• shareIcon

क्‍या अधिक व्‍यायाम करना है नुकसानदेह

नियमित एक्सरसाइज शारीरिक वजन को कम करने और उसे निरोग व मजबूत रखने में सहायक होती है, लेकिन जब यही एक्सरसाइज ओवर हो जाए तो काफी नुकसान पहुंचा सकती है।

एक्सरसाइज और फिटनेस By Rahul Sharma / Jun 20, 2015

अधिक व्‍यायाम के नुकसान


'अति हर चीज की बुरी होती है', और ये कहावत एक्सरसाइज पर भी ठीक बैठती है। नियमित एक्सरसाइज शारीरिक वजन को कम करने और उसे निरोग व मजबूत रखने में सहायक होती है, लेकिन जब यही एक्सरसाइज ओवर हो जाए तो काफी नुकसान पहुंचा सकती है। ओवर एक्सरसाइज से मांसपेशियों में दर्द, थकान, कमर दर्द आदि समस्याएं हो जाती हैं। जरूरत से ज्यादा वर्कआउट करने से शरीर रिस्पॉन्ड नहीं करता। वहीं, उचित फायदा भी नहीं मिल पाता है। अगर आपके साथ भी ऐसा ही है तो हो सकता है कि आप भी ओवर एक्सरसाइज कर रहे हैं।

Images source : © Getty Images

ओवर एक्सरसाइज क्या है


ओवर एक्सरसाइज को कम्पलसिव एक्सरसाइज या ओबलीगेटरी एक्सरसाइज भी कहा जाता है। जब तक आप अपने शरीर की जरूरत के अनुसार एक्सरसाइज कर रहे हैं तो आप अपने आपको तरोताजा और फिट महसूस करेंगे, लेकिन जब यही एक्सरसाइज आप एक निश्चित स्तर से ऊपर ले जाते हैं तो आपको कई प्रकार के शारीरिक नुकसान होने की आशंका बन जाती है। इनमें से कुछ नुकसान निम्न प्रकार से हैं -

Images source : © Getty Images

ऑस्टियोऑर्थराइटिस


अगर आप जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं तो आपके घुटनों को क्षति पहुंच सकती है। यही नहीं इससे ऑस्टियोऑर्थराइटिस की संभावना भी बढ़ती है। यूनीवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सान फ्रांसिस्को’ (यूसीएसएफ) के विशेषज्ञ क्रिस्टोफ स्टेलिंग के अनुसार अत्यधिक शारीरिक सक्रियता वाले लोगों के घुटनों में असामान्यताएं विकसित होने का खतरा अधिक होता है और इस तरह इन लोगों में ऑस्टियोऑर्थराइटिस की समस्या भी पैदा हो सकती है।

Images source : © Getty Images

मानसिक स्वास्थ्य


ओवर एक्सरसाइज से आपका मानसिक स्वास्थ्य जरूर बिगड़ सकता है। एक शोध के मुताबिक जरूरत से ज्यादा समय तक व्यायाम करने से मानसिक स्वास्थ्य बिगड़ सकता है, जिससे सोचने, समझने और राय बनाने की क्षमता घट जाती है। रिपोर्ट के अनुसार यह खासकर महिलाओं के लिए अधिक घातक होता है। ऐसी महिलाएं जो जल्दी स्लिम दिखने के लिए अधिक देर तक जिम में समय बिताती हैं उनका मानसिक संतुलन किसी भी उम्र में डगमगा सकता है और उनकी सोचने और समझने की शक्ति क्षीण हो सकती है।
Images source : © Getty Images

ईटिंग डिसऑर्डर


ओवर एक्सरसाइज ईटिंग डिसऑर्डर का कारण बन सकता है। माना जाता है कि शारीरिक व्यायाम के बारे में महज सोचने भर से इन्सान ज्यादा खाना शुरू कर देता है। डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक जो लोग व्यायाम करने के बारे में पढ़ते या सोचते हैं, वह 50 फीसदी ज्यादा खाना शुरू कर देते हैं। ऐसा ‘सबकांशस रिवार्ड थ्योरी’ की वजह से होता है जिसके अनुसार व्यायाम के बाबत जब शारीरिक या मानसिक प्रयास किए जाते हैं तो लोग ज्यादा खाकर खुद को फायदा पहुंचाते हैं।
Images source : © Getty Images

दिल के लिए हानिकारक


जरूरत से ज्यादा व्यायाम आपके दिल के लिए खतरनाक हो सकता है। प्लस वन पत्रिका में छपे एक अध्ययन के मुताबिक ज्यादा व्यायाम करने से कुछ लोगों में दिल को नुकसान पहुंचने की आशंका बढ़ जाती है। शारीरिक क्षमता से ज्यादा व्यायाम करने वाले लोगों में रक्तचाप के स्तर में भी बढ़ोत्तरी होती है जो हृदयाघात के खतरे को बढ़ाता है।
Images source : © Getty Images

ओवर एक्सरसाइज के लक्षण


यदि आप ओवर एक्सरसाइज कर रहे हैं तो आपको खुद में कुछ विशेष प्रकार के लक्षण नजर आ सकते हैं, जैसे हमेशा थकान महसूस होना, मांसपेशियों में दर्द रहना, नींद न आना, सिरदर्द होना, चिड़चिड़ापन होना, तनाव होना, घुटनों को नुकसान पहुंचना, ज्यादा वजन कम करने से शरीर पर स्ट्रैच मार्क आ जाना तथा कमर में दर्द आदि।
Images source : © Getty Images

क्या करें


खुद को स्वस्थ रखने के लिए रोजाना 600 कैलोरी यानी सप्ताह में 3000 कैलोरी बर्न करें। इसके लिए योग, एरोबिक एक्सरसाइज, रनिंग, साइकलिंग, कार्डियो, वेट ट्रेनिंग, फुल बॉडी सर्किट ट्रेनिंग आदि को अपनाएं। इस प्रकार की एक्सरसाइज हर दिन अलग-अलग करीब सप्ताह के पांच या छह दिन रोजाना 30 से 45 मिनट तक करनी चाहिए। ध्यान रखें, हर सप्ताह यदि 3000 से ज्यादा कैलोरी घटायी गयी तो आपको कई प्रकार की शारीरिक बीमारियां हो सकती हैं, साथ ही वर्कआउट के बाद सही मात्रा में पानी पीएं, ताकि आप डिहाइड्रेशन के प्रभाव में न आ सकें।
Images source : © Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK