Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

सुबह की शानदार शुरूआत करने के आसान तरीके

सुबह जल्‍दी उठने की आदत आपको स्वस्थ, समृद्ध और बुद्धिमान बनाती हैं। यह बात हम सभी जानते हैं और इसके लिए जल्‍दी उठने के लिए कई तरह की योजना भी बनाते हैं। अगर सुबह की शुरूआत शानदार हो तो पूरा दिन अच्‍छा बीतता है।

मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य By Pooja SinhaJun 24, 2014

सुबह जल्‍दी उठने के उपाय

सुबह जल्‍दी उठने की आदत आपको स्वस्थ, समृद्ध और बुद्धिमान बनाती हैं। यह बात को हममे से ज्‍यादातर लोग जानते हैं। इस समय किए गए कार्य से हम आसानी से अपने जीवन के लक्ष्‍यों को प्राप्‍त कर सकते हैं। हम दिन के दूसरे समय की तुलना में सुबह एक्‍सरसाइज, पढ़ाई, काम और ध्‍यान आदि बेहतर तरीके से कर सकते हैं। और इसके जल्‍दी उठने के लिए कई तरह की योजना भी बनाते हैं। लेकिन सारी योजना सुबह के समय गायब हो जाती है।  image courtesy : getty images

क्‍यों जगाना चाहते है?

एन आर्बर में मिशिगन यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञ मिशेल सेंगर, पीएच.डी., के अनुसार अपने जीवन में कोई भी स्टिक परिवर्तन करने से पहले यह स्‍पष्‍ट करना बहुत जरूरी है कि आप यह परिवर्तन क्‍यों चाहते हैं, यह आपके लिए क्‍यों महत्‍वपूर्ण हैं और आपकी प्रेरणा क्या है? image courtesy : getty images

मानसिक तैयारी

सुबह जल्‍दी उठने के लिए सबसे जरूरी हैं कि आप स्‍वयं को इसके लिए मानसिक रूप से तैयार करें। ऐसा करने से आपका किसी को भी जागने की जरूरत नहीं पड़ेगी आप स्‍वयं ही अलार्म से पहले उठ जायेगें। इसके लिए जल्‍दी जागने के फायदों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी हासिल करें।  image courtesy : getty images

जल्दी सोने का प्रयास करें

देर रात तक टीवी और इंटननेट पर बैठने के कारण आपको देर से सोने की आदत होगी लेकिन यदि आपको सवेरे जल्‍दी उठना है तो आदत बदलनी होगी। अगर आपको जल्द नींद न भी आती हो तो भी समय से कुछ पहले बिस्तर पर लेट जायें। भरपूर और अच्‍छी नींद लेने के लिए जल्‍दी सोने का प्रयास कीजिए।

image courtesy : getty images

अलार्म को पलंग से दूर रखें

रात में सोने से पहले अलार्म घड़ी को जरूर सेट कीजिए। आप अपनी घड़ी या मोबाइल में अलार्म लगाकर उसे अपने पास रखते हैं। तो सवेरे अलार्म बजने पर आप उसे बंद क़र फिर से सो जाते हैं। इसलिए उसे अपने बैड से कुछ दूरी पर रखें ताकी आपको उसे बंद करने के लिए उठना ही पड़े। और एक बार बैड से उठने के बाद अक्‍सर नींद खुल जाती है।  image courtesy : getty images

सुबह के तेज प्रकाश को आने दें

आपके फ्लैट स्क्रीन टीवी की चमकदार रोशनी आपकी नींद में बाधा डाल सकती है। लेकिन खिड़की से आता उज्‍जवल प्रकाश आपको सुबह उठने के लिए प्रेरित कर सकता है। इसलिए रात में सोने से पहले अपनी खिड़कियों को खोल दीजिए, ताकि सुबह की पहली रोशनी आपके कमरे में जरूर प्रवेश करे।

image courtesy : getty images

उधेड़बुन से दूर रहें

यदि आप उठने के बाद इसी उधेड़बुन मे लगे रहे कि उठें या न उठें तो आप उठ नहीं पाएंगे। इसलिए बिस्तर पर लेटे रहने का खयाल मन में आने ही न दें। अपने दिमाग को उलझनों से दूर रखें और इस काम को बिना सोचे-समझें करें, यानी बिना दिमाग पर जोर डाले एक ही झटके में बिस्‍तर को गुड बॉय बोल दें।

image courtesy : getty images

बिस्तर पर जाने से पहले खाना न खाये

रात को खाना सोने से कम से कम 2 घंटे पहले कर लेना चाहिए। रात को खाना खाकर एकदम सोने से आप पूरी तरह सो नहीं पायेगें क्‍योंकि आपके अंगों ने भोजन को ठीक से नहीं पचाया है।  खाना खाकर तुरंत सोने की आदत से दूर रहें, इससे खाना अच्‍छे से नहीं पचेगा और आपको कब्‍ज की शिकायत हो जोयगी। जो आपकी नींद में खलल डाल सकती है।

image courtesy : getty images

स्‍वयं को पुरस्‍कृत करें

आपको जल्‍दी उठने के लिए स्‍वयं को पुरस्‍कृत करना चाहिए। इस‍के लिए स्वादिष्ट नाश्ता बनाकर खाना या सूर्योदय देखना या ध्यान करना आपका इनाम हो सकता है। साथ ही कुछ ऐसा ढूंढें जिसमें आपको वास्तविक आनंद मिलता हो और उसे अपनी सुबह की दिनचर्या का हिस्‍सा बना लें।  image courtesy : getty images

सोने का एक ही समय निश्चित करें

आप नियमित रूप से एक ही समय पर सोने की आदत डाले। आपकी बॉडी इसे अधिक आसानी से संभाल लेगी अगर आप एक सिरकेडियम रिद्धम (24 घंटे के अंतराल पर होने वाली जैविक प्रक्रियाओं से संबंधित) का इस्‍तेमाल करते है।  image courtesy : getty images

ताजी हवा के साथ नींद

सोने से पहले थोड़ा टहलें, क्‍योंकि बाहर की शुद्ध और ताजी हवा आपके मन और तन दोनों के लिए अच्‍छी है। यह आपके शरीर में ऑक्‍सीजन के स्‍तर को बढ़ता है जिससे आप गहरी नींद लेते हैं, और गहरी नींद लेने के बाद जब सुबह उठते हैं तो खुद को फ्रेश महसूस करते हैं।

image courtesy : getty images

सप्‍ताहांत में ज्‍यादा न सोये

एक की तरह की नींद पैटर्न के साथ सप्‍ताह के छह दिन सोने और सप्ताहांत में लंबे समय तक सोने से आपको नींद पैटर्न टूट जाता है और इसे आपके शरीर की घड़ी पसंद नहीं करती हैं। इसलिए सप्‍ताहांत में भी सोने के लिए उसी पैटर्न को अपनाये।

image courtesy : getty images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK