Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

क्या हाथ धोने के फायदे और इसका सही तरीका जानते हैं आप

अध्ययनों से पता चलता है कि अधिकांश लोग सिर्फ छह सेकेंड ही हाथ धोते हैं, जबकि जानकार मानते हैं कि आपको कम से कम 20 से 30 सेकेण्ड तक हाथ धोने चाहिये। अच्छी तरह हाथ नहीं धोन से कीटाणु पूरी तरह नष्ट नहीं होते। और इससे हमें कई प्रकार की बीमारियां होने का

एक्सरसाइज और फिटनेस By Rahul SharmaJul 09, 2014

क्या आप ठीक से धोते हैं हाथ?

अमेरिका की एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों ने एक अध्ययन के बाद बताया कि ज्यादातर लोग सिर्फ छह सेकेंड ही हाथ धोते हैं। जबकि कम से कम 20 से 30 सेकेंड हाथ धोने चाहिए। और सिर्फ हाथ धोना ही नहीं, सही प्रकार से हाथ धोना भी जरूरी है। क्योंकि बार-बार गलत तरीके से हाथ धोने पर इन जीवाणुओं की प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाती है और फिर इन साबुन में मौजूद जीवाणुरोधी रसायन इन पर असर ही नहीं करते।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

हाथ धोने का सही तरीका

ध्‍यान रखें कि हाथ धोते समय अच्‍छी तरह झाग बनाया जाए। इस दौरान हाथों को दोनों ओर से नाखूनों और उंगलियों के बीच से भी अच्‍छी तरह साफ करें। साफ करने के बाद पानी से अच्‍छी तरह से हाथ धोएं और फिर एक साफ व सूखे तौलिये से हाथ साफ करें।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

लिक्‍विड सोप करें इस्तेमाल

हाथ धोने के लिए लिक्विड सोप का इस्‍तेमाल सबसे अच्छा होता है। यह सामान्‍य साबुन के मुकाबले कीटाणुओं से लड़ने में अधिक शक्तिशाली होता है। यह बार बार अलग - अलग इंसानों के हाथों के सीधे संपर्क में नहीं आता।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

रखें ध्‍यान

शौचालयों, खासतौर पर सार्वजनिक शौचालय के दरवाजे के हैंडल पर भी काफी कीटाणु होते हैं। इसलिए हाथ धोने के बाद सीधा इन हैंडलों को न छुएं। ऐसा करने से उस पर मौजूद कीटाणु आपके हाथ पर लग जाएंगे और फिर हाथ धोने का कोई फायदा नहीं होगा। किसी चीज से पकड़ कर दरवाजा खोलें।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

कब-कब धोयें हाथ

अपने बच्‍चे को सिखायें और खुद भी आदत डालें कि शौच के बाद, खाने से पहले और बाद हमेशा हाथ साबुन से जरूर धोयें। यह एक अच्‍छी आदत है और इससे आपका स्‍वास्‍थ्‍य भी अच्‍छा रहता है।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

कितनी देर धोएं हाथ

साबुन से अच्‍छी तरह झाग बनाकर करीब 20 सेकेंड तक हाथ धोना चाहिेए। जरूरी नहीं कि आप हमेशा ही एंटी बैक्‍टीरियल साबुन का ही इस्‍तेमाल करें। किसी भी साबुन से ठीक प्रकार हाथ धोने पर वह कीटाणुओं को मारने में कारगर हो सकता है।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

हाथ गुनगुने पानी से धोएं

हाथ अगर गुनगुने पानी से धोए जाएं तो सबसे अच्छा रहता है। इससे अधिक संख्‍या में कीटाणु मरते हैं और हाथ भी कोमल और कीटाणुरहित बनते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि पानी अधिक गर्म न हो। अधिक गर्म पानी से त्‍वचा को नुकसान हो सकता है।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

साफ तौलिये का उपयोग करें

हाथ अच्छी तरह धोकर उसे पहने हुए कपड़ों, जेब में रखे रूमाल अथवा आंचल आदि से नहीं पोंछना चाहिए। इनमें कीटाणु मौजूद होते हैं, जो गीले हाथों में चिपक जाते हैं। इ सके लिए साफ-सुथरा ठीक प्रकार सुखाए हुआ तौलिया ही प्रयोग करें।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

हाथ ऊपर की ओर सुखाएं

अमूमन लोग साबुन से हाथ धोकर हाथों में बचे पानी को नीचे की ओर बहने देते हैं। इससे हथेलियों के कीटाणु उंगलियों की पोर में आ आते हैं। इसलिए हाथ धोकर हाथों को थोड़ी देर कर ऊपर की ओर रखना चाहिए।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

धोने के बाद

हाथ धोने के बाद उसे तौलिये से पोंछ लें। लेकिन इस बात का ध्‍यान रखें कि आपका नन्हा बच्‍चा या आप जिस तौलिये से हाथ साफ कर रहा है वह साफ और सूखा है। गंदे तौलिये से हाथ साफ करने से बच्‍चे के हाथ पर दोबारा कीटाणु जमा हो सकते हैं।
Image courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK