Blood Purification Remedies: स्‍वस्‍थ और तंदुरूस्‍त रहना है, तो इन 5 प्राकृतिक तरीको करें ब्‍लड प्यूरिफिकेशन

Updated at: Aug 10, 2020
Blood Purification Remedies: स्‍वस्‍थ और तंदुरूस्‍त रहना है, तो इन 5 प्राकृतिक तरीको करें ब्‍लड प्यूरिफिकेशन

क्‍या आप अपने खून को प्राकृतिक तरीके से डिटॉक्‍सीफाई करना चाहते हैं? अगर हां, तो यहाँ कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो स्वाभाविक रूप से खून को शुद्ध करते हैं।

Sheetal Bisht
घरेलू नुस्‍खWritten by: Sheetal BishtPublished at: Aug 10, 2020

खून हमारे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण कार्यों में से एक है, जो एक तरह से परिवहन है। पोषक तत्वों से लेकर ऑक्सीजन तक, खून सभी का वाहक है। बेहतर स्वास्थ्य के लिए, हमारे खून को टॉक्सिन-फ्री और शुद्ध होना चाहिए, ताकि कोई अशुद्धता हमारे अंगों तक पहुंच जाए। इसलिए, खून का डिटॉक्‍सीफाई उतना ही महत्वपूर्ण है, जितना कि बॉडी डिटॉक्सिफिकेशन। हमारे लिवर और किडनी शुद्धि प्रक्रिया करते हैं, लेकिन कभी-कभी, वे इसे ठीक से नहीं कर पाते हैं। इसलिए, हमें समय-समय अपने खून के डिटॉक्सिफिकेशन की जिम्मेदारी लेने की जरूरत है। आइए इस लेख के माध्यम से हम आपको बताते हैं कि कैसे आप अपने खून को प्राकृतिक रूप से शुद्ध कर सकते हैं। लेकिन उससे पहले आप ब्‍लड प्यूरिफिकेशन के बारे में जान लें।

Natural Ways To Detoxify Your Blood

ब्‍लड प्यूरिफिकेशन क्यों जरूरी है?

ब्‍लड प्यूरिफिकेशन कैसे आप प्राकृतिक तरीके से कर सकते हैं, यह जानने से पहले, यह समझना महत्वपूर्ण है कि हमारे शरीर के लिए ब्‍लड प्यूरिफिकेशन क्‍यो जरूरी होता है। यहां कुछ कारण दिए गए हैं। 

  • ब्‍लड प्यूरिफिकेशन या खून की शुद्धि स्वस्थ त्वचा को बढ़ावा देती है। खून में अशुद्धियों के कारण मुंहासे, फुंसी, फोड़े हो सकते हैं। 
  • अशुद्ध खून से एलर्जी, मतली और सिरदर्द हो सकता है।
  • शुद्ध खून का संचार महत्वपूर्ण अंगों के कार्य को बढ़ा देता है क्योंकि कुछ अंग रक्त कोशिकाओं की गिनती पर निर्भर करते हैं।
  • स्वस्थ खून में सफेद रक्त कोशिकाएं या WBC होती हैं, जो शरीर में एक स्वस्थ प्लेटलेट काउंट का प्रबंधन करती हैं।

कैसे करें खून को प्राकृतिक रूप से कैसे शुद्ध?

यहां कुछ खाद्य पदार्थ हैं, जो खून को शुद्ध करने या ब्‍लड प्यूरिफिकेशन में अद्भुत काम करते हैं: 

1. नींबू का रस

नींबू का रस या नींबू पानी पीना आपने वजन कम करने के लिए सुना होगा। लेकिन इसके अलावा, नींबू का रस आपके खून को शुद्ध करने के लिए भी बहुत अच्छा है। नींबू के रस की अम्लीय प्रकृति के कारण, यह पीएच लेवल को संतुलित करके विषाक्त पदार्थों को समाप्त कर सकता है। यह बैक्टीरिया, वायरस और अन्य विषाक्त पदार्थों को मारने के लिए  अल्‍कलाइन वातावरण बनाता है। इतना ही पहीं यह पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और खून को डिटॉक्‍सीफाई करने में मदद करता है। इसके लिए आप रोजाना हर सुबह खाली पेट नींबू का पानी पिएं। 

Lime water

2. बेकिंग सोडा और एप्पल साइडर विनेगर 

एप्पल साइडर विनेगर के आपकी त्‍वचा से लेकर बालों और संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कई फायदे हैं। वहीं बेकिंग सोडा के साथ इसका संयोजन पूरी तरह से खून को शुद्ध करने या ब्‍लड प्यूरिफिकेशन के लिए अच्‍छा माना जाता है। ये आपके पीएच लेवल में परिवर्तन करता है और प्यूरिफिकेशन के लिए खून से यूरिक एसिड को खत्म करता है। आप एक गिलास पानी में बेकिंग सोडा का 1 चम्मच और एप्पल साइडर विनेगर के 3 चम्मच जोड़ें। 

3. चुकंदर का रस 

हीमोग्‍लोबिन बढ़ाने को लेकर चुकंदर के फायदे तो आपने सुने होंगे। ऐसा इसलिए, क्‍योंकि चुकंदर में एंटीऑक्सिडेंट और नाइट्रेट होते हैं, जो खून को शुद्ध करने वाले एंजाइम के उत्पादन को बढ़ाते हैं। यह अपने कार्यों को बढ़ावा देने के लिए लिवर में ऑक्सीडेटिव क्षति और सूजन को भी कम करने में सहायक होता है। चुकंदर के जूस पीने के आपको और भी कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ मिल सकते हैं। 

Beetroot uice

4. गुड़

क्या आप जानते हैं कि गुड़ एक प्राकृतिक ब्‍लड प्‍यूरिफायर है? गुड़ में आयरन होता है, जो शरीर में स्वस्थ रक्त प्रवाह की अनुमति देता है। यह खून के थक्कों को बनने से भी रोकता है। इसके अलावा, गुड़ हीमोग्लोबिन के स्तर को बहाल करता है और पाचन के लिए भी अच्छा है।

इसे भी पढ़ें: बरसाती मौसम में बढ़ सकती है सिर की जुंएं, जानें कैसे पाएं जूंओं से छुटकारा

Holy Basil

5. तुलसी 

तुलसी की चाय, तुलसी का पानी और तुलसी का काढ़ा पीने के एक नहीं अनेकों फायदे हैं।  तुलसी के एंटीबैक्‍टीरियल और एंटी इंफ्लामेटरी गुण आपके समग्र स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छे हैं। इस पवित्र जड़ी बूटी में खून, किडनी और लिवर सहित पूरे शरीर को डिटॉक्‍सीफाई करने की शक्ति है। यह मूत्र के माध्यम से सभी विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करती है। आप तुलसी का सेवन कई तरीकों से कर सकते हैं।  

Read More Article On Home Remedies In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK