Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

जानें अब भी क्यों शादी से डरती हैं भारतीय लड़कियां

जमाना बदल गया, सोच बदल गई, रिश्‍ते को देखने के नजरिया भी बदल गया, लेकिन जब बात शादी की हो तो भारतीय लड़कियों को डर लगता है, अगर आपको यकीन नहीं है तो यह स्‍लाइडशो पढ़ें और जानें क्‍या है हकीकत।

डेटिंग टिप्स By Gayatree Verma Mar 29, 2016

शादी से डर के कारण

शादी के बाद मां-बाप बदलते हैं, घर बदलता है, रिश्तेदार बदलते हैं, दोस्त बदलते हैं... सबकुछ बदल जाता है वो भी केवल एक दिन में। वो भी शादी जब भारत में हो तो करियर-आजादी सबकी तिलांजली देनी पड़ती है। ऐसे में भारतीय लड़कियों का शादी से डर लगना लाजिमी है। शादी किसी के लिए फैंटेसी होती है तो किसी के लिए बर्बादी। लेकिन भारतीय लड़कियों के लिए शादी अब भी जिम्मेदारियों का बोझ और पाबंदी की एक गांठ है। शादी के बाद लड़कियों को सामाजिक और आर्थिक, दोनों तरह की स्वतंत्रता की तीलांजलि देनी पड़ती है। इन्हीं के साथ अन्य दूसरे भी वजह हैं जिसके कारण भारतियों लड़कियों को शादी से डर लगता है।

करियर की तिलांजलि

शादी और करियर, महलिाओं के लिए एक साथ नहीं चल सकते। भारतीय लड़कियों को अब भी शादी या करियर में से एक चुनना पड़ता है। करियर छोड़ने का डर, शादी ना करने की सबसे बड़ी वजहों में से एक है। क्योंकि करियर छोड़ना मतलब आर्थिक तौर पर किसी और के ऊपर निर्भर होना।

खत्‍म हो जाती है आजादी

कहां जा रही हो, वो कौन था, ये कौन है, कब तक आओगी,... आदि कई सारे सवालों की झड़ी शादी के बाद लग जाती है। लोग कहते हैं शादी से पहले भी तो मां-बाप पूछते थे, तब लड़कियों को क्यों नहीं समस्या होती? इसका जवाब है, लड़कियों के मां-बाप पूछते नहीं थे, केवल जानते थे कि कहां है और कब आएगी। जानने और पूछने में अंतर है। परिवार के हर सदस्य को एक-दूसरे की जानकारी होना जरूरी है। लेकिन जब आप हर बात पूछने लगे और हर चीज में टोका-टाकी करने लगे तो शुरू होती है पांबदी। और शादी इसी की शुरुआत है।

एक दिन में दुनिया का बदलना

घर दूसरा, मां-बाप दूसरे, भाई-बहन-दूसरे, पड़ोसी दूसरा, ... और अपना कमरा दूसरा जो किसी और के साथ शेयर करना पड़ेगा जिसके बारे में अब तक कुछ भी नहीं जानते थे। गलती से वो बंदा थोड़ा सा भी गलत निकल गया तो पूरी जिंदगी तबाह हो जाएगा। इन बदलावों से जुड़े सारे सवाल डर पैदा करने के लिए काफी हैं।

नहीं मिलता मां का प्यार

मां... मां होती है और सास... सास। खासकर लड़कियों के लिए। क्योंकि लड़कों को तो ससुराल में भी खूब इज्जत मिलती है। और लड़कियों को मिलते हैं ताने। शादी के बाद मां की बात, 'तुम्हारे ससुराल वाले तुम्हारे नखरे मेरी तरह बर्दाश्त नहीं करेंगे' सच हो जाती है। मां का प्यार दुनिया में कहीं नहीं मिलता जो शादी के बाद लड़कियों से छिन जाता है और ये एक डर सबसे बड़ा डर होता है। क्योंकि शादी के बाद नौकरी करने की इजाजत है, पति सही निकल गया, ससुराल सही रहा, सासू मां ठीक है... तो क्या हुआ? मां का प्यार तो छूट ही गया ना।

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK