Hypertension and Homeopathy: क्‍या हाई ब्‍लड प्रेशर में मददगार है होम्‍योपैथिक उपचार? जानें एक्‍सपर्ट की राय

Updated at: May 19, 2020
Hypertension and Homeopathy: क्‍या हाई ब्‍लड प्रेशर में मददगार है होम्‍योपैथिक उपचार? जानें  एक्‍सपर्ट की राय

Hypertension And Homeopathy: क्‍या होम्‍योपैथी के जरिए हाई ब्‍लड प्रेशर या हाईपरटेंशन के इलाज में मदद मिल सकती है? आइए यहां एक्‍सपर्ट से जानें।

Sheetal Bisht
हृदय स्‍वास्‍थ्‍यWritten by: Sheetal BishtPublished at: May 19, 2020

क्या आप हाई बीपी के मरीज हैं? अगर हां, तो क्‍या कभी आपने सोचा है कि होम्योपैथिक उपचार आपको हाई ब्‍लड प्रेशर से निपटने में मदद कर सकता है? जी हां, होम्योपैथी का बहुत महत्व है, जब यह महत्वपूर्ण अंगों जैसे हृदय, गुर्दे, आदि से संबंधित बड़ी बीमारियों के इलाज के लिए आता है। हम केवल होम्योपैथिक से परामर्श के बारे बहुत कम मुद्दों के बारे में ही सोचते हैं जैसे कि खांसी और जुकाम के लिए होम्योपैथिक दवा लेना, जो नियमित रूप से काम करने में समय लगता है लेकिन इससे समस्‍या का समाधान हो जाता है। लेकिन हम गंभीर बीमारियों के लिए लोग होम्योपैथी पर भरोसा नहीं करते हैं।

हाईपरटेंशन या हाई बीपी की समस्या एक ऐसा उदाहरण है, जहां लोग आसानी से एलोपैथिक दवाओं का सेवन करते हैं (जो कि तेजी से काम करने वाली हैं लेकिन लंबे समय में साइड-इफेक्ट्स के साथ हैं) लेकिन होम्योपैथिक दवा नहीं है, जो धीमी गति से काम करती है लेकिन 100% सुरक्षित है। डॉ. शेषाद्री जुयाल, जो कि होम्योपैथिक चिकित्सक हैं, कहती है: हाई BP में होम्योपैथी की महत्‍वपूर्ण भूमिका हो सकती है। आइए यहां ओन्‍लीमाय हेल्‍थ ने डॉ. शेषाद्री जुयाल से हाई ब्‍लड प्रेशर के लिए होम्योपैथिक उपचार के बारे में बात की है। विस्‍तार में जानने के लिए लेख आगे पढ़ें।

Blood Pressure Signal

डॉ. शेषाद्री जुयाल कहती हैं, हाई ब्‍लड प्रेशर या हाइपरटेंशन एक साइलेंट किलर है, जो धीरे-धीरे हमारे स्वास्थ्य के खिलाफ काम करता है और हमें भविष्य में हृदय रोगों के विकास का अधिक खतरा पैदा करता है। इस स्थिति में, धमनियों में रक्त का दबाव लगातार बढ़ता है। एक स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति का सामान्‍य ब्‍लड प्रेशर की सीमा 120/80 मिमी एचजी होती है और जब यह अधिक हो जाती है, तो इसे हाई  बीपी कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें: हाई ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार है तरबूज, जानें कैसे?

हाइपरटेंशन को तीन श्रेणियों में बांटा गया है:

प्री हाइपरटेंशन - 120–139 मिमी एचजी सिस्टोलिक और 80-89 मिमी एचजी डायस्टोलिक

हाइपरटेंशन स्‍टेज 1- 140–159 मिमी एचजी सिस्टोलिक और 90-99 मिमी एचजी डायस्टोलिक

हाइपरटेंशन स्‍टेज 2- ऊपर 160 मिमी एचजी सिस्टोलिक और 100 मिमी एचजी डायस्टोलिक

Hypertension

हाई ब्‍लड प्रेशर या हाइपरटेंशन के सामान्य लक्षण

  • भयानक सरदर्द
  • नज़रों की समस्या
  • सांस लेने में तकलीफ
  • दिल की अनियमित धड़कन
  • थकान
  • भ्रम की स्थिति
  • छाती में दर्द
  • कान बजना
  • पेशाब में खून आना

हाइपरटेंशन के लिए होम्योपैथिक उपचार

होम्योपैथिक दवाएं (उदाहरण के लिए एलियम सैटिवम, एमिल नाइट्रोसम, बैराइटा म्यूरिएटिका या बैरा-म्यूरि)

डॉ. शेषाद्री जुयाल बताती हैं, करातागुस ओकसीआकेनथा, ग्लोनाइन, नक्स वोमिका, स्ट्रोफैन्थस, लैकेसिस आदि) हाई ब्‍लड प्रेशर के उपचार के लिए उपलब्ध हैं और किसी भी आयु वर्ग के रोगियों को बिना किसी छेड़छाड़ के निर्धारित किया जा सकता है।

होम्योपैथिक दवाएं उन लोगों के लिए बहुत अच्छा काम करती हैं, जिन्हें हाल ही में हाई ब्‍लड प्रेशर का पता चला है और जिन्होंने इसके लिए कोई अन्य दवा नहीं ली हो।  

Hypertension and Homeopathy

क्रोनिक हाइपरटेंशन वाले लोग, जो लंबे समय से अन्य दवा (एलोपैथी सहित) ले रहे हैं, होम्योपैथिक दवाओं का भी उपयोग कर सकते हैं।

ऐसे रोगियों को सलाह दी जाती है कि शुरू में होम्योपैथिक दवा के साथ-साथ पहले से निर्धारित दवा को जारी रखें, और धीरे-धीरे पूरी तरह से होम्योपैथिक दवाओं पर स्विच कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: हाई ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करने से लेकर कई बीमारियों का अचूका इलाज है काली मिर्च, जानें एक्‍सपर्ट्स की राय 

हाई बीपी में कौन से खाद्य पदार्थों का करें सेवन 

डॉ. शेषाद्रि जुयाल यहां हाई ब्‍लड प्रेशर को नियंत्रित करने के प्रभावी तरीकों के रूप में कुछ खाद्य-पदार्थों के विकल्प भी बताए हैं:  

  • हरे पत्ते वाली सब्जियां
  • दलिया
  • लो-फैट वाली दही
  • अलसी का बीज
  • कीवी, बादाम, खुबानी, ब्रोकोली, टमाटर, अंजीर चुकंदर, लहसुन, स्ट्रॉबेरी, जैतून का तेल, केला, अनार का रस और बेक्ड आलू जैसे पोटेशियम युक्त भोजन ।
Homeopathic Treatment For High Blood Pressure

हाई ब्‍लड प्रेशर में न करें इन खाद्य पदार्थों का सेवन

यहाँ कुछ खाद्य पदार्थ हैं जिन्हें हाई ब्‍लड प्रेशर के रोगियों को सेवन न करने की सलाह दी जाती है।

  • लाल मांस
  • प्रोसेस्‍ड फूड्स 
  • पैक किए गए प्रॉडक्‍ट 
  • डिब्बाबंद जूस 
  • कैफीन
  • शुगरी ड्रिंक्‍स 

हाई ब्‍लड प्रेशर हृदय संबंधी समस्याओं के कारण मृत्यु का एक प्रमुख कारण है। इसके गंभीर परिणामों को रोकने के लिए जल्द ही इलाज करना बहुत महत्वपूर्ण है। 

यहां डॉ. शेषाद्रि का सुझाव है कि आप कुछ ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज भी कर सकते हैं, जो आपके ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोर करने में मददगार हैं: 

  • भ्रामरी प्राणायाम 
  • अनुलोमविलोम प्राणायाम
  • भस्त्रिका प्राणायाम
  • कपालभाति प्राणायाम
  • शीतली प्राणायाम

Read More Article On Heart Health In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK