Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

खुश रहना है तो रहें इन चीजों से दूर

इंसान के पास जो है वो उससे खुश ना होकर, जो नहीं है उससे दुखी होता है और अपनी जिन्दगी को नष्ट कर देता है, इसलिए जीवन से कुछ नकारात्मकता आदतों और चीजों को दूर कर खुशियों को दोबारा पाना चाहिए।

मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य By Rahul SharmaAug 02, 2014

खुशियों की तलाश

किसी शायर ने क्या खूब कहा है, "खुले आसमान में जमीन की तलाश ना कर, जी ले ज़िंदगी खुशी की तलाश ना कर, तकदीर बदल जायेगी अपने आप ही, दोस्त, मुस्कुराना सीख ले बस वजह की तलाश ना कर"!! जी हां, हम सभी के जीवन में खुशियां होती हैं बस हम उन्हें कुछ बातों के चलते अनदेखा कर देते हैं। क्योंकि इंसान के पास जो है वो उससे खुश ना होकर के, जो नहीं है उससे दुखी होकर अपनी जिन्दगी को तबाह कर देता है। तो चलिये जानें कि कैंन सी हैं वो आदतें जो हमें खुशियों से दूर रखती हैं।
Image courtesy: © Getty Images

अपने दिल की न सुनना

अपनी पसंद या जूनून का अनुसरण न करना हमें दुखी रखता है, और अंदर ही अंद कचोटता रहता है। इसलिए हमेशा अपने अंतरात्मा की सुनें। वो कार्य करें जिसे आप दिल से करना चाहते है, सिर्फ पैसे या दिखावे के लिए कोई काम करना बेमानी है।
Image courtesy: © Getty Images

समस्याओं से भागना

जो लोग समस्याओं से बचने की कोशिश नहीं करते वे उन्हें सुलझा भी नहीं पाते। कभी-कभी समस्याओं के सामने खड़े रहकर उनका सामना करना कठिन होता है। लेकिन अगर अपनी हिम्मत बंधा कर पूरे विवेक से समस्या का समाधान ढूंढा जाए तो समाधान जरूर निकलता है।
Image courtesy: © Getty Images

दूसरों के मामले में दखल देना

जो लोग अपनी छोड़, दूसरों के मामले में दखल देते हैं, वे परेशान और हताश महसूस करते हैं। यदि आप खुद की तुलना दूसरों से करेंगे तो आपको अपनी खुशी पर बेज़ार नज़र आएगी। इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने काम से काम रखें और वो काम करें जिससे आपको खुशी मिलती है।
Image courtesy: © Getty Images

दूसरों को अपनी खुशी का केंद्र बना लेना

आशावादी और खुश रहने वाले लोग कभी भी दूसरों को अपनी खुशी का केंद्र नहीं बनने देते। आपको खुश रहने के लिए दूसरों की अनुमति की जरूरत नहीं होती है। आपकी खुशी सिर्फ आपकी अपनी है, दूसरों की राय के बावजूद भी आप खुश या मैं तो कहूंगा बेहद खुश रह सकते हैं।
Image courtesy: © Getty Images

नकारात्मक लोगों का साथ

नकारात्मक लोगों का साथ खुद ब खुद आपके जीवन से खुशियां छीन लेता है। खुश रहना चाहते हैं तो नकारात्मक वातावरण में न रहें। हां हो सकता है कि जहाँ आप काम करते हों वहां ऐसा वातावरण हो और मजबूरी के चलते आप काम छोड़ भी नहीं सकते हों। लेकिन कुछ चीज़ें हैं जिन्हें आप बदल सकते हैं। अगर आप चाहें कि नकारात्मक वातावरण आप पर प्रभाव न डाले तो आप स्वयं इसे प्रभावित करें।
Image courtesy: © Getty Images

माफ न कर पाने की आदत

वे लोग जो सदैव खुश रहते हैं, वे माफ करने और भूल जाने में विश्वास रखते हैं। कहते भी हैं "माफ करने वाला पाप करने वाले से हमेशा बड़ा होता है।" माफ करना सीखें और अपने असंतोष को दूर करें। सुनिश्‍चित करें कि आपका भूतकाल आपको प्रभावित न करे।
Image courtesy: © Getty Images

बातों को व्यक्तिगत लेना

जो लोग हर बात को व्यक्तिगत तौर पर लेते हैं, वे असंतोष में जीते हैं। देखिये इस बात से कोई प्रभाव नहीं पड़ता कि आपकी आलोचना की जा रही है या प्रशंसा। लोगों की बातों को सुने पर उन्हें व्यक्तिगत तौर पर न लें और उन बातों का उपयोग प्रतिक्रिया के रूप में करें बल्कि समय आने पर अपनी शक्ति के रूप में करें।
Image courtesy: © Getty Images

बदले की भावना

जो लोग बदले की भवना रखते हैं वे दरअसल खुद को ही कुंठा और असंतोष की आग में जला रहे होते हैं। बदले से कोई खुशी नहीं मिलती। हो सकता है कि आपको कोई बात बेहद बुरी लगे परंतु बदला लेने के अपराध के कारण अपने भविष्य को खराब और खुशियों को नष्ट न करें। माफ कर आगे बढ़ने में विश्वास रखें।

खुद पर विश्वास रखें

कहते हैं, "मुश्किल राहें भी आसान हो जाती हैं, हर राह पे पहचान हो जाती है, जो लोग मुस्करा के करते है सामना, दोस्त किस्मतें उनकी गुलाम हो जाती हैं।" क्योंकि खुशी वो एहसास है, जिसकी हर किसी को तलाश है और गम एक ऐसा अनुभव जो सबके पास है, पर जिन्दगी तो वही जीता मेरे दोस्त है, जिसको खुद पर विश्वास है।"

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK