• shareIcon

इशारे जो कहें कि आपकी अंदर की आवाज दिखा रही सही दिशा

निर्णय लेने के लिए कुछ मौकों पर आपके पास कई विकल्‍प मौजूद होते हैं, लेकिन इन मौकों का फायदा आप नहीं उठा पाते हैं और गलत विकल्‍प चुनते हैं, अगर अंतरात्‍मा की आवाज सुनी जाये तो निर्णय सही हो सकते हैं।

विभिन्न By Nachiketa Sharma / Jan 20, 2015

सुनें अंतरात्‍मा की आवाज!

जीवन में कई मौके ऐसे आते हैं जब आपके पास कई विकल्‍प होते हैं और इनमें से आप गलत विकल्‍प का चुनाव कर लेते हैं। इससे आपका निर्णय गलत हो जाता है क्‍योंकि आपने पूरे विश्‍वास के साथ और अंतरात्‍मा की आवाज सुने बिना निर्णय लिया है। करियर, रिलेशनशिप, दोस्‍तों और कई दूसरे मामलों में हम अक्‍सर गलत चुनाव करते हैं। इन सबके लिए लिया गया निर्णय गलत हो जाता है, क्‍योंकि उस वक्‍त आप अंतरात्‍मा की आवाज सुनते हैं जो कि हमेशा सही नहीं होती है। लेकिन जब आपके गट (ऐसा माना जाता है कि इंद्रियां पेट से जुड़ी होती हैं और वहीं से इनको ऊर्जा मिलती है, इसे छठी इंद्रिय भी कह सकते हैं) का एहसास अच्‍छा होता है तब आप निर्णय सही तरीके से ले पाते हैं। कुछ लक्षण दिखाते हैं कि आपकी अंतरात्‍मा की आवाज आपको सही दिशा दिखा रही है।

Image Source - getty images

सही आदमी की पहचान

आपकी जिंदगी सरल और आसान हो सकती है अगर आपके दोस्‍त, रिश्‍तेदार, और आसपास के लोगों में सही लोगों की पहचान आप कर पायें तो। अगर आपके गट का एहसास अच्‍छा है तो पहली ही नजर में आप इनसान की पहचान कर सकते हैं। क्‍योंकि आप अपनी अंतरात्‍मा की आवाज सुनकर निर्णय लेते हैं और उसमें धोखा खाने की संभावना कम होती है।

Image Source - getty images

अंतरात्‍मा की आवाज मजबूत बनाती है

जब भी आप कोई महत्‍वपूर्ण फैसला लेते हैं उस वक्‍त आपके अंदर से निकलने वाली आवाज ही आपको मजबूत बनाती है। इस वक्‍त आप जो भी निर्णय लेते हैं वह सही होता है। इस वक्‍त अगर आप विकल्‍प की तलाश के लिए सिक्‍के को उछालेंगे तो भी सही विकल्‍प का चुनाव करेंगे।

Image Source - getty images

भरोसा बढ़ जाना

जीवन में कई तरह के उतार-चढ़ाव आते हैं, कई बार हम सफल होते हैं और कई बार हम असफल हो जाते हैं। कुछ ऐसे मौके भी आते हैं जब हमें लगता है कि यह काम हम आसानी से कर पायेंगे लेकिन खुद पर भरोसा नहीं कर पाते और उस मौके को गंवा देते हैं। लेकिन जब आपकी गट फीलिंग अच्‍छी होती है तब आपको खुद पर तो भरोसा होता है साथ ही उस काम के लिए आप दूसरों को भी मना लेते हैं।
Image Source - getty images

अंदाज भी पहचान लेते हैं

अगर आपकी गट फीलिंग अच्‍छी है तो सामने खड़े इनसान के व्‍यक्तित्‍व, व्‍यवहार, खड़े होने के अंदाज से उसके बारे में जान जाते हैं। इससे आप निर्णय ले सकते हैं कि उसके साथ आपकी दोस्‍ती, काम करना, रिश्‍ते बनाना, आदि सही रहेगा या नहीं। क्‍योंकि लोग अच्‍छी बातें तो कर लेते हैं लेकिन जब उनकी सच्‍चाई सामने आती है तब दुख होता है। ऐसे में आपकी गट फीलिंग सही और गलत की पहचान करने में आपकी मदद करता है।

Image Source - getty images

कोई बेवकूफ नहीं बना सकता

इस दुनिया में कई तरह के लोग होते हैं, जो आपके सामने अच्‍छी बातें करके आपको न केवल बेवकूफ बनाते हैं बल्कि आपका फायदा भी उठा लेते हैं। अच्‍छी गट फीलिंग होने पर आपको आसानी से कोई बेवकूफ नहीं बना सकता है। क्‍योंकि आपको इन लोगों की गलत भावना का एहसास पहले ही हो जाता है।

Image Source - getty images

गलत और सही की पहचान

इस वक्‍त आप भावनाओं में नहीं बहते हैं और अपने आसपास हो रही गतिविधियों में सही और गलत की पहचान कर लेते हैं। जब आप सही और गलत की पहचान कर लेते हैं तो मुसीबत का सामना न के बराबर होता है। आपका जीवन भी सुकून वाला हो जाता है क्‍योंकि आप फालतू कामों में अपनी ऊर्जा नहीं गंवाते हैं।

Image Source - getty images

गलतियां होने पर

ऐसा भी नहीं होता है कि अच्‍छी गट फीलिंग के साथ आप हर बार सही निर्णय ही लेते हैं, कई बार आपका निर्णय गलत भी हो जाता है। लेकिन गलत निर्णय लेने के बाद भी आप अंतरात्‍मा की ही आवाज सुनते हैं। आपका विश्‍वास कम नहीं होता, बल्कि आप और सजग हो जाते हैं और इससे बेहतर निर्णय लेने की क्षमता भी विकसित हो जाती है।

Image Source - getty images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK