• shareIcon

ट्वेंटीज में हर लड़की को मालूम होनी चाहिये ये 10 चीजें

बीस की उम्र लड़कियां एक नए जीवन में कदम रखती है। काफी कुछ बदलाव होता है उनके जीवन में। आइए जानें वे कौन सी बातें हैं जो उन्हें मालूम होनी चाहिए।

महिला स्‍वास्थ्‍य By Bharat Malhotra / Jun 07, 2014

अहम पड़ाव होता है ट्वेंटीज

किसी भी महिला के जीवन में ट्वेंटीज एक अहम पड़ाव होता है। यह बदलाव का वह दौर होता है, जब एक लड़की की मुलाकात अपने भीतर छुपी महिला से होती है। यही तो वह उम्र होती है, जब वो अपना कॉलेज खत्म कर करियर शुरू करने लगती हैं। उसकी जिंदगी में नये रिश्तों की दस्तक होती है। वो पैसों का हिसाब रखने लगती हैं। जीवन में बहुत कुछ नया-नया सा होता है। तो, जानिये कि इन दस बरसों में क्या दस सबसे बेहतरीन चीजें होती हैं आपके साथ। आप क्या करती हैं, कैसे  करती हैं और आपको कैसे करना चाहिये। यह सब इस स्लाइड शो में।

बजट मैनेज करना

आमतौर पर कई महिलायें उम्र के इस पड़ाव पर अपने खर्चे उठाने लगती हैं। ऐसे में आपको किराये, घर के खानपान के सामान, अन्य छोटे-मोटे खर्चों के बारे में हिसाब लगाना आना चाहिये। बहुत संभव है कि आप पढ़ाई या काम के संबंध में घर से बाहर जाएं, और ऐसे में ये जानकारियां आपके काफी काम आ सकती हैं। इसके अलावा आपको मौज-मस्ती के लिए भी पैसे रखने पड़ते हैं। और मुश्‍किल वक्त के लिए भी आपको अलग से धन बचाकर रखना चाहिये। अपनी कमाई और खर्च का सही हिसाब रखने से आपको बचत करने में भी आसानी होगी। बेहतर होगा कि उम्र के इसी पड़ाव पर आप भविष्य के लिए निवेश करने की भी योजना बनायें। पीपीएफ इसके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है।

बॉस की तरह इंटरव्यू

यही उम्र होती है जब आप अपना करियर शुरू करती हैं। और इंटरव्यू किसी भी नौकरी का पहला पड़ाव होता है। इंटरव्यू में आत्मविश्वास के साथ दिये गए सही जवाब आपको नौकरी मिलने की सम्भावना में इजाफा होता है। अगर आपको नौकरी न भी मिले तो इंटरव्यू में जमाया गया अच्छा प्रभाव भविष्य में नौकरी की किसी संभावना में भी आपके लिए मौका बनाये रखता है। इंटरव्यू कर‍ियर के क्षेत्र में नये रिश्ते बनाने के भी रास्ते खोलता है। तो, इंटरव्यू से घबरायें नहीं। हर इंटरव्यू आपके लिए नये मौके लेकर आता है। उनसे सीखें और आगे बढ़ने की तैयारी करें।

त्वचा का रखें खयाल

इस उम्र में तो त्वचा यूं ही जवां और स्वस्थ नजर आती है। लेकिन, इसका अर्थ यह नहीं कि आप अपनी त्वचा की परवाह ही न करें। आप इस दौरान अपनी त्वचा का कैसा खयाल रखती हैं, इसी पर निर्भर करता है कि उम्र के तीसरे, चौथे या पांचवें पड़ाव में आपकी स्किन कैसी नजर आएगी। झुर्रियों से अपनी त्चचा को बचाने के लिए हमेशा सनस्क्रीन इस्तेमाल करें। भले ही गर्मियां हों या सर्दियां, बरसात या हो बसंत, हर मौसम में सनस्कीन जरूर लगायें। इसके अलावा रात को सोने से पहले चेहरा जरूर साफ करें। मेकअप लगाकर कभी न सोयें। इससे चेहरे के रोमछिद्र बंद हो जाते हैं और चेहरे की रंगत फीकी पड़ने लगती है।

दोस्ती का मजा लें

इस उम्र में आपको तमाम दोस्त मिलते हैं। प्यार होता है। कई बार दिल टूटता है। आपको यह समझने की जरूरत है कि इस उम्र में लड़के आते-जाते रहते हैं। लेकिन, कुछ सहेलियां ऐसी होंगी, जो हर मुश्‍किल में आपके साथ रहेंगी। भले ही आपको जीवनसाथी ही क्यों न मिल जाए, लेकिन अपनी दोस्तों को कभी न भूलें। दोस्त हर अच्छे-बुरे वक्त में आपके साथ रहते हैं। अपने रिलेशनश‍िप के लिए अच्छे दोस्तों को कभी खुद से दूर न होने दें। जरूरत सही संतुलन बनाने की है। अच्छे दोस्त बड़ी मुश्किल से मिलते हैं। और कई लोगों की नजर में तो बॉयफ्रेंड खोने से ज्यादा बुरा अच्छे दोस्त को खोना होता है।

सही ड्रेस का करें चुनाव

उम्र के इस पड़ाव पर हमारा पूर्ण शार‍ीरिक हो चुका होता है। आपको इन शारीरिक बदलावों को स्वीकार करना चाहिये। और इसी हिसाब से अपने कपड़ों का चुनाव करना चाहिये। इस दौरान आप अपने कपड़ों के साथ नये-नये तजुर्बे कर सकती हैं। इससे आपको यह पता चलेगा कि आख‍िर आपके शरीर के लिए क्या सही रहता है। किस तरह की जींस या टॉप आपके शरीर के साथ ज्यादा फबता है। अपने शारीरिक बदलावों को स्वीकार करने के बाद आपके लिए अपने लिए सही कपड़ों का चुनाव करना आसान होगा। सही कपड़े आपमें आत्म-विश्वास भरते हैं।

गलती न दोहरायें


कई बार आपने लोगों को यह कहते सुना होगा कि 20 का दशक ही गलतियां करने का होता है। लेकिन, इसका अर्थ केवल गलतियां करने से ही नहीं है। इसका अर्थ है कि आप गलतियों से सीखें। आप जानें कि आपने क्या गलत किया था। और अगली बार उन गलतियों को दोहराने से बचें। फिर चाहे वह गलती रिश्तों में लेकर की गयी हो, या फिर नौकरी में। अपनी गलती को खुद पर हावी न होने दें। इसके बजाय उस गलती से सीखें और जीवन में उसे कभी न दोहराने का प्रण लें।

अपनी आवाज उठायें

यह आत्मनिर्भरता का दौर होता है। लेकिन, इसके साथ ही आपको सही समय पर अपनी आवाज उठाने की कला भी सीखनी होगी। अपने अध‍िकारों के लिए आवाज उठायें। अपनी दोस्त को भी बतायें कि कब उसका बर्ताव आपके लिए सही नहीं था। अगर आप अपनी आवाज नहीं उठायेंगी। अगर आप अपनी बात नहीं कहेंगी, तो कभी कुछ नहीं बदलेगा। और इस तरह ये नकारात्मक चीजें आप पर हावी होती रहेंगी। खुद को यकीन दिलायें कि आप मजबूत हैं, खूबसूरत हैं और आत्मनिर्भर हैं। और अपने हक के लिए आवाज उठाने अपनी पसंद की जिंदगी जीने का अहम कायदा है।

तारीफ स्वीकार करें

आत्म-विश्वास इस उम्र में कामयाबी का सबसे बड़ा नियम है। और अपनी तारीफ स्वीकार करना आत्म-विश्वास के इसी पहलु का हिस्सा है। अगर कभी कोई आपकी खूबसूरती की तारीफ करे, तो उसका धन्यवाद करें। तारीफ स्वीकार करना आपके विश्वास और सहज स्वभाव को दर्शाता है। ये खूबियां किसी महिला के आकर्षक व्यक्तित्त्व का हिस्सा होती हैं। खुद पर यकीन और भरोसा आपको पसंदीदा नौकरी से लेकर अपने सपनों का राजकुमार कुछ भी दिला सकता है।

हर बार सही होना जरूरी नहीं

20 की उम्र में आया आत्मविश्वास कई बार स्वभाव में अकड़ भी ले आता है। और हम गलती से इस अकड़ को आत्मविश्वास ही समझने लगती हैं। तो, आपको यह समझना चाहिये कि जरूरी नहीं कि हर बार आप सही हों। इसलिए दूसरों की बात को भी पूरी तरह सुनें। इसके साथ ही कई बार आप सही होते हुए भी गलत साबित हो सकती हैं। खासतौर पर नौकरी के दौरान। ऐसे में हर बार अपनी जिद पर अकड़ना सही नहीं। कभी-कभार झुकने में कोई बुराई नहीं। सही वक्त आने पर आप अपनी बात कह सकती हैं। यही वह दौर होता है जब आपको सही समय पर, सही तरीके से, सही बात कहने का हुनर सीखना पड़ता है।

बचपना संभाल कर रखें

बेशक, इस उम्र में आपकी जिंदगी में बहुत बदलाव आते हैं। आप करियर और जीवनसाथी का चुनाव भी आमतौर पर इसी उम्र में करतीं हैं। लेकिन, आप अभी इतनी बड़ी नहीं हुईं कि अपने भीतर छुपे बच्चे को कहीं खो दें। आप बुजुर्ग नहीं हुईं। अभी तो आपने और बढ़ना है। थोड़ा धीरज धरें। यह उम्र नहीं कि आप अपने भविष्य को लेकर इतनी गंभीर हो जाएं कि इस लम्हे को जी ही न पायें। दोस्तों के साथ अपना वक्त गुजारें। अपने लिए तोहफे खरीदें। कुछ यादें संजोकर रखें। ये यादें उम्र भर आपके चेहरे पर मुस्कान बिखेरती रहेंगी।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK