Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

इन चीजों से संभवतया नहीं बढ़ता ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम

ब्रेस्ट कैंसर के डर से महिलाएं अक्सर जरूरत से ज्यादा सतर्क हो जाती हैं और उन चीजों से भी दूरी बनाने लगती हैं जिनसे उन्हें ब्रेस्ट कैंसर का खतरा नहीं भी होता, यहां जानिये उन चीजों के बारे में।

कैंसर By Shabnam Khan May 19, 2015

जरूरी नहीं इनसे हो जाए ब्रेस्ट कैंसर

भारत में फिलहल 22 महिलाओं में से एक महिला ब्रेस्ट कैंसर की मरीज है। डॉक्टरों के सामने हर साल ब्रेस्ट कैंसर के तकरीबन 75 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं। ब्रेस्‍ट कैंसर कोई छोटी मोटी बीमारी नहीं है। अगर आपने अभी से ब्रेस्‍ट कैंसर पर ध्‍यान नहीं दिया तो आगे चल कर यह आपको भी हो सकता है। इसी डर से महिलाएं अक्सर जरूरत से ज्यादा सतर्क हो जाती हैं और उन चीजों से भी दूरी बनाने लगती हैं जिनसे उन्हें ब्रेस्ट कैंसर का खतरा नहीं भी होता। आइये जानते हैं ऐसी ही 7 चीजें जिनसे संभवतया महिलाओं का ब्रेस्ट कैंसर जोखिम नहीं बढ़ता।

Image Source - Getty Images

ब्रा पहनना

जबसे ब्रेस्ट कैंसर को लेकर जागरूकता फैलनी शुरू हुई है कई मिथक भी बन गए हैं। ऐक ऐसा ही मिथक ये है कि ब्रा पहनने से ब्रेस्ट कैंसर होने का जोखिम बढ़ जाता है। जो कि गलत है। एक नई स्टडी में ये बात सामने आई है कि ब्रेस्ट कैंसर और किसी भी प्रकार की ब्रा कप साइज, अंडरवायर ब्रा आदि के बीच किसी प्रकार का कोई संबंध नहीं है।

Image Source - Getty Images

ब्रेस्ट इंप्लांट

बहुत सारे अध्ययनों ने ये साबित करने की कोशिश की और वो इसमें असफल हुए कि ब्रेस्ट इंप्लांट और ब्रेस्ट कैंसर के बीच किसी प्रकार का संबंध है। जिन महिलाओं ने ब्रेस्ट इंप्लांट करवाया उनकी मैमोग्राफी करवा के देखी गई लेकिन ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया।

Image Source - Getty Images

डियोड्रेंट का इस्तेमाल

अमेरिकन कैंसर सोसाइटी के अनुसार, इसका कोई प्रमाण नहीं है कि डियोड्रेंट से स्तन कैंसर का खतरा हो सकता है। इसके अलावा नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के जर्नल में छपे अध्ययन के मुताबिक स्तन कैंसर और एंटी-परस्परिएंट के बीच कोई संबंध नहीं है। जो महिलाएं इसका प्रयोग करती हैं उनमें स्तन कैंसर के लक्षण नहीं देखे गए हैं।

Image Source - Getty Images

कॉफी पीना

क्या कॉफी पीना और कैफीन के दूसरे रूपों का सेवन ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम बढ़ा सकता है? शायद नहीं। शायद नहीं। हालांकि कुछ स्टडी ने इस बात को कमजोर प्रमाणों के साथ समर्थन किया है जबकि अन्य ने पाया है कि कॉफी से ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम कम बोता है। कॉफी बीन्स में एंटीऑक्सीडेंट्स उच्च मात्रा में होते हैं जो कि कैंसर से सुरक्षा प्रदान करता है।

Image Source - Getty Images

मैमोग्राम

ज्यादातर लोगों को लगता है कि स्तन कैंसर की पहचान के लिए प्रयोग किए जाने वाले एक्स रे और मैमोग्राम से स्तन कैंसर फैलता है। जो कि पूरी तरह से गलत है। नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के मुताबिक मैमोग्राफी के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाले रेडिएशन की मात्रा बहुत कम होती है। इससे स्तन कैंसर का खतरा बिल्कुल ना के बराबार होता है।

Image Source - Getty Images

पावर लाइन्स के करीब रहना

लोग हर तरह की बीमारियों के लिए पावर लाइन्स से आने वाली इलेक्ट्रोमेग्नेटिक फील्ड्स को जिम्मेदार ठहराते हैं। ब्रेस्ट कैंसर भी इन्हीं बीमारियों में से एक ही है। जबकि स्टडी इस बात का कोई प्रमाण नहीं देती।

Image Source - Getty Images

स्तनों में गांठ

स्तन में गांठ का नाम सुनने के बाद हमारे मन में यह सवाल आता है कि ये गांठ स्तन कैंसर तो नहीं। ब्रेस्ट में गांठ कैंसर का ही एक लक्षण है, लेकिन ऐसा जरूरी नहीं कि ऐसा होने पर आपको स्तन कैंसर ही है। ब्रिटिश शोध के मुताबिक स्तनों में होने वाली गांठ पड़ने के केवल दस फीसदी मामलों में ही ब्रेस्ट कैंसर की आशंका रहती है, अधिकतर मामलों में इसकी वजह स्तन  में फैट और सिस्ट से मामले ज्यादा हाते हैं।

Image Source - Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK