• shareIcon

क्योंकि हार कर जीतने वाला होता है बाजीगर

कई बार जिंदगी में ऐसी परिस्थिति आती हैं जब जीतना ही सब कुछ नहीं होता। हार कर आपको कुछ ऐसा मिल जाता है जो जीतने से कहीं ज्यादा होता है। जैसे कि किसी से बच्चे से हार जाना और उसकी मुस्कान जीत लेना।

एक्सरसाइज और फिटनेस By Shabnam Khan / Jan 14, 2015

कभी-कभी हार जाना भी है जरूरी

"कभी-कभी कुछ जीतने के लिए कुछ हारना भी पड़ता है, और हार कर जीतने वाले को बाजीगर कहते हैं!" शाहरुख खान ने फिल्म बाज़ीगर ये डायलॉग कहा था। ये मजह एक फिल्मी डायलॉग नहीं, बल्कि जिंदगी की सच्चाई भी है। हम सबकी जिंदगी में कुछ मौके ऐसे भी आते हैं जब कुछ हार जाने से हमें बहुत कुछ हासिल हो जाता है। जानते हैं ऐसे ही दस मौकों के बारे में।

Image Source - Getty Images

बच्चे से खेल हारना

बच्चे के चेहरे पर हंसी किसे अच्छी नहीं लगती? कई बार बच्चों के चेहरे पर हंसी लाने के लिए आपको उन्हें जीतने देना चाहिए। फर्ज कीजिए आप किसी छोटे बच्चे के साथ पंजा लड़ाने का खेल खेल रहे हों, अब ईमानदारी से खेलेंगे तो बच्चा आपसे कहां जीतेगा? लेकिन बच्चे से जीतकर आपको क्या मिलेगा? कुछ नहीं। बल्कि अगर बच्चे से आप हार जाएं तो आपको उसकी खिलखिलाती हंसी जरूर मिल जाएगी।

Image Source - Getty Images

बेघर और गरीब को कपड़े देना

भले ही एक बड़ा और भरापूरा वॉर्डरोब आपकी शान को बढ़ा सकता है। दोस्तों के सामने आपको अमीर दिखा सकता है। लेकिन ध्यान रहे, आपके लिए ये सिर्फ फैशन और रुतबे की बात है। किसी बेघर और गरीब इंसान के लिए कपड़े तन ढकने का सवाल हो सकते हैं। इसलिए अगर आप उन्हें अपने कलेक्शन से निकालकर कुछ कपड़े देंगे तो ये आपके लिए एक ऐसी हार होगी जिसमें आपको इनाम में दुआएं मिल जाएंगी।

Image Source - Getty Images

किसी खास के साथ लड़ाई में हार जाना

जीतने-हारने की लड़ाई उनसे होती है जो आपके दुश्मन होते हैं, लेकिन जो आपके अपने हैं, आपके करीबी, उनसे लड़ाई में जीतकर आपको क्या मिलेगा? आखिर आपकी खुशियां और गम उन्हीं से जुड़े हुए हैं। इसलिए अगली बार जब ऐसा मौका आए कि आप अपने किसी करीबी से लड़ रहे हों, तो उन्हें जीतने दें। देखियेगा, उनकी मुस्कुराहट आपके चेहरे पर उतर आएगी।

Image Source - Getty Images

देर तक अंताक्षरी के बाद आवाज खो जाना

आपके घर में आपके भाई की शादी के फंक्शन चल रहे हैं, पूरा खानदान सालों बाद एक साथ है। ऐसे में रात भर अंताक्षरी का दौर चलता है जिसमें आप पूरा मन खोल कर गा रहे हैं। रातभर अंताक्षरी खेलने के बाद अलगे दिन सुबह भले ही आपकी आवाज खो जाए, लेकिन आपको जरा सा भी दुख नहीं होगा। बल्कि आप अपनी दबी हुई आवाज में बारात में आए सभी मेहमानों को पिछली रात के अंताक्षरी प्रोग्राम के बारे में बताएंगे।

Image Source: http://i.ytimg.com

उस दोस्त को मनाना, जिसने गलती की थी

आप जानते हैं कि गलती आपके दोस्त की थी। लेकिन आपका दोस्त गलती करने के बावजूद नाराज होकर बैठा है। वो ऐसा दोस्त है जिससे बिना बात किए आपका कोई दिन नहीं गुजरता और जिसके बिना आपका वीकेंड 'वीकेंड' नहीं होता। ऐसे दोस्त के सामने हार मान लेना, और उसे खुद मनाना भी आपको खुशी ही देगा।

Image Source - Getty Images

किसी चीज का डर चले जाना

आपने स्टेज पर कभी परफॉर्म नहीं किया। स्टेज पर जाने के नाम से आपके पैर ही नहीं बल्कि आप पूरा कांपने लगते हैं। जबान साथ नहीं देती और आंखें किसी से मिल नहीं पाती। लेकिन ऐसे डर को खो देना आपके लिए बहुत जरूरी है। अगर आप चाहते हैं कि आपका अपने ऊपर विश्वास बढ़ जाए तो अपने डर को छोड़कर एक बार स्टेज पर जाने की हिम्मत तो कीजिए, तब आप समझेंगे आप जिंदगी के किस रोमांच से दूर थे अब तक! ऐस और बहुत से डर हैं, ऊंचाई से डर, गहराई से डर, भीड़ से डर... इन सब डरों को हार कर आप जिंदगी को जीत सकते हैं।

Image Source - Getty Images

किसी बहस में पेरेंट्स से हार मानना

हमारी जिंदगी में ऐसी बहुत सी बातें होती हैं जिन पर से हमारा यकीन कभी नहीं उठता। ऐसी ही एक बात ये भी है कि हम सब जानते हैं हमारी चिंता हमारे मां-बाप से ज्यादा कोई नहीं कर सकता। इसलिए अगर आप किसी बहस में इस बात को याद रखकर हार मान लें, तो भी आपको कोई नुकसान नहीं होगा। बल्कि आप उनका दिल जीत लेंगे।

Image Source - Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK