• shareIcon

एंटी एजिंग को बढ़ाती हैं आपकी ये 6 पसंदीदा चीजें, रहें दूर

अनि‍यमित लाइफस्‍टाइल, खान-पान की गलत आदतें, अनिद्रा, फास्‍ट फूट का ज्‍यादा सेवन, एक्‍सरसाइज की कमी एजिंग की समस्‍या को बढ़ा सकती है। अगर आप भी इस समस्‍या से परेशान हैं तो अपनी कुछ आदतों को बदलकर अपने में बदलाव महसूस कर सकते हैं।

फैशन और सौंदर्य By Rashmi Upadhyay / Mar 29, 2018
एजिंग के कारण

एजिंग के कारण

उम्र का ढ़लना एक सामान्‍य प्रक्रिया है। इसे रोका नहीं जा सकता है। लेकिन समस्‍या तब होती है जब आप उम्र से पहले बूढ़े  दिखने लगते हैं। अनि‍यमित लाइफस्‍टाइल, खान-पान की गलत आदतें, अनिद्रा, फास्‍ट फूट का ज्‍यादा सेवन, एक्‍सरसाइज की कमी एजिंग की समस्‍या को बढ़ा सकती है। अगर आप भी इस समस्‍या से परेशान हैं तो अपनी कुछ आदतों को बदलकर अपने में बदलाव महसूस कर सकते हैं।

गलत खान-पान

गलत खान-पान

आहार में पौष्टिक तत्‍वों की कमी से एजिंग की समस्‍या होने लगती है। बहुत अधिक तला खाना या जंक फूड खाना खाने से  शरीर में प्रोटीन और जरूरी पोषक तत्वों की कमी हो जाती है और आपका शरीर कमजोर और उम्र से पहले बूढ़ा दिखाई देने लगता है। image courtesy : getty images

मिठाई का सेवन

मिठाई का सेवन

मिठाई का सेवन करने से टाइप 2 मधुमेह और मोटापे जैसे स्‍वास्‍थ्‍य जोखिम के साथ एंजिग की समस्‍या का कारण भी बन सकता है। इसमें होने वाली ग्‍लायकेशन नामक प्रक्रिया प्रोटीन के संलग्न करने के लिए शुगर में कोलेजन और इलास्टिन का कारण बनता है जिससे एजिंग की समस्‍या होने लगती है। मीठे को देखकर अगर आप अपने मन पर नियंत्रण नहीं रख पाते हैं तो अब नियंत्रण रखना शुरू कर दें।

तनाव

तनाव

तनाव ग्रस्‍त रहने वाले लोगों को अपनी इस आदत से छुटकारा पाने के लिए प्रयास करना चाहिए। क्योंकि बोस्टन में ब्रिघम एंड वीमेंस हास्पिटल ने एक शोध में पाया है कि तनाव लोगों को शांत रहने वाले लोगों के मुकाबले समय से पहले बूढ़ा बना सकती है। image courtesy : getty images

बहुत ज्‍यादा काम

बहुत ज्‍यादा काम

शोध के अनुसार, एक बुरी नौकरी, जिसमें आनंद की कमी और बहुत ज्‍यादा काम करना हृदय रोग के खतरे को बढ़ाने के साथ एजिंग के सेल को भी बढ़ाता है। इसके अलावा व्यायाम, स्वस्थ भोजन और नींद के समय को कम करना भी इसके लिए जिम्‍मेदार होता है।

गुस्‍सा

गुस्‍सा

बहुत ज्‍यादा गुस्‍सा करने और गुस्‍से को दबाने की आदत भी आपको उम्र से पहले बूढ़ा बना सकती है। जर्नल ऑफ बिहेवियरल मेडिसिन के शोध के अनुसार, बहुत ज्‍यादा करना या गुस्से को दबाने की आदत से शरीर में कोर्टिजोल नामक हार्मोन का स्तर बढ़ता है। और यह इस हार्मोंन के बढ़ने से बढ़ती उम्र की कई समस्‍याएं पैदा हो सकती है। image courtesy : getty images

रात को देर से सोने की आदत

रात को देर से सोने की आदत

रात को देर रात तक जागकर काम करने या टीवी देखने से न सिर्फ आपका रुटीन खराब होता है बल्कि यह आदत एजिंग की समस्‍या को बढ़ाती है। इससे जीवन में तनाव बढने के साथ चेहरे पर झुर्रियां और याद्दाश्त संबंधित कई समस्याओं का कारण भी बन सकती है। image courtesy : getty images

सिगरेट का अधिक सेवन

सिगरेट का अधिक सेवन

अमेरिकन जर्नल ऑफ पब्लिक हेल्थ के अनुसार, बहुत अधिक सिगरेट पीने वाले लोगों का जीवनकाल आठ साल घट जाता है। इससे झुर्रियां और बाल सफेद होने जैसी समस्याओं की आशंका बढ़ जाती है। इसके अलावा सिगरेट के अधिक सेवन से कैंसर, दिल के रोग, याद्दाश्त संबंधी समस्याओं का खतरा बढ़ा जाता है।

सनस्क्रीन का इस्‍तेमाल न करना

सनस्क्रीन का इस्‍तेमाल न करना

सनस्‍क्रीन की जरूरत सर्दियों और बरसातों में नहीं होती है, ज्‍यादातर लोगों का यह मानना हैं। इस कारण से भी एजिंग की समस्‍या होने लगती है। लेकिन अल्ट्रावॉयलेट किरणें हर मौसम में त्‍वचा को नुकसान पहुंचाती हैं। image courtesy : getty images

एक्‍सरसाइज की कमी

एक्‍सरसाइज की कमी

एक्‍सरसाइज की कमी भी जवानी में बुढ़ापे का कारण हो सकती है। नियमित एक्‍सरसाइज न सिर्फ आपके शरीर को लचीला और चुस्‍त रखती है, बल्कि सेहत से जुड़ी कई समस्याओं से भी निजात दिलाती है। इसलिए एजिंग की समस्‍या से बचने के लिए नियमित रूप से कम से कम 30 मिनट की एक्‍सरसाइज जरूर करें। image courtesy : getty images

भोजन में अच्छे फैट की कमी

भोजन में अच्छे फैट की कमी

आमतौर पर महिलाएं वजन कम करने के लिए कैलोरी में कटौती करने के लिए आहार में फैट की कटौती करने लगती है। लेकिन अच्‍छा स्‍वस्‍थ फैट जैसे ओमेगा-3 फैटी एसिड, त्‍वचा को कोमल, मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य, मजबूत दिल और मधुमेह से लड़ने और जीवन में वृद्धि के लिए जरूरी होता है। ओमगा-3 को कम करने से सेलुलर सूजन के बढ़ जाने से उम्र बढ़ने की प्रक्रिया शुरु हो जाती है।  image courtesy : getty images

पानी की कमी

पानी की कमी

एजिंग की समस्‍या को रोकने के लिए पानी का ज्‍यादा से ज्‍याद सेवन करना चाहिए। पानी न केवल आपकी एजिंग की समस्‍या को रोकता है बल्कि आपको कई तरह की बीमारियों से भी बचाता है। लेकिन आजकल के लोग पानी कम और कोल्‍ड ड्रिंक पीना ज्‍यादा पसंद करते हैं। नतीजा एजिंग की समस्‍या। image courtesy : getty images

शराब का अधिक सेवन

शराब का अधिक सेवन

शराब त्‍वचा में छोटे रक्त वाहिकाओं और त्‍वचा की सतह के पास रक्त के प्रवाह को बढ़ा देती है। जिससे एजिंग का असर त्‍वचा पर दिखने लगता है। साथ ही लिवर से लेकर त्वचा के टी-जोन तक को नुकसान पहुंचाती है। image courtesy : getty images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK