Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

हर्निया से जुड़ी सावधानियां

अन्य़ बीमारियां
By ओन्लीमाईहैल्थ लेखक , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Nov 21, 2012
हर्निया से जुड़ी सावधानियां

हार्निया पुरुषों में होने वाली एक बीमारी है। इसमें सावधानी नहीं बरतने में यह काफी खतरनाक हो सकती है।

hernia se judi savdhania

हर्निया का दर्द बेहद तकलीफदेह होता है। अधिकतर मामलों में हर्निया त्‍वचा के नीचे ही उभार करते हैं। इस उभार का स्‍थान हर्निया के प्रकार पर निर्भर करता है। कुछ हर्निया में दर्द की टीस मचती है। या किसी में खिंचाव होता तो होता है, लेकिन दर्द नहीं होता। खांसते या शौच के समय आसानी से देखे जा सकते है।

 

एक हर्निया को बंद तब कहते है जब आंत का एक हिस्सा हर्निया में फंस जाता है और पेट में नहीं फिसल पाता है। दुर्लभ रूप से आंत का फंसा हुआ हिस्सा अवरुद्ध हो जाता है। हर्निया के फंसने से आंत का वह हिस्‍सा मर जाता है और इस पर‍िस्थिति में सिवाय शल्‍य चिकित्‍सा के अन्‍य कोई विकल्‍प नहीं बचता। इस हालत में मरीज को तेज दर्द होता है। इस असहनीय दर्द से उसे ऑपरेशन के जरिए ही राहत पहुंचाई जा सकती है।

 

[इसे भी पढ़ें: हर्निया क्या है]

 

 

सावधानियां

 

सामान को सही तरीके से उठाएं

 

किसी भी सामान को सही तकनीक से उठाएं। इसके लिए आप अपने डॉक्‍टर से सलाह ले सकते हैं। डॉक्‍टर के सुझाए तरीकों से ही किसी सामान को उठाएं।

 

[इसे भी पढ़ें: हर्निया के लक्षण]

 

वजन पर काबू रखें

 

अपने वजन को न बढ़ने दें। अधिक वजन आपकी तकलीफ में इजाफा कर सकता है। अगर आपका वजन ज्‍यादा है तो उसे काबू करने की कोशिश करें। किसी आहार-विशेषज्ञ की मदद से अपने लिए उचित आहार-चार्ट भी बनवा सकते हैं।

 

कब्‍ज न होनें दें

 

कब्‍ज आपके दर्द, तकलीफ और बीमारी को बढ़ा सकता है। तो, किसी भी सूरत में अपने पाचन-तंत्र को बिगड़ने न दें। इसके लिए अपने आहार में अधिक मात्रा में फाइबर शामिल करें। साथ ही तरल पदार्थों का सेवन भी अधिक करें। पेट में दबाव बनने पर निवृत होने में देरी न करें। साथ ही आपके लिए नियमित तौर पर व्‍यायाम करना भी जरूरी है। हां, आप कौन सा व्‍यायाम करें इसके लिए उचित चिकित्‍सीय सलाह जरूर लें। ऐसा व्‍यायाम करने से बचना चाहिए जिससे आपकी मांसपेशियों पर जरूरत से ज्‍यादा दबाव पड़ता हो।पुरुषों को अगर पेशाब में जलन महसूस होती हो, तो उन्‍हें फौरन डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए। यह उनके प्रोस्‍टेट ग्रंथि के बढ़ने के लक्षण हो सकते हैं।

Written by
ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
Source: ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभागNov 21, 2012

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK