाने से पिंपल्स नहीं होते? 

अगर आपको पिंपल्स है, तो आपको फ्राइड चीजों को खाने से बचना चाहिए। इसके साथ ही आपको बहुत ज्यादा डेयरी प्रोडक्ट्स लेने से भी बचना चाहिए। दरअसल डीप फ्राइड फूड में पाए जाने वाले हाइड्रोजनीकृत ट्रांस फैट आपके चेहरे को पोर्स को नुकसान पहुंचाते हैं। इसके अलावा चीज, बटर, शुगर, कॉफी और डिब्बा बंद चीजों को खाने-पीने से बचें। इसके अलावा अगर आप पिंपल्स से बचे रहना चाहते हैं, तो आप अपनी डाइट में विटामिन-ए चीजों को शामिल करें। जैसे कि

  • - गाजर
  • - पालक
  • - कद्दू
  • -चुकंदर
  • - बीन्स आदि खाएं।

सुबह उठ कर गर्म पानी पिएं  -Does hot water reduce acne?

सुबह उठ कर गर्म पानी पीने से पेट साफ होने में आसानी मिलती है। पर आपको जान कर हैरानी होगी कि ये आदत चेहरे को साफ करने में मदद करती है। दरअसल, गर्म पानी शरीर से गंदगी बाहर निकाल देती है और मुहांसों के विकास को रोक देती है। इससे शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर रहता है और मुंहासे कम हो जाते हैं।

insidewaterdrinking

पिंपल हटाने के घरेलू उपाय – Home Remedies For Acne in Hindi

1.ग्रीन टी फेस पैक

ग्रीन टी में पॉलीफेनोल्स होता है, जो घरेलू उपचार में अहम भूमिका निभा सकते हैं। यह पॉलीफेनोल्स सीबम यानी कि ऑयल को कम कर सकता है। साथ ही इसमें एंटी-माइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं, जो मुंहासे से लड़ने में सहायता कर सकते हैं। इसलिए  ग्रीन टी फेस पैक इस्तेमाल करें।

इसे भी पढ़ें : Skin Tightening: किन कारणों से त्वचा में आता है ढीलीपन? एक्सपर्ट से जानें स्किन टाइट करने के लिए उपाय

2.टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल

टी ट्री ऑयल एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण की भरमार है। ये मुंहासों को कम करने में मदद कर सकता है। इसके लिए  दो से तीन बूंद टी-ट्री ऑयल को आधे चम्मच एलोवेरा जेल में मिलाकर चेहरे पर लगा लें। फिर मुंह धो लें और रेगुलर ये कर के देखें।

3. शहद

शहद एक्ने के बैक्टीरिया से लड़कर मुहासों को ठीक करने में मदद कर सकते हैं। इसके लिए तीन चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी पाउडर का पेस्ट तैयार करें और इसरा इस्तेमाल करें।

मुहांसे से बचने के लिए सामान्य टिप्स और ट्रिक्स

मुंहासे का इलाज सावधानीपूर्वक चेहरे की सफाई करने और कुछ सरल जीवन शैली फॉलो करने में भी है। इसलिए

  • -दिन में दो बार और पसीने के बाद मुंह जरूर धोएं
  • -जागने पर और बिस्तर पर जाने से पहले अपने चेहरे को जरूर धोएं।
  • - मुहांसे में स्क्रब न करें या कठोर एक्सफोलीएट्स का उपयोग न करें।
  • - मुहांसे को छुएं नहीं और पॉपिंग से बचें। इससे चेहरे पर निशान पड़ सकते हैं।
  • - ब्लैकहैड या व्हाइटहेड से बचाव के लिए सही क्लीनजिंग का ध्यान रखें।

इन सबके अलावा बिस्तर, मेकअप ब्रश और यहां तक कि फोन स्क्रीन तक को साफ रखें। ये मुहांसे का कारण बन सकते हैं। इसलिए सोने से पहले अपना मुंह अच्छे से साफ करें और अपने मेकअप ब्रश और तकिए को हमेशा साफ रखें। साथ ही अच्छी डाइट लेने के साथ एक्सरसाइज और योग जरूर करें। इस तरीके से अपने स्किन का रखें ध्यान और बेदाग और एक्ने फ्री त्वचा पाएं।

Source: National Institutes of Health (niams.nih.gov)

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK