Kitchen Ingredients For First Aid: छोटी-मोटी चोट, घाव और दर्द का इलाज कर सकती हैं रसोई में रखी ये 5 चीजें

Updated at: Mar 04, 2020
Kitchen Ingredients For First Aid: छोटी-मोटी चोट, घाव और दर्द का इलाज कर सकती हैं रसोई में रखी ये 5 चीजें

यहां 5 रसोई सामग्रियां हैं, जिन्हें आप कई मामूली समस्‍याओं जैसे- कटने, चोट, या किसी घाव के लिए प्राथमिक उपचार के रूप में उपयोग कर सकते हैं।

Sheetal Bisht
घरेलू नुस्‍खWritten by: Sheetal BishtPublished at: Mar 04, 2020

जब आपको कोई चोट लगती है या कट जाता है, तो क्या होता है? शायद, एक फर्स्ट एड बॉक्स से बैंडेज का इस्‍तेमाल करते हैं। लेकिन यदि आपके पास फर्स्ट एड बॉक्स न हो, तो क्या होगा? घबराहट के बजाय, आप ब्‍लीडिंग को रोकने और संक्रमण को रोकने के लिए उस पर हल्दी पाउडर लगाएंगे। इसके अलावा, कुछ मामूली चोट या कट के लिए आप रसोई के कुछ चीजों की मदद ले सकते हैं, जो कि आपके फर्स्ट एड के रूप में मदद करेंगी। किचन में रखी ये 5 चीजें, खाने के स्वाद को बढ़ाने के अलावा, मामूली चोटों और दुर्घटनाओं के दौरान आपके लिए काफी मददगार हो सकते हैं। आइए हम आपको बताते हैं, जब आपके पास दवा या डॉक्‍टर उपलब्‍ध न हो और चोट या चोट से ब्‍लीडिंग हो रहे हैं, तो इन 5 किचन समाग्रियों का उपयोग करें।  

हल्दी

Turmeric For Pain and Injury

हल्दी सबसे उपयोगी और सबसे प्रभावी रसोई सामग्रियों में से एक है, जो फर्स्ट एड के रूप में काम करती है। यह न केवल खाने को सुंदर रंग और स्‍वाद देती है, बल्कि इसका उपयोग फर्स्ट एड भी किया जा सकता है। इस लोकप्रिय भारतीय मसाले में कई एंटीबैक्टिीरियल, एंटी इंफ्लामेटरी और एंटीसेप्टिक गुण हैं। हल्दी में मौजूद हीलिंग एजेंट, तेजी से चोट या घाव में मदद करते हैं। यह छोटी चोट,  कटने या घावों पर फर्स्ट एड के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इस्‍तेमाल करने पर, यह त्वचा के किसी भी संक्रमण के विकास को रोक देगा। 

कैसे उपयोग करें: चोट या घाव वाली जगह पर सीधे हल्दी की एक चुटकी लगाएं। आप हल्दी का पेस्ट या तो पानी या सरसों के तेल के साथ मिलाकर बना सकते हैं और फिर लगा सकते हैं।

बेकिंग सोडा

Baking Soda For Gas

कल्पना कीजिए कि आपको एसिडिटी हो रही है, लेकिन आपके पास घर पर ईनो या दवा नहीं है, तो आप क्या करेंगे? बहुत से लोग नहीं जानते कि बेकिंग सोडा एसिडिटी और पेट फूलने की समस्‍या से भी राहत दिला सकता है। ज्यादातर लोग त्वचा की समस्‍याओं के इलाज के लिए बेकिंग सोडा का उपयोग करते हैं, लेकिन यह उपयोग कम ही लोग जानते होंगे। जैसा कि बेकिंग सोडा प्रकृति में बुनियादी है, यह तत्काल राहत प्रदान करने के लिए एसिड के स्तर को बेअसर करता है।

इसके लिए आपको बस पानी के साथ डालकर बेकिंग सोडा पीना है। 

इसे भी पढें: यूटीआई को रोकने में मददगार है क्रैनबेरी जूस, जानें इस्‍तेमाल का तरीका

शहद

शहद भी एक प्राकृतिक और शक्तिशाली फर्स्ट एड रसोई सामग्रियों में से एक है। हल्दी की तरह, आप छिलने, कटने और घावों के इलाज के लिए शहद का उपयोग कर सकते हैं। हालाँकि, आप इसकी चिपचिपी बनावट के कारण इसे लगाना लोग अच्‍छा नहीं मानते, लेकिन यह दर्द के लक्षणों को कम करने में प्रभावी है। आप इसे सीधे कट या घाव पर लगा सकते हैं।

एप्‍पल साइडर विनेगर 

Apple Cider Vinegar For Burning

एप्‍पल साइडर विनेगर भी आपका एक फर्स्ट एड का अच्‍छा विकल्‍प है। वजन घटाने को लेकर इसके फायदों के बारे में आपने सुना होगा, लेकिन क्या आप इसके फर्स्ट एड के रूप में भी इस्‍तेमाल किया जाता है? वैसे एप्‍पल साइडर विनेगर मच्छर के काटने के बाद खुजली वाली त्वचा से राहत दिलाने में मददगार साबित हो सकता है। इसके अलावा, आप इसे सनबर्न त्वचा और मधुमक्खी के डंक को शांत करने के लिए भी लगा सकते हैं। अगली बार, जब भी आप इन समस्‍याओं के लिए एप्‍पल साइडर विनेगर का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 

इसे भी पढें: बड़े काम का है लहसुन का तेल, बालों से लेकर त्‍वचा तक कई समस्‍याओं को करता है दूर

लहसुन

Garlic For Pain and Injury

आप में से बहुत से लोगों को लहसुन की खुशबू पसंद, तो कुछ गंदी लगती होगी। लेकिन लहसुन आपके खाने में स्‍वाद बढ़ाने और सेहत को दरूस्‍त रखने के साथ-साथ फर्स्ट एड के रूप में भी काम करती है। यदि कोई कीड़ा काट ले या कीड़े के काटने के बाद त्‍वचा पर खुजली हो, तो यह उसका तुरंत इलाज कर सकती है। क्‍योंकि इसमें एंटीबायोटिक गुण पाए गए हैं, जो कीड़े के काटने के बाद बंप्‍स और खुजली वाली त्वचा को शांत कर सकते हैं। इसके लिए प्रभावित जगह पर लहसुन का रस लगाएं।

Read More Article On Home Remedies In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK