• shareIcon

रोजाना सोने से पहले खाएं ये चूर्ण, रातोंरात कब्‍ज का होगा सफाया

घरेलू नुस्‍ख By अतुल मोदी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jan 23, 2018
रोजाना सोने से पहले खाएं ये चूर्ण, रातोंरात कब्‍ज का होगा सफाया

अगर आप सुबह के समय त्रिफला चूर्ण का सेवन करते हैं तो आपके बॉडी को पोषण मिलता है क्योंकि इसमें विटामिन, आयरन, कैल्शियम और सूक्ष्‍म पोषक तत्‍व भरपूर मात्रा में होते हैं। लेकिन अगर आप त्रिफला रात को लेने से यह रेचक का काम करता है क्योंकि र

त्रिफला चूर्ण आपको कहीं भी आसानी से मिल सकता है। अगर आप सुबह के समय त्रिफला चूर्ण का सेवन करते हैं तो आपके बॉडी को पोषण मिलता है क्योंकि इसमें विटामिन, आयरन, कैल्शियम और सूक्ष्‍म पोषक तत्‍व भरपूर मात्रा में होते हैं। लेकिन अगर आप त्रिफला रात को लेने से यह रेचक का काम करता है क्योंकि रात में त्रिफला लेने से पेट की सफाई करता है। स्वामी परमानंद प्राकृतिक चिकित्सालय योग अनुसंधान केंद्र के प्रवक्ता डॉ. सुबोध भटनागर बता रहे हैं इससे होने वाले लाभ के बारे में...

इसे भी पढ़ें: मुंह की बदबू को तुरंत दूर करता है पुदीने का ऐसा प्रयोग

1. वात, पित्‍त, कफ दोष के लिए है लाभकारी

हमारी बॉडी में तीन दोष वात, पित्त, कफ के बिगड़ने से हम बीमार पड़ते हैं इसलिए वात, पित्त, कफ इन तीनों का संतुलन बना रहना बहुत ही आवश्यक है। यह हमारी बॉडी को तीनो भागों में बटते हैं, बॉडी के ऊपर के भाग में कफ, मध्य में पित्त और निचले भाग में वात होता है। हालांकि आयुर्वेद के ज्यादातर हर्ब्स वात, पित या कफ नाशक होते है लेकिन त्रिफला ही एक मात्र ऐसा हर्ब है जो वात, पित ,कफ तीनों को एक साथ संतुलित करता है।

2. वजन घटाने में है मददगार

अगर आप अपने बढ़ते वजन को कम करना चाहती हैं तो त्रिफला का सेवन करें। यह आपके मेटाबॉल्जिम को ठीक करता है और ज्यादा वजन घटाने में मददगार है। यह पाचन को ठीक रखने वाला, भूख बढ़ाने वाल और रेड ब्लड सेल्स की संख्या को बढ़ाने वाला और बॉडी के फैट को कम करने में हेल्प करता है। आप त्रिफला को चाय या काढ़े के रूप में ले सकते हैं। त्रिफला काढ़े में शहद मिलाकर पीने से वेट लॉस करने में हेल्प मिलती है।' 

इसे भी पढ़ें: पुरूषों के चेहरे पर तुंरत निखार लाता है 10 रुपए का ये नुस्‍खा

3. अपच और कब्‍ज में है कारगर

त्रिफला की तीनों जड़ी बूटियां आंतरिक सफाई को बढ़ावा देती हैं। कब्ज की समस्या होने पर त्रिफला बेहद कारगर होता है। इसे खाने से कब्ज की काफी पुरानी समस्या भी दूर भाग जाती है। रात को सोते समय त्रिफला चूर्ण हल्के गर्म पानी के साथ लेने से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है। अगर आप भी पेट की समस्याज खासतौर पर कब्ज से परेशान हैं तो आज ही इसे लेना शुरू कर दें।

4. इम्यूनिटी बढ़ाएं

जिन महिलाओं की इम्यूनिटी कमजोर हैं और इसके चलते वह बार-बार बीमार पड़ जाती हैं। उन महिलाओं को त्रिफला लेनी चाहिए। त्रिफला के सेवन से बॉडी की इम्यूनिटी बढ़ती है जिससे बॉडी की बीमारियों से लड़ने की क्षमता मिलती है। अच्छी इम्यूनिटी से आप बाहरी तत्वों के खिलाफ आसानी से लड़ सकती है। त्रिफला, बॉडी में एंटीबॉडी के प्रोडक्‍शन को बढ़ावा देता है जो बॉडी में एंटीजेन के खिलाफ लड़ते है और बॉडी को बैक्टीरिया मुक्त रखते है।

5. त्‍वचा में लाता है नेचुरल ग्‍लो

त्रिफला में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण उम्र के असर को बेअसर करते है। त्रिफला के सेवन से उम्र बढ़ाने वाले कारक कम होते है जिसके कारण आप उम्र से ज्यासदा जवां दिखते हैं। त्वचा संबंधी समस्या होने पर त्रिफला काफी मददगार होता है। त्रिफला, बॉडी से टॉक्सिन को बाहर निकाल देता है जिससे ब्ल।ड साफ होता है और त्वमचा पर हने वाली समस्याकओं से आसानी से दूर हो जाती है। इसके अलावा यह बॉडी में किसी प्रकार के संक्रमण होने से भी रोकता है।

6. कोलेस्‍ट्रॉल कम करें

त्रिफला हाई कोलेस्‍ट्रॉल और ट्राइ्ग्लिसराइड का लेवल को कम करने वाली एक रामबाण औषधि है। यह ब्लाड में कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी कम करता है।

7. बॉडी से विषाक्‍त निकाले

टॉक्सिन लगभग हर जगह होते हैं। हवा से सांसे लेते समय और खाने के जरिये आपकी बॉडी में पहुंचते हैं और आपकी बॉडी को नुकसान पहुंचाते हैं। इससे आपको थकान, मूड में बदलाव, कब्ज या दस्त, सूजन और विभिन्न त्वचा संबंधी परेशानियां हो सकती हैं। चूंकि पूरी तरह से टॉक्सिन को अनदेखा करना संभव नहीं है, इसलिए इससे बचने के लिए त्रिफला का सेवन करें। रेचक गुण होने के कारण यह आपकी बॉडी को अच्छे से डिटॉक्स करता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Home Remedies In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK