रोजाना करने वाली इन गलतियों से हो सकते हैं बहरेपन का शिकार, जानें कैसे करना चाहिए बचाव

Updated at: Jun 01, 2020
रोजाना करने वाली इन गलतियों से हो सकते हैं बहरेपन का शिकार, जानें कैसे करना चाहिए बचाव

अगर आप भी अपने कानों को हमेशा स्वस्थ रखना चाहते हैं तो अपनी इन गलतियों को आज से ही छोड़ दें, नहीं तो हो सकते हैं बहरेपन का शिकार।

Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: Aug 25, 2018

कान में कई तरह की समस्याएं पैदा होती है, जिसमें कान में दर्द, खुजली, रुखापन और कम सुनाई देना। लेकिन इन सबके अलावा बिलकुल सुनाई देना कान की सबसे बड़ी समस्या है जिसे बहरा भी कहा जाता है। बहरे होने के पीछे आपकी ही कुछ गलतियां हो सकती है, जिसपर आपको ध्यान देना बहुत जरूरी है। अक्सर कई लोगों की कुछ ऐसी आदतें होती है जो उन्हें खुद ही संकट में डालने का काम करती है। ऐसे में आपको जरूरत है कि आप अपनी गलतियाें में सुधार करें और अपना बचाव करें। हम आपको बताने जा रहे हैं कि आपकी ऐसी कौन-सी गलतियां है, जिनकी वजह से आप बहरेपन का शिकार हो सकते हैं। 

बहरापन एक आम समस्या है जो सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करती है। हालांकि सुनई देने की क्षमता 30 और 40 साल की उम्र के बीच घटने लगती है, लेकिन सुनाई न देना बहरापन नहीं है। सुनने के नुकसान को रोकने के कई तरीके हैं और कई और मुद्दे जो इसका कारण बन सकते हैं। जहां तक शरीर का संबंध है, कान काफी कम रखरखाव वाला हिस्सा हैं। लेकिन हमारी आदतों से कानों को नुकसान पहुंचाना मुश्किल नहीं है। आइए जानते हैं क्या है वो गलतियां।

hearing loss

लाउड म्यूजिक सुनना (Listening To Loud Music)

कई बार जब कोई ज्यादा खुश होता है या फिर ज्यादा अच्छे मूड में होता है तो वो म्यूजिक को लाउड करके ही सुनना पसंद करता है और कोशिश करता है कि रिफ्रेश हो सके। वहीं, घर पर कई लोगों की आदत होती है कि वो धीमी आवाज में टीवी और रेडियो नहीं सुनते बल्कि हमेशा उसकी आवाज तेज करके ही सुनना पसंद करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है इन गलतियों से ही आपके कानों को धीरे-धीरे नुकसान पहुंचता है। जिसके कारण ध्वनि कंपन महसूस करना मुश्किल हो जाता है। कम आवाज में इन चीजों का आनंद लेना ही एकमात्र तरीका है जो आपके कानों को बचा सकता है।

इसे भी पढ़ें: कान दर्द का कारण कहीं आपकी लापरवाही तो नहीं, जानें 4 जरूरी बातें

डॉक्टर के पास जाने से बचना (Skipping A Doctor’s Visit)

जैसा कि आपने भी कभी अनुभव किया होगा कि कान में किसी प्रकार की समस्या हो रही है, लेकिन अगले दिन आप इस समस्या को हमेशा के लिए भूल जाते हैं जो आपके लिए नुकसानदायक हो सकती है। इसके बजाए आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए और उन्हें अपनी समस्याएं बतानी चाहिए। आपको एक ऑडियोलॉजिस्ट से बात करनी चाहिए। शुरुआती निदान आमतौर पर बेहतर इलाज की तरह ही होता है। अगर आप मानते हैं कि आपके कान स्वस्थ हैं, तब भी आपको नियमित जांच में करानी चाहिए। 
hearing loss

गलत दवा लेना (Taking The Wrong Medication)

कान में दर्द या खुजली के वक्त बहुत से लोग अपने आप ही दवा ले लेते हैं, लेकिन कई बार दवा से भी नुकसान हो सकता है। कई साइड इफेक्ट्स के बीच आप नुकसान की सुनवाई कर सकते हैं। ओटोटॉक्सिक दवाएं कानों के लिए नुकसानदायक हैं, इसलिए ऐसी दवाएं नुकसान का कारण बन सकती है, जो आपके बहरापन का कारण बन सकती है। अगर आपको सुनने में परेशानी हो रही हो तो आपको तुरंत डॉक्टर से इस बारे में संपर्क करना चाहिए, न कि अपने आप से दवा लेनी चाहिए।

Read More Articles On Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK