Holding Pee Effects: देर तक पेशाब रोकने के हो सकते हैं कई नुकसान, जानें दिन में कितनी बार जरूरी है पेशाब करना

Updated at: Feb 27, 2020
Holding Pee Effects: देर तक पेशाब रोकने के हो सकते हैं कई नुकसान, जानें दिन में कितनी बार जरूरी है पेशाब करना

Holding Pee Effects: आप भी कई देर तक पेशाब को रोके रहते हैं? लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि पेशाब रोकना आपको मुसीबत में डाल सकता है। 

Sheetal Bisht
अन्य़ बीमारियांWritten by: Sheetal BishtPublished at: Feb 27, 2020

कई बार आप पब्लिक प्‍लेस में होने की वजह से या फिर किसी जरूरी मीटिंग या ऐसी जगह हो सकते हैं, जहां टॉयलेट न हों, जिसकी वजह से आपको पेशाब रोकनी पड़ती है। ऐसे में आप तब तक इंतजार करते हैं, जब तक कि आपका पेट फूलकर दर्द न करने लग जाए। वहीं कुछ लोग पेशाब को रोकने की आदत बना लेते हैं और व्‍यस्‍त न होने के बाद भी जबतक जोरों कि पेशाब न आए टॉयलेट नहीं जाते। हालांकि, अधिकांश लोगों के लिए समय-समय पर पेशाब करने की इच्छा का विरोध करना सामान्य है, जबकि एक स्वस्थ व्यक्ति के लिए दिन में चार से दस बार पेशाब करना सही माना जाता है। लेकिन अगर आप नियमित रूप से अपने पेशाब को रोकना शुरू करते हैं, तो यह एक बड़ी मुसीबत बन जाता है। आइए जानते हैं कैसे? 

पेशाब रोकने के नुकसान (Side Effects of Holding Pee)

एक स्वस्थ ह्यूमन ब्‍लैडर लगभग 400 से 500 मिलीलीटर यूरीन या लगभग 2 कप होल्‍ड कर सकता है। कभी-कभी पेशाब रोकना ठी‍क है, लेकिन आमतौर बार-बार पेशाब को रोकना आपके लिए खतरनाक है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि इससे ब्‍लैडर की मांसपेशियां कमजोर हो सकती हैं। यहां नियमित पेशाब रोकने के कुछ नुकसान हैं: 

इसे भी पढें: पानी पीते समय ये 5 गलतियां पहुंचा सकती हैं से‍हत को नुकसान, जानें क्‍या है पानी पीने का सही तरीका?

Holding Pee Side Eefects

पेशाब न रोक पाना (Incontinence of Urine)

आमतौर पर यह समस्‍या उम्रदराज महिलाओं के साथ होती है कि वह अपने यूरीन पर कंट्रोल नहीं कर पाती है। लेकिन यह नियमित रूप से पेशाब रोकने की वजह से भी हो सकता है, जिसमें कि आप पेशाब न रोक पाएं और यूरीन लीक हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है कि यदि आप नियमित रूप से पेशाब नहीं कर रहे हैं, तो आपका ब्‍लैडर कमजोर पड़ना शुरू हो सकता है। जिसके परिणाम स्‍वरूप यूरीन लीकेज या पेशाब न रोक पाने की समस्‍या हो सकती है। 

यूटीआई (Urinary Tract Infection)

यूटीआई महिलाओं में होने वाली आम समस्‍या है, जो कि कई कारणों से होती है, जिनमें से एक कारण पेशाब रोकना भी है। पेशाब रोकने की आदत यूटीआई को जन्‍म दे सकती है क्‍योंकि ऐसा करने से यूरिनरी ट्रैक में इंफेक्‍शन हो सकता है। यदि आपको बार-बार यूटीआई की समस्‍या होती रहती है, तो आप विशेष रूप से इस बात का ध्‍यान रखें। इसके अलावा, आप पर्याप्त पानी और तरल पदार्थों का सेवन करें, क्‍योंकि इनकी कमी से भी यूटीआई होने का खतरा अधिक होता है।

इसे भी पढें: यूटीआई को रोकने में मददगार है क्रैनबेरी जूस, जानें इस्‍तेमाल का तरीका

Holding Pee and UTI

ब्‍लैडर की स्ट्रेचिंग (bladder stretching) 

जब आप नियमित रूप से पेशाब को अधिक समय तक रोक कर रखते हैं, तो इससे आपके ब्‍लैडर में स्ट्रेचिंग यानि मूत्राशय में खिंचाव हो सकता है। ऐसे में ब्‍लैडर स्‍ट्रेचिंग की वजह से आपको पेशाब करने में कठिनाई और बार-बार पेशाब करने की समस्‍या का सामना करना पड़ सकता है। इसके साथ ही यूरीन लीकेज की समस्‍या भी हो सकती है। 

इसे भी पढें: पसीना भी हो सकता है फायदेमंद, त्‍वचा, बालों और मूड को बेहतर बनाने में करता है मदद

यूरिनरी रिटेंशन (Urinary Retention) 

यदि आप पेशाब लगने के समय पर पेशाब नहीं करते और पेशाब को रोक कर रखते हैं, तो इससे यूरिनरी रिटेंशन भी हो सकता है। यूरिनरी रिटेंशन वह स्थिति है, जब आपका मूत्राशय पूरी तरह से खाली नहीं हो पाता। इसमें आपको दर्द और असुविधा होती है और पेशाब करने में परेशानी होती है। इसके अलावा किसी में यूरिनरी रिटेंशन के दौरान पेशाब कर पाने मे कठिनाई तो नहीं होती, लेकिन मूत्राशय पूरी तरह से खाली नहीं हो पाता।

Read More Article On Other Diseases In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK