हर्बल उत्पादों का अधिक सेवन सेहत के लिए हो सकता है घातक, जानें कैसे

हर्बल उत्पादों का अधिक सेवन सेहत के लिए हो सकता है घातक,  जानें कैसे

कैनेडियन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक कुछ हर्बल उत्पादों का अत्यधिक मात्रा में उपयोग करने से हानिकारक दुष्प्रभाव हो सकते हैं। मुलैठी की जड़ से बने उत्पाद रक्तचाप बढ़ा सकते हैं,  जिससे सिरदर्द और सीने में दर्द की शिक

कुछ हर्बल उत्पादों का अत्यधिक मात्रा में उपयोग करने से हानिकारक दुष्प्रभाव हो सकते हैं। कैनेडियन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक हर्बल उत्पादों के भी हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं। इस बात की तसदीक उस वक्त हुई जब कनाडा में एक व्यक्ति मुलैठी की जड़ से बनी होममेड चाय के अत्यधिक सेवन के बाद हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत लेकर अस्पताल पहुंचा।

कनाडा स्थित मैकगिल विश्वविद्यालय की प्रोफेसर जेन-पियरे फैलेट का कहना है कि कुछ हर्बल उत्पादों का अत्यधिक मात्रा में सेवन से हानिकारक दुष्प्रभाव हो सकते हैं । इसके अलावा मुलैठी की जड़ से बने उत्पाद रक्तचाप बढ़ा सकते हैं,  जिससे सिरदर्द और सीने में दर्द की शिकायत हो सकती है।

उन्होंने कहा, ''मुलैठी की जड़ वाले उत्पाद ब्लड प्रेशर बढ़ा सकते हैं, जिससे शरीर में पानी की कमी हो सकती है। और अगर इसका अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो बॉडी में मौजूद पोटेशियम का स्तर भी कम हो सकता है।''

इसे भी पढ़ेंः गर्भावस्था में वेजिटेबल ऑयल और पोटैटो चिप्स का अधिक सेवन बन सकता है परेशानी की वजह, जानें क्यों

शोधकर्ताओं के मुताबिक, कनाडा में रहने वाले 84 वर्षीय नागरिक में उच्च रक्तचाप की शिकायत मुलैठी की जड़ से बनी होममेड टी पीने के बाद पाई गई। उनका रक्तचाप गंभीर रूप से बढ़ता गया और उन्हें सिरदर्द, हाथ-पैरों में झननाहट, सीने में दर्द,  थकान और अन्य की तरह की परेशानियां होने लगीं। 

अध्ययन के मुताबिक, अस्पताल में भर्ती होने और उपचार किए जाने के बाद मरीज ने डॉक्टरों को बताया कि वह पिछले दो सप्ताह से रोजाना एक से दो गिलास मुलैठी की जड़ से बनी होममेड टी पी रहा था। मरीज को पहले से ही हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती थी।   

इसे भी पढ़ेंः दिन में वर्कआउट आपके बच्चे की नींद को बना सकता है बेहतर, जानें कैसे

मुलैठी की जड़ से बनी चाय मध्यपूर्व और यूरोप के कुछ हिस्सों में बेहद ही मशहूर है और रमजान के दौरान मिस्र में इस चाय का अत्यधिक मात्रा में सेवन किया जाता है क्योंकि विशेषकर इन दिनों में ही लोग इसे ज्यादा पीते हैं।

शोधकर्ताओं ने अध्ययन में पाया कि वे मरीज, जिनमें ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करना पाना मुश्किल है और वे लगातार मुलैठी की जड़ का सेवन कर रहे हैं, डॉक्टरों को उनकी स्क्रीनिंग पर विचार करना चाहिए।

Read More Articles On Health News in Hindi

 

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।