• shareIcon

स्‍टाइ के उपचार के आसान और सुरक्षित घरेलू तरीके

स्टाई आंख के चारों ओर होने वाला एक संक्रमण होता है, लेकिन सौभाग्य से, आप स्‍टाइ का इलाज करने के लिए कई प्राकृतिक तरीकों का उपयोग कर सकते हैं।

घरेलू नुस्‍ख By Rahul Sharma / Nov 26, 2014

घर पर आई स्टाइ का उपचार

स्टाई दरअसल आंख के चारों ओर होने वाला एक संक्रमण होता है, जोकि आइलेशिज़ पर बाल कूप के भर जाने या अवरुद्ध हो जाने के कारण होता है। यह दर्दनाक होता है और छोटे लाल उभार जैसा दिखाई देता है। सौभाग्य से, आप स्‍टाइ का इलाज करने के लिए कई  प्राकृतिक तरीकों का उपयोग कर सकते हैं।
(Image source:Gettyimages.in)

सोना

18 कैरेट या इससे अधिक गुणवत्ता वाला सोना स्‍टाइ के उपचार में मददगार हो सकता है। बस इसके लिए किसी सोने के गहने को बड़े सतह क्षेत्र की तरफ से स्टाई पर 10 से 15 मिनट के लिए दिन में दो बार रखें।   
(Image source: Gettyimages.in)

टी बैग

स्‍टाइ के इलाज व इससे होने वाली परेशानी को दूर करने के लिए, आप इस पर एक गर्म व नम टी बैग संक्रमित जगह पर रख सकते हैं। एक गर्म चाय के लिए टी बैग का इस्तेमाल करने के बाद इन्हें ठंडा होने दें। और फिर आंख पर इसे कुछ मिनटों के लिए रखें ताकी टेनिक एसिड वहीं सोखा जा सके।   
(Image source:Gettyimages.in)

आलू का पेस्ट

नरम होने तक आलू को उबाल लें या सेंक लें। इसके बाद इसका पेस्ट बना लें और उसमें थोड़ा सा पानी मिलाएं। फिर इस पेस्ट को आंख पर स्‍टाइ वाली जलह पर फैलाकर लगा लें। यह उपचार सूजन और जलन को भी कम करता है।
(Image source:Gettyimages.in)

डेंडेलियन टी (Dandelion Tea)

दुनिया भर में स्वास्थ्य के प्रति उत्साही व उत्कृष्ट हर्बल उपचार के लिए डेंडेलियन चाय का उपयोग किया जाता है। आप भोजन के बाद दिन में दो बार, दो कप डेंडेलियन टी का सेवन कर स्‍टाइ के लिए ज़िम्मेदार बेक्टीरिया को मार सकते हैं।
(Image source:Gettyimages.in)

गर्म सेक

दिन में दो बार हल्के गर्म कपड़े से स्‍टाइ की जगह पर सिकाई करने से इस समस्या से जल्द निजात मिल सकती है। 10 मिनट किये जाने वाले इस उपचार में आपको दो से तीन बार सिकाई के कपड़े को गर्म करना होता है।
(Image source:Gettyimages.in)

हर्ब्स

आप सेक लगाने के पानी को और भी ज्यादा प्रभावी बना सकते हैं, बशर्ते आप इनमें कुछ हर्ब्स मिला दें। इसके लिए अजमोद, बबूल की पत्तियों तथा बांचा की पत्तियों को 10 मिनट तक उबालें और फिर सिकाई के लिए इस्तेमाल करें।
(Image source:Gettyimages.in)

रेंड़ी का तेल (कैस्‍टर ऑयल)

कैस्‍टर ऑयल कई प्रकार के रोगों के इलाज के लिए दुनिया भर में प्रयोग किया जाता है। जिनमें से स्‍टाइ भी एक है। उपचार के लिए कैस्‍टर ऑयल में रूई को हल्का सा भिगो लें और फिर दिन में दो बार स्टाई पर लगाएं। आप इसे सिकाई करने के बाद भी कर सकते हैं।  
(Image source:Gettyimages.in)

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK