• shareIcon

ये 7 चीजें हैं आपकी सेहत की दुश्मन

ऐसी बहुत सी चीज़ें और आदतें होती हैं जो हमारी जिंदगी का हिस्सा होती हैं लेकिन हम उनके बारे में बहुत अधिक नहीं जानते। ऐसी स्थिति में वो चीजें धीरे-धीरे आपको बहुत नुकसान पहुंचाती रहती हैं और आपको मालूम भी नहीं चलता।

एक्सरसाइज और फिटनेस By Shabnam Khan / Jan 13, 2015

कहीं अनजाने तो नहीं पहुंचा रहे खुदको नुकसान

इन दिनों जिंदगी की रफ्तार इतनी तेज है कि हम किसी भी चीज के बारे में रुक कर दो पल सोचते भी नहीं। हवा जिस तरफ की है, उसी तरफ बहने लग जाते हैं। लेकिन ऐसे में नुकसान हमारा ही होता है। हम भले ही रफ्तार पकड़ लें लेकिन उसकी कीमत हमें अपनी सेहत से चुकानी पड़ जाती है। हमने अपनी सुविधा के लिए बहुत सी चीज़ों और आदतों को अपनी जिंदगी का हिस्सा बना लिया है, ये चीजें ऊपरी तौर पर हमें सुविधा देती जरूर हैं लेकिन धीरे-धीरे हमारी सेहत पर भारी पड़ने लगती हैं। आइये जानते हैं हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल ऐसी ही 7 चीज़ों के बारे में।

Image Source - Getty Images

नमक

हम आमतौर पर अपने खाने की कल्पना बिना नमक के नहीं कर सकते। हर कोई जानता है कि नमक में सोडियम मौजूद होता है और सोडियम से दिल की बीमारियों को जोखिम बढ़ जाता है। भारतीय खाने में बाकी दुनिया के खानों से अधिक नमक का इस्तेमाल होता है। इसलिए जो नमक आप रोज अपने खाने के साथ खा रहे हैं वो धीरे-धीरे आपको नुकसान पहुंचा रहा होता है।

Image Source - Getty Images

मोबाइल फोन

मोबाइल फोन के इस्तेमाल से आज कोई अछूता नहीं है। हम अपनी जरूरत के अलावा मनोरंजन के लिए भी इसका बेतहाशा इस्तेमाल करने लगे हैं। लेकिन ये हमें धीरे-धीरे अंदर से खोखला भी कर सकता है। वैज्ञानिक शोध निष्कर्षो में ऐसा पाया है कि मोबइल फोन और इसके टावर से निकलने वाली रेडिएशन व्यक्ति की पाचन शक्ति को कमजोर कर सकती है और उसके कारण ठिक से नींद ना आने की बीमारी और एकाग्रता की कमी हो सकती है। अक्सर लोग सोते समय मोबाइल को अपने तकिए के नीचे वाइब्रेटर या साइलेंट मोड पर करके सो जाते है,लेकिन मोबाइल को इस तरह रखने का तरीका स्वास्थ्य को अधिक नुकसान पहुँचा सकता है। यूनिवर्सिटी ऑफ केलिफोर्निया के एक शोध के अनुसार, मोबाइल को वाइब्रेशन मोड पर ज्यादा देर तक इस्तेमाल करने से कैंसर का खतरा अधिक होता है।

Image Source - Getty Images

पटैटो चिप्स

सफर करते हुए, टीवी देखते हुए, हल्की भूख लगने पर या फिर मूवी देखते हुए आप अक्सर जिन पटैटो चिप्स को खाते हैं वो आपकी सेहत के लिए बहुत वजहों से खतरनाक है। अभी तक तो ये केवल मोटापे और दिल के रोगों को बढ़ाने के लिए ज़िम्मेदार माने जाते थे लेकिन अब यह माना जा रहा है कि ये कैंसर का कारण भी है।

Image Source - Getty Images

वाइट ब्रेड

वाइट ब्रेड, पास्ता और वो सब खाने की चीज़ें जिनमें मैदा होता है वो आपका ब्लड प्रेशर बढ़ा सकती है। लंबे वक्त तक इनका सेवन टाइप टू डायबिटीज, दिल की बीमारियां और अर्थराइटिस होने का जोखिम बढ़ा सकता है। कोशिश करें कि इन सब चीज़ों के सेवन को सीमित रखें और इनके स्वस्थ व पौष्टिक विकल्प ढूंढें।

Image Source - Getty Images

खीरा

खीरे के कड़वे हिस्से और कड़वेपन के बारे में तो आप सभी जानते होंगे। लेकिन क्या आपको मालूम है कि ये कड़वा हिस्सा जहरीला होता है? इसमें कुकुरबिटासिन होता है जिससे आपको पेट के कीड़े व दूसरी बीमारियां हो सकती हैं। आप खीरे के दोनों किनारों को अलग करके इसके नुकसान से बच सकते हैं।

Image Source - Getty Images

देर तक बैठना

हम लोग अक्सर काम की वजह से या फिर टीवी देखने के वक्त लंबे वक्त तक एक ही जगह बैठे रहते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक लगातार तीन घंटे से अधिक बैठने की आदत स्वास्थ्य के लिए खतरा पैदा कर सकती है। इससे मांसपेशियों को नुकसान पहुंच सकता है, अंगों की कार्यक्षमता में कमी आ सकती है और आपका शरीर अधिक संवेदनशील हो सकता है।

Image Source - Getty Images

ज्यादा देर तक सोना

ज्यादा नींद लेना और सुबह देर तक उठना एक ऐसी आदत है जो बहुत लोगों में पाई जाती है। हालांकि नींद हमारी सेहत के लिए जरूरी है लेकिन उसकी भी एक सीमा होती है। देर तक सोने का असर हमारे दिमाग और हार्मोन्स पर पड़ता है। जो लोग स्वाभाविक तौर पर देर से उठते हैं उनके मस्तिष्क में व्हाइट मैटर सबसे खराब स्थिति में होता है, विशेष रूप से दिमाग के ‌उस हिस्से में जहां से अवसाद और दुख के भाव पैदा होते हैं।

Image Source - Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK