• shareIcon

नाखूनों से जानें अपनी सेहत का राज

आपके नाखूनों का बदलता रंग आपकी सेहत के बारे में बहुत कुछ बयान कर देते हैं। अगर हम ये कहें की नाखून आपके सेहत का हाल बयान करते हैं तो ये गलत नहीं होगा। जानिए नाखूनों से कैसे मिलता है स्वास्थ्य का संकेत।

त्‍वचा की देखभाल By Pooja Sinha / May 01, 2014

नाखूनों से सेहत

क्‍या आप जानते हैं कि नाखून सुंदरता बढ़ाने के साथ आपकी सेहत के बारे में भी बताते हैं। हाल ही में हुए शोध के अनुसार, नाखूनों को देखकर आपकी सेहत के बारे में पता लगाया जा सकता है। दुनियाभर में हुए कुछ शोधों के अनुसार यह तथ्य प्रमाणित हो चुका है कि विभिन्न बीमारियों में नाखूनों का रंग बदल जाता है। जैसे सफेद रंग के नाखून लीवर से संबंधित बीमारियों जैसे हेपेटाइटिस की खबर देते हैं। इस स्‍लाइड शो के माध्यम से आप जानेंगे कि नाखूनों और आपकी सेहत में क्या संबंध है।

स्वास्थ्य का संकेत

आमतौर पर लोग नाखूनों की देखभाल को तवज्जो देना भूल जाते हैं। जबकि नाखून खूबसूरती का अहम हिस्सा होने के साथ ही स्‍वस्‍थ होने का भी अहसास कराते हैं। नाखूनों में किसी भी प्रकार का कोई परिवर्तन हो तो स्वास्थ्य के प्रति सचेत हो जाना चाहिए। आपके नाखूनों का बदलता रंग आपकी सेहत के बारे में बहुत कुछ बयान कर देते हैं। अगर हम ये कहें की नाखून आपके सेहत का हाल बयान करते हैं तो ये गलत नहीं होगा। जानिए नाखूनों से कैसे मिलता है स्वास्थ्य का संकेत। Image courtesy: coviet.vn

पीले नाखून

पीले रंग के नाखून जो आकार में मोटे हो और धीरे-धीरे बढ़ते हो, फेफड़े संबंधी बीमारियों के परिचायक होते हैं। साथ ही नाखूनों का पीलापन फंगल इन्‍फेक्‍शन और कुछ मामालों में थायरॉयड, सिरोसिस जैसी त्‍वचा की समस्‍या जैसे गंभीर रोगों का भी लक्षण हो सकता है। इसके अलावा नाखूनों का पीलापन पीलिया के लक्षण को भी बताता है। Image courtesy: nationalnailfungus.org

आधे सफेद और आधे गुलाबी नाखून

आधे सफेद और आधे गुलाबी नाखून किडनी से संबंधित बीमारियों का संकेत देते हैं। इसके अलावा यदि आपके नाखूनों की  पर्त सफेद है तो यह लक्षण शरीर में खून की कमी (एनीमिया) का लक्षण होता है। Image courtesy: www.webmd.com

नाखूनों में सफेद धब्‍बे

कई बार आपने देखा होगा कि आपके नाखूनों में सफेद धब्‍बे नजर आने लगते हैं। और धीरे-धीरे नाखूनों पर सफेद धब्बे बढ़ने  लगते हैं, यह पीलिया या लिवर संबंधी अन्य रोगों की ओर इशारा करते हैं। Image courtesy: www.webmd.com

कमजोर नाखून

कमजोर या नाजुक नाखून शरीर में कैल्शियम की कमी को दर्शाते हैं। इसके अलावा अगर ये सूखे हो या बहुत जल्दी टूट जाएं, तो यह आपके शरीर में विटामिन 'सी', फोलिक एसिड, और प्रोटीन की कमी को दर्शाता है। इसके अलावा आपको थायराइड की समस्या हो सकती है। Image courtesy: webmd.com

हल्के पीले नाखून या फीके नाखून

नाखूनों का रंग बहुत ज्‍यादा फीका पड़ना, उसमें हल्‍का पीलापन दिखना या नाखूनों का बहुत अधिक कमजोर होना अनीमिया या‍नी खूनी की कमी, कन्जेस्टिव हार्ट फेलियर, लिवर संबंधी रोग के लक्षण हो सकते हैं। Image courtesy: www.knowzzle.com

उभारयुक्त नाखून

इस स्थिति में नाखून असाधारण ढंग से ऊपर की और उठ जाता है और उंगली के सिरों के चारों ओर मुड़ जाता है। इस तरह के नाखूनों से आपको किडनी से संबंधित बीमारी हो सकती है। ये विटामिन ए और प्रोटीन की कमी को भी दर्शाते हैं। Image courtesy: en.allexperts.com

भूरे या काले धब्बे

भूरे या काले धब्बे आमतौर पर नाखून के आस-पास की खाल पर फैल जाते हैं। यह एक बड़ा धब्बा या छोटे-छोटे निशान भी हो सकते हैं। इस तरह के धब्‍बे हाथ और पैर के अंगूठों पर होते हैं। यह धब्‍बे त्वचा या आंख की रसौली की ओर इशारा करते है। Image courtesy: webmd.com

नाखूनों में नीलापन

कई बार शरीर में ऑक्‍सीजन का संचार ठीक प्रकार से नहीं होता है जिसके कारण नाखूनों का रंग नीला होने लगता है। नाखूनों को नीला होना फेफड़ों में संक्रमण, निमोनिया या दिल से संबंधित किसी रोग का लक्षण हो सकता है। Image courtesy: singletrackworld.com

ऐसे रखें नाखूनों को स्‍वस्‍थ

नाखूनों की समय-समय पर सफाई करें और उनकी जैतून के तेल से मालिश करें। इसके अलावा अपने खान-पान का भी ध्‍यान रखें। अपने आहार में विटामिन बी-7, ए, पोटेशियम, फॉस्फोरस युक्त आहार लें। यह आपको दाल, सब्जियों, रेड मीट, मछली और दूध के उत्पादों में प्रचुर मात्रा में मिलता है। इसके अलावा फलियां, अंडे और सलाद के रूप में कच्ची सब्जियां खाएं। इनमें जिंक होने की वजह से नाखून मजबूत होते हैं। Image courtesy: Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK