• shareIcon

High Blood Pressure: शोरगुल भरे माहौल में रहने से बढ़ जाता है लोगों का ब्लड प्रेशर, शोधकर्ताओं ने बताई वजह

लेटेस्ट By जितेंद्र गुप्ता , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Nov 04, 2019
High Blood Pressure: शोरगुल भरे माहौल में रहने से बढ़ जाता है लोगों का ब्लड प्रेशर, शोधकर्ताओं ने बताई वजह

पीएलओएस  वन जर्नल (PLOS One journal)में प्रकाशित एक हालिया अध्ययन के निष्कर्षों में सामने आया है कि शोरगुल भरे माहौल में रहने वाले लोगों का ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें लेख। 

 

क्या आप शोरगुल वाली जगहों पर जाना पंसद करते हैं या फिर आपका घर किसी ऐसी जगह पर हैं, जहां शोर बहुत ज्यादा रहता है। अगर हां तो सावधान हो जाएं क्योंकि यह आपका ब्लड प्रेशर बढ़ा सकता है और आपको हार्ट अटैक देकर आईसीयू में भेज सकता है। पीएलओएस  वन जर्नल (PLOS One journal)में प्रकाशित एक हालिया अध्ययन के निष्कर्षों में इस बात का खुलासा हुआ है। 21, 403 चीनी मजदूरों से प्राप्त डेटा पर किए शोध से ये सामने आया है कि लंबे वक्त तक शोरगुर भरे परिवेश में रहने से ब्लड प्रेशर बढ़ता है। हालांकि इस अध्ययन का दायरा व्यापक है, इसलिए शोर को आधिकारिक तौर पर हाइपरटेंशन का जोखिम भरा कारक घोषित करने के लिए और काम किए जाने की जरूरत है। 

high blood pressure

शोर और ब्लड प्रेशर

मनुष्यों में प्राकृतिक रूप से कुछ अप्रिय घटनाओं के होने से ब्लड प्रेशर बढ़ता है। बहुत से वैज्ञानिकों के लिए लंबे अरसे से एक बड़ा सवाल रहा है कि क्या शोरगुल ब्लड प्रेशर बढ़ा सकता है। इस अध्ययन ने पहली बार इस विषय पर प्रकाश डालने की कोशिश की है। पिछले कुछ अध्ययनों में इस बात की पुष्टि हुई कि ध्वनि प्रदूषण बहरेपन से जुड़ा हुआ है। अब इस अध्ययन ने पुष्टि की है कि बहरापन किसी व्यक्तिगत शोग के संपर्क में आने से भी हो सकता है।

इसे भी पढ़ेंः पुरुषों के खून में यह 2 चीजें बढ़ा देती हैं प्रोस्टेट कैंसर का खतरा, जानें कितना बढ़ जाता है खतरा

high blood pressure

पीएलओएस वन जर्नल में प्रकाशित हुआ अध्ययन

चीन के सिचुआन प्रांत के चेंगडु में 40 साल की औसत उम्र के 21, 403 मजदूरों पर यह अध्ययन किया गया। ऑडियोमैट्रिक टेस्ट का प्रयोग करते हुए विभिन्न स्वास्थ्य पैमाने के साथ उनका ब्लड प्रेशर भी जांचा गया। पिछले निष्कर्षों के मुताबिक, शोरगुल भले माहौल में ज्यादा समय तक काम करने से ये लोग बहरेपन का शिकार होते हैं। अध्ययन के मुताबिक, कम शोरगुल वाली जगहों पर रहने वाले 34 फीसदी लोगों में ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ पाया गया। जबकि ज्यादा शोरगुल वाली जगहों पर रहने वाले 281 फीसदी लोगों में ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ पाया गया। 

इसे भी पढ़ेंः महिलाओं को मूँछे रखने के लिए क्यों प्रेरित कर रहा है ये विज्ञापन? देखें वीडियो

कितने लोग ब्लड प्रेशर से पीड़ित

2019 के आंकड़ों के मुताबिक, 97.2 करोड़ से ज्यादा लोग या फिर विश्व की 26 फीसदी आबादी हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित है। अध्ययनों में इस बात का पुष्टि की गई है कि 2025 तक यह संख्या 29 फीसदी हो जाएगी। हालिया शोध में बड़े पैमाने पर नमूने लिए गए, जिसमें शोरगुल को ब्लड प्रेशर बढ़ने के आधिकारिक कारण के रूप में घोषित करने के लिए और समर्थन की जरूरत पर जोर दिया गया। इसकी पुष्टि हो जाने पर शोरगुल भरे परिवेश में बदलाव और हवाईअड्डे जैसे स्थानों के समीप रहने वाले लोगों को हाइपरटेंशन और ह्रदय रोगों से बचाने के लिए नए तरीके ढूंढने होंगे। 

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK