स्वस्थ खान-पान

स्वस्थ खान-पान (Healthy diet in Hindi)

एक स्वस्थ आहार (Healthy diet in Hindi) शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहज जरूरी है। यह मोटापे, हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, अवसाद और कैंसर के जोखिम और गंभीरता को कम कर सकता है। स्वस्थ आहार का मतलब है कि आप एक संतुलित आहार लें।  पर प्रश्न ये है कि संतुलित आहार क्या है (what is balanced diet) और ये शरीर के लिए क्यों (why does your body need a balanced diet) जरूरी है। दरअसल, संतुलित आहार या बैलेंस डाइट का मतलब ये कि आप ऐसा खाना खाएं, जो कि पोषक तत्वों, विटामिन, खनिज और मिनरल से भरपूर हो। संतुलित आहार में 7 जरूरी चीजें आती हैं। जैसे कि कार्ब, प्रोटीन, वसा, फाइबर, विटामिन, खनिज और पानी।

फैट - Fat
1 ग्राम फैट 9 कैलोरी प्रदान करता है। फैट यानी कि वसा, आंतरिक अंगों की रक्षा करता है, हालांकि, बहुत अधिक वसा हानिकारक हो सकता है। ये स्किन के अंदर नमी लाता है और बुढ़ापे से बचाता है। महिलाओं में पीरियड्स को संतुलित रखने के लिए शरीर में फैट के न्यूनतम स्तर की आवश्यकता होती है क्योंकि वसा कोशिकाएं स्रावित होती हैं और एस्ट्रोजेन के लिए भंडार होती हैं। इसलिए खाने में प्रोसेस्ड फैट की संख्या को सीमित करने की सलाह दी जाती है क्योंकि ये ब्लड में कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा देता है जिससे हृदय रोग और मधुमेह का खतरा भी बढ़ जाता है।

विटामिन - Vitamins
विटामिन हमारे भोजन में पाए जाने वाले जटिल कार्बनिक पदार्थ हैं जो शरीर में लगभग हर प्रणाली का समर्थन करते हैं, जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली, मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र शामिल हैं। उनमें से कई भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करते हैं और शरीर को कार्बोहाइड्रेट, वसा और प्रोटीन का उपयोग करने में मदद करते हैं। वे विकास को विनियमित करने, लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने और हानिकारक मुक्त कणों से शरीर की रक्षा करने में भी मदद करते हैं। शरीर को विटामिन-बी, विटामिन-ए, विटामिन-सी, विटामिन डी, विटामिन के और अन्य प्रकारों के विटामिन की भी जरूरत होती है।

खनिज - Minerals
खनिज वो तत्व होते हैं और मिट्टी में पाए जाते हैं। वे पौधों द्वारा अवशोषित होते हैं और फिर हम इन पौधों से मिलने वाली चीजों को खा कर इसे पाते हैं।  खनिजों की कई अलग-अलग भूमिकाएं हैं, जिनमें संरचनात्मक भूमिकाएं शामिल हैं, जैसे हड्डियों और दांतों में कैल्शियम या द्रव संतुलन और मांसपेशियों के संकुचन में सोडियम और पोटेशियम जैसे नियामक भूमिकाएं।

फाइबर - Fiber
फलों, सब्जियों और अनाज जैसे पौधों में फाइबर पाया जा सकता है। फाइबर दो मुख्य प्रकारों से बना है: घुलनशील फाइबर और अघुलनशील फाइबर। दोनों प्रकार अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं। घुलनशील फाइबर आमतौर पर पौधों की कोशिकाओं में पाया जाता है। यह पाचन को सही रखता है और पेट को स्वस्थ रखता है। घुलनशील फाइबर हानिकारक एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायता करता है। अघुलनशील फाइबर पानी में नहीं घुलता है और पाचन तंत्र से होकर गुजरता है। अघुलनशील फाइबर पाचन तंत्र और आंत्र समस्याओं को रोकने में मदद करता है।

डाइट के प्रकार - types of diet

  • कीटो डाइट - Keto Diet
  • मेडिटेरियन डाइट - Mediterranean Diet
  • डैश डाइट - Dash Diet
  • इंटरमिटेंट फास्टिंग - Intermittent Fasting
  • जीएम डायट प्‍लान - GM Diet
  • लो कार्ब डाइट - Low Carb Diet
  • वेगन डाइट - Vegan Diet
  • वेट गेन डाइट - Weight Gain Diet
  • फैटी लिवर डाइट - Fatty Liver Diet

ऑनली माय हेल्थ के इस कैटेगरी में आप  स्वस्थ खान-पान (Sawasth Khanpan in Hindi) के तहत आप इन सभी मुद्दों और खान-पान की आदतों के विषय में संपूर्ण जानकारी, खाने का सही समय, परिवार के साथ खाना, उम्र के अनुसार खान-पान आदि की जानकारी के बारें में पढ़ेंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK