Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

ट्वेंटीज में की जाने वाली बड़ी गलतियां

ट्वेंटीज उम्र का अहम पड़ाव होता है। आपका बनना बिगड़ना इसी उम्र में तय होता है। इसलिए जानें उन गलतियों के बारे में जो अक्सर लोग इस उम्र में करते हैं।

एक्सरसाइज और फिटनेस By Anubha TripathiAug 30, 2014

उम्र का अहम पड़ाव

बीस की उम्र हर किसी के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण होती है। यह वो पड़ाव है जो आपके जीवन की आगे की दिशा को निर्धारित करता है। इसी उम्र में आप यह निर्णय लेते हैं कि आपको भविष्य में आखिर करना क्या है। लेकिन इस उम्र में युवा कई बार कुछ ऐसी गलती कर बैठते हैं जिसका खामियाजा उन्हें पूरी जिंदगी भरना पड़ता है। आइए जानें उन गलतियों के बारे में।    

सिर्फ अच्छी पढ़ाई काफी नहीं

अगर आप पढ़ाई में अव्वल हैं, टेलेंटेड है और आपके पास अच्छी यूनिवर्सिटी की डिग्री है तो यह बहुत अच्छी बात है, लेकिन इससे आपको जिंदगी के हर कदम पर सफलता मिले यह जरूरी नहीं है। सफलता के लिए परिश्रम बहुत जरूरी है साथ ही आप दूसरों के साथ कैसा व्यवहार करते हैं यह भी आपकी सफलता में योगदान देता है।

बचत ना करना

युवाओं की सबसे बड़ी गलती यह है कि वह पैसों की बचत नहीं करते है। ऐसे में वह भविष्य में आने वाली जरूरतों को पूरा नहीं कर सकते। अगर वह बचत को जल्दी से जल्दी महत्व देना शुरू नहीं करते तो आगे चलकर उनकी परेशानी का कारण बन सकता है।

खुशियों को पैसे से तौलना

ज्यादातर युवाओं की यह सोच होती है कि अगर उनके पास पैसा है तो वो दुनिया की कोई भी खुशी खरीद सकते हैं। उनकी यह सोच उनके लिए खतरा बन सकती है। यह जरूरी है कि जिंदगी में पैसे की जरूरत हर किसी को होती है लेकिन पैसा ही सबकुछ नहीं होता।

सेहत की अनदेखी

इस उम्र में लोग दोस्तों के साथ देर रात तक पार्टी, शराब और सिगरेट का सेवन करते हैं। उन्हें लगता है कि फैशन के इस दौर में यह सब जरूरी है लेकिन इस उम्र में यह सब ही चीजें सेहत के लिए नुकसानदेह हैं। इस उम्र में भले ही आपको इसका असर ना दिखे लेकिन धीरे-धीरे ये आदतें आपके शरीर को अंदर से खोखला बना देती है।

मुश्किल में हार मानना

रिलेशनशिप खत्म होना, नौकरी से निकाला जाना या फिर कोई अन्य मुश्किल की घड़ी में युवा जल्दी ही हार मान कर बैठ जाते हैं। लेकिन ऐसे वक्त में हिम्मत छोड़ देने की बजाए अगली बार के लिए खुद को तैयार करें और इस बार अपने लक्ष्य को थोड़ा छोटा रखें और अपनी हार को अवसर में बदलें।

आकांक्षाओं को नजरअंदाज करना

यह बहुत बड़ा मिथ है कि आप 30 साल की उम्र से पहले ही जीवन में सफलता हासिल कर लेंगे। इस मिथ को सच करने के लिए युवा अक्सर सफलता के पीछे भागते रहते हैं और अपनी आकांक्षाओं की अनदेखी करते रहते हैं। ऐसा करना ठीक नहीं क्योंकि जीवन में एक वक्त ऐसा आएगा जब आपको यह महसूस होगा कि अब अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने का वक्त बीत चुका है।

जीवनसाथी की तलाश करना

कुछ लोग अपने ट्वेंटीज में सिंगल रहने की ठानते हैं, वहीं कुछ अपने लिए सही जीवन साथी की तलाश करते हैं। जवीन साथी की तलाश करने वाले ज्यादातर लोग फैंटेसी में जीते हैं जबकि सच यह है कि किसी भी सीरियस रिलेशनशिप के लिए समर्पण और समय दोनों ही देना जरूरी होता है।

जगह बदलने से समस्या नहीं सुलझती

घूमने जाना या कहीं और जा कर बस जाना सांस्कृतिक रूप से आपके लिए अच्छा एक्सपीरिएंस हो सकता है, लेकिन यह मत सोचिए कि कहीं चले जाने से या जगह बदल लेने से समस्या का समाधान हो जाएगा। उसके लिए आपको समस्या की जड़ पर काम करना होगा।

हमेशा साथ नहीं रहते दोस्त

आप सोचते हैं कि आपके कॉलेज के दिनों के दोस्त जीवन भर साथ रहेंगे, लेकिन उसमें से कुछ आपके चालीस के पड़ाव तक साथ रहते हैं, वहीं बाकी अपने अपने जीवन में व्यस्त हो जाते हैं। यह समझना बहुत जरूरी है कि हर दोस्त जिंदगी भर साथ रहे यह जरूरी नहीं है।

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK