Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

एक्सरसाइज बंद करने पर स्वास्थ्य को होते हैं ये 6 नुकसान

एक बेहतर ट्रेनिंग प्रोग्राम अपना कर कमाल की फिटनेस और फिजीक पाई जा सकती है, लेकिन अचानक से वर्कआउट छोड़ देने पर इसके विपरीत परिणाम भी झेलने पड़ते हैं, कभी-कभी तो जल्द ही।

एक्सरसाइज और फिटनेस By Rahul SharmaApr 26, 2016

वर्कआउट बंद करने के नुकसान

एक बेहतर ट्रेनिंग प्रोग्राम अपना कर कमाल की फिटनेस और फिजीक पाई जा सकती है, लेकिन अचानक से वर्कआउट छोड़ देने पर इसके विपरीत परिणाम भी झेलने पड़ सकते हैं, कभी कभी तो तत्काल प्रभाव से भी। विशेषज्ञों इसे "डिट्रेनिंग" कहते हैं। इसके कारण आपका मोटापा काफी बढ़ सकता है। लेकिन अच्छी बात तो ये है कि दौबारा जिम जाना शुरू कर इस समस्या से निपटा जा सकता है। तो चलिये जानते हैं कि अचानक वर्कआउट बंद कर देने के शारीर पर क्या प्रभाव पड़ते हैं और इन प्रभावों से उबरने में कितना समय लग सकता है।   
Images courtesy: © Getty Images

रक्तचाप बढ़ जाता है

एक्सरसाइज करने के दिनों के मुकाबले एक्सरसाइज न करने के दिनों में ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। एक्सरसाइज छोड़ने के मात्र दो हफ्ते बाद से ही रक्त वाहिकाएं गतिहीन जीवन शैली के अनुकूल हो जाती हैं और रक्त का प्रवाह धीमा करने लगती हैं। हालांकि दोबार एक्सरसाइज शुरू करने के कुछ समय बाद से रक्त प्रवाह ठीक होने लगता है।
Images courtesy: © Getty Images

ब्लड शुगर बढ़ जाता है

साधारतः ब्लड ग्लूकोज़ भोजन करने के बाद बढ़ता है, और फिर मांसपेशियों और अन्य ऊतकों के द्वारा ऊर्जा के लिए शुगर का अवशोषण किये जाने के बाद स्तर गिर जाता है। स्पोर्ट्स एंड एक्सरसाइज मेडिसिन एंड साइंस के जर्नल की एक शोध के अनुसार लेकिन एक्सरसाइज छोड़ने के 5 दिनों के बाद भोजन के बाद भी रक्त शर्करा का स्तर ऊंचा ही रहता है। हालांकि एक हफ्ते एक्सरसाइज करने के बाद इसमें सुधार आने लगता है।
Images courtesy: © Getty Images

जल्दी थकान होना

जिम जाना छोड़ने के दो हफ्तों के भीतर ही कुछ सीड़ियां चढ़ने में ही सांस फूलने लगती है। एक्सरसाइज फिजियोलॉजिस्ट स्टेसी सिम्स के अनुसार आपका VO2 ( फिटनेस का एक ऐसा माप जिससे मांसपेशियों द्वारा उपयोग की जा रही ऑक्सीजन का आंकलन किया जाता है) 20 प्रतिशत तक कम हो जाता है। ऐसा माइटोकॉन्ड्रिया में कमी आजा ने के कारण होता है। हालांकि आप उन माइटोकॉन्ड्रिया का पुनर्निर्माण कर सकते हैं, लेकिन यह कम होने में ल गे समय की तुलना में पुनर्निर्माण में अधिक समय लेगें।
Images courtesy: © Getty Images

मांसपेशियों कमज़ोर होना

एक बार एक्सरसाइज बंद कर देने के बाद शक्ति सहनशक्ति कम हो जाती है। लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने आलसी बने हैं। एक्सरसाइज छोड़ने के थोड़े समय बाद से ही आपके बाइसेप्स आदि सिकुड़ने लगते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

मोटे होने लगते हैं

एक्सरसाइज छोड़ने के एक सप्ताह के भीतर ही मोटापा भी बढ़ने लगता है। आपकी मांसपेशियों की वसा जलने की क्षमता का कम होने लगती है और चयापचय धीमा भी धीमा होने लगता है। हालांकि खान-पान पर थोड़ा नियंत्रण कर व एक्सरसाइज दोबारा आरम्भ कर इस पर काबू पाया जा सकता है।  
Images courtesy: © Getty Images

मस्तिष्क पर प्रभाव

एक्सरसाइज छोड़ने के दो हफ्ते बाद से ही थकान आदि अधिक होते हैं और तनाव भी अधिक महसूस होता है। एक्सरासइज से दिमाग काफी हद तक स्वस्थ बना रहता है। एक्सरसाइज की मदद से डिप्रेशन से लड़ा जा सकता है।
Images courtesy: © Getty Images

अन्य कई रोगों का जोख़िम

ब्रिटिश स्वास्थ्य पत्रिका लैन्सेट में छपे एक शोध के मुताबिक एक्सरसाइज ना करने से दिल का दौरा, मधुमेह और कोलोन कैंसर जैसी बीमारियां हो सकती हैं। रिपोर्ट में विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ ने कहा कि एक्सरसाइज ना करने और आलस्यपूर्ण जीवन शैली के कारण दुनिया भर में हर साल लगभग 50 लाख लोगों की मौत होती है।
Images courtesy: © Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK