योगा

योगा - Yoga in Hindi

योग एक प्राचीन भारतीय जीवन-पद्धति (what is yoga in hindi) है। जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने (योग) का काम होता है। योग के माध्यम से (yoga benefits in hindi) शरीर, मन और मस्तिष्क को पूर्ण रूप से स्वस्थ किया जा सकता है। तीनों के स्वस्थ रहने से आप स्‍वयं को स्वस्थ महसूस करते हैं। योग के जरिए न सिर्फ बीमारियों का निदान किया जाता है, बल्कि इसे अपनाकर कई शारीरिक और मानसिक तकलीफों को भी दूर किया जा सकता है। योग प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाकर जीवन में नव-ऊर्जा का संचार (immunity booster yoga in hindi) करता है। योगा शरीर को शक्तिशाली एवं लचीला (yoga for strength and flexibility) बनाए रखता है साथ ही तनाव से भी छुटकारा (yoga for stress and anxiety)दिलाता है जो रोजमर्रा की जिंदगी के लिए बेहद जरूरी है। योग आसन और मुद्राएं तन और मन (yoga for mind and body) दोनों को क्रियाशील बनाए रखती हैं। पर क्या आप जानते हैं कि योग कितने प्रकार (Types of Yoga) के होते हैं।

योग के प्रकार- Types of Yoga

1. राज योग - Raja yoga

योग की सबसे अंतिम अवस्था समाधि को ही राजयोग कहा गया है। इसे सभी योगों का राजा माना गया है, क्योंकि इसमें सभी प्रकार के योगों की कोई न कोई खासियत जरूर है।महर्षि पतंजलि ने इसका नाम अष्टांग योग रखा है और इसके 8 प्रकार होते हैं।

  • यम (शपथ लेना)
  • नियम (आत्म अनुशासन)
  • आसन (मुद्रा)
  • प्राणायाम (श्वास नियंत्रण)
  • प्रत्याहार (इंद्रियों का नियंत्रण)
  • धारणा (एकाग्रता)
  • ध्यान (मेडिटेशन)
  • समाधि (बंधनों से मुक्ति या परमात्मा से मिलन) 

2. ज्ञान योग (Gyan yoga) - ज्ञान योग को बुद्धि का मार्ग माना गया है। इसके जरिए मन के अंधकार यानी अज्ञान को दूर किया जाता है।

3. कर्म योग (Karma Yoga) - कर्म योग को हम इस श्लोक के माध्यम से समझते हैं कि योगा कर्मो किशलयाम यानी कर्म में लीन होना। यानी कर्म ही योग है

4. भक्ति योग (bhakti yoga) - भक्ति का अर्थ दिव्य प्रेम और योग का अर्थ जुड़ना है। ये समर्पण का भाव पैदा करता है और निष्ठा बढ़ाता है।

5. हठ योग (Hatha Yoga) - यह प्राचीन भारतीय साधना पद्धति है। हठ योग के जरिए इन दोनों नाड़ियों के बीच संतुलन बनाए रखने का प्रयास किया जाता है। 

6. कुंडलिनी योग (Kundalini Yoga) - योग के अनुसार मानव शरीर में सात चक्र होते हैं और उसे योग के जरिए एक्टिवेट किया जाता है।

योग के प्रमुख आसन - 20 Types of Yogasana in Hindi

1.स्वस्तिकासन - swastikasana 

2.गोमुखासन -gomukhasana 

3.गोरक्षासन -gorakhshasana

4.अर्द्धमत्स्येन्द्रासन -ardha matsyendrasana

5.योगमुद्रासन - yoga mudrasana

6.कागासन-kagasana or crow pose in hindi

7.सर्वांगासन-sarvangasana in hindi

8. सूर्य नमस्कार-surya namaskar in hindi

9.शीर्षासन-sirsasana benefits hindi

10.हलासना-halasana benefits in hindi

11.धनुरासन या चक्रासन -dhanurasana benefits in hindi

12. स्ट्रेस और एंग्जाइटी में त्रिकोणासन- trikonasana benefits in hindi

13.वृक्षासन के फायदे -vrikshasana benefits in hindi

14.ताड़ासन करने का तरीका और फायदे- tadasana benefits in hindi

15.भुजंगासन के फायदे- bhujangasana benefits in hindi

16.बालासन के फायदे-balasana benefits in hindi

17. उष्ट्रासन के फायदे - ustrasana benefits in hindi

18.पश्चिमोत्तानासन  के फायदे- paschimottanasana benefits in hindi

19.पद्मासन के फायदे- padmasana benefits in hindi

20.वज्रासन के फायदे-vajrasana benefits in hindi

प्राणायाम - Pranayam

  • अनुलोम-विलोम प्राणायाम -Anulom Vilom Pranayam
  • कपालभाति प्राणायाम - Kapalbhati Pranayam
  • भ्रामरी प्राणायाम - Bhramri Panayam

योग क्‍या है, योग कैसे किया जाता है, योग कैसे काम करता है, विभिन्‍न बीमारियों को दूर करने के लिए योग कैसे करें, योग के क्‍या फायदे हैं, मोटापा दूर करने के लिए योग (yoga for weight loss in hindi)और योग के अन्‍य फायदों के बारे में अधिक जानकारी के लिए इस केटेगरी को पढ़ें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK