• shareIcon

Cancer Fighting Foods: कैंसर से बचना है तो सही रखें अपना खानपान, जानें कैंसर से बचाने वाले आहार

कैंसर By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 17, 2019
Cancer Fighting Foods: कैंसर से बचना है तो सही रखें अपना खानपान, जानें कैंसर से बचाने वाले आहार

कैंसर दुनिया के सबसे खतरनाक रोगों में गिना जाता है, क्योंकि हर साल करोड़ों लोग कैंसर के कारण मरते हैं। जानें कैंसर से बचाने वाले आहार जैसे- फल, सब्जियां, हर्ब्स आदि कौन सी हैं। जानें कैंसर से बचाव के लिए डाइट टिप्स।

कैंसर दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी बीमारी है, जिसके कारण सबसे ज्यादा लोगों की मौत होती है। 2018 के आंकड़ों को मानें तो भारत में कैंसर से कुल 7,84,821 लोगों की मौत हुई थी, जिनमें से 4,13,519 पुरुष थे और 3,71,302 महिलाएं थीं। आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत में हर 8 मिनट में एक महिला सर्वाइकल कैंसर से मर जाती है। इसके अलावा महिलाओं में सबसे ज्यादा मौतें ब्रेस्ट कैंसर के कारण होते हैं जबकि पुरुषों में सबसे ज्यादा मौतें मुंह के कैंसर के कारण होती हैं।

ये आंकड़े बताते हैं कि कैंसर दुनिया को दुनिया की सबसे खतरनाक बीमारियों में क्यों गिना जाता है और इससे बचाव करना कितना जरूरी है। हाल में हुए तमाम शोध बताते हैं कि अगर आप अपनी डाइट सही रखें, तो आपको कैंसर का खतरा कम हो सकता है। आइए आपको बताते हैं आपको अपने रोजाना के खानपान में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

Foods-to-Fight-Cancer

प्राकृतिक चीजें ज्यादा खाएं (Foods to Prevent Cancer)

आजकल लोगों में बाजार में मिलने वाले पैकेटबंद आहार, रेस्टोरेंट्स में खाना खाने और प्रोसेस्ड फूड्स खाने का चलन बढ़ गया है। इन फूड्स में कोई भी पोषक तत्व नहीं होते हैं। इसलिए कैंसर से बचने के लिए जरूरी है कि आप ज्यादा से ज्यादा प्राकृतिक चीजें खाएं। बाजार में ढेर सारे फल और सब्जियां मौजूद हैं, इन्हें खाने से आप कैंसर से बच सकते हैं। दरअसल फलों और सब्जियों में ढेर सारे मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं। हरी पत्तेवाली सब्जियां, हल्दी, अदरक, तुलसी, फल, काजू, बादाम, अखरोट आदि खाने से आप कैंसर से बच सकते हैं, क्योंकि इन सभी आहारों में एंटीऑक्सीडेंट्स बहुत होते हैं।

इसे भी पढ़ें:- क्या कैंसर के बाद भी हो सकते हैं बच्चे? जानें कैंसर रोगी कैसे बचा सकते हैं अपनी प्रजनन क्षमता

ये सब्जियां खाएं (Vegetables to Prevent Cancer)

आमतौर पर सभी प्रकार की सब्जियां सेहत के लिए अच्छी होती हैं। अलग-अलग रंगों की सब्जियों में अलग-अलग एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, और ये सभी शरीर के लिए जरूरी हैं। इसलिए रंगीन सब्जियों का सेवन करें। मगर कुछ ऐसी सब्जियां हैं, जिन्हें खाने से कैंसर का खतरा कम हो जाता है, क्योंकि इनमें कैंसररोधी एंटीऑक्सीडेंट्स हैं। ये सब्जियां हैं- ब्रोकली, बंदगोभी, पत्ता गोभी, लहसुन, टमाटर, गाजर, बीन्स आदि। ब्रोकली और बीन्स जरूर खाएं क्योंकि ये तमाम तरह के रोगों को दूर करने में मददगार हैं।

सही मात्रा में मसाले खाएं (Herbs to Prevent Cancer)

भारतीय खाने में स्वाद और सुगंध बढ़ाने के लिए तमाम तरह के मसालों का प्रयोग किया जाता है। अगर आप खाना बनाने के लिए बाजार से रेडीमेड मसाले लेते हैं, तो एक नई आदत डालें। बाजार से खड़े मसाले खरीदें और इन्हें घर पर पीसकर खुद ही मसालों की कंपोजीशन तैयार करें। कई ऐसे मसाले हैं, जिनके रोजाना खाने से आपके शरीर में कैंसर होने की संभावना बहुत कम हो जाती है। इन मसालों में हल्दी, दालचीनी, जायफल, लौंग आदि प्रमुख हैं। यहां यह ध्यान देने की बात ये है कि ये मसाले फायदेमंद तो हैं, मगर आपको बहुत ज्यादा मात्रा में इनका सेवन नहीं करना है। रोजाना थोड़ी-थोड़ी मात्रा में सभी मसाले अपने खाने में डालें।

इसे भी पढ़ें:- किडनी कैंसर से पहले शरीर में दिखते हैं ये 8 लक्षण, रहें सावधान

कौन से फल खाना होता है फायदेमंद (Fruits to Prevent Cancer)

जिस तरह सभी सब्जियां फायदेमंद हैं, उसी तरह सभी तरह के फल भी शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं, क्योंकि अलग-अलग फलों से अलग-अलग महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट्स मिलते हैं और ये सभी जरूरी हैं। मगर कुछ फल ऐसे हैं, जिनके सेवन से कैंसर के खतरे को बहुत कम किया जा सकता है जैसे- सभी तरह की बेरीज खाना फायदेमंद होता है। खट्टे फल- नींबू, संतरा, अंगूर आदि खाएं। इसके अलावा एवोकैडो, कीवी, सेब, अनानास, नाशपाती आदि का सेवन भी करना चाहिए। सप्ताह में 3-4 दिन बेरीज खाने से कैंसर को रोकने में मदद मिल सकती है।

Read more articles on Cancer in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।