• shareIcon

जानें क्या है आपकी ज़िंदगी का प्राइम टाइम

जीवन जीने की सबसे बेहतरीन उम्र क्या है? चलिये आज ज़िंदगी की बेस्ट उमर या कहिये कि, प्राइम टाइम के बारे में जानने की कोशिश करते हैं।

तन मन By Rahul Sharma / Feb 23, 2016

ज़िंदगी का प्राइम टाइम


अकसर मेरे दिमाग में खयाल आता है कि जीवन का सबसे बेहतरीन दौर बीत चुका है। शायद आप भी कभी ऐसा सोचते हों! कई लोग कहते हैं कि ज़िंदगी की असल शुरुआत 40 साल के बाद होती है, और अब 60 साल की उम्र पहले के 50 के बराबर ही है। लेकिन सच्चाई भला क्या है? जीवन जीने की सबसे बेहतरीन उम्र क्या है? चलिये आज ज़िंदगी की बेस्ट उमर या कहिये कि, प्राइम टाइम के बारे में जानने की कोशिश करते हैं। बीबीसी ने मेडिकल लिटरेचर के अध्ययन के आधार पर, ज़िंदगी के अलग-अलग दौर में याददाश्त से लेकर सेक्स की चाहत तक कई पहलुओं को समझने, व आंकने को लेकर शोध किया। इनके परिणाम आश्चर्यजनक हैं।  
Images source : © Getty Images

फिटनेस का स्केल


अगर बात शारीरिक फिटनेस की करें तो साधारण तौर पर 100 मीटर स्प्रिंट दौड़, शॉट पट फेंकना, जेवलिन थ्रो जैसी स्पोर्ट्स में लोग 20 से 30 साल की उम्र में सबसे फिट होते हैं। इसके बाद शारीरिक क्षमता में तेज गिरावट आती है। देखआ गया है कि इस उम्र के बाद फुटबॉल के खिलाड़ियों की क्षमता में भी तेज कमी आती है। वहीं अधिक उम्र के एथलीट मैराथन दौड़, 100 किलोमीटर की दौड़ में बेहतर प्रदर्शन कर पाते हैं। देखा जाता है कि 30 से 40 और 40 से 50 के दशक की उम्र में भी मैराथन दौड़ने की क्षमता काफी धीरे ही कम होती है। इसके कई उदाहरण भी मौजूद हैं।
Images source : © Getty Images

दिमागी क्षमता का स्केल


20 साल की उम्र के बाद नए तथ्यों को याद रखने की लोगों की क्षमता में कमी आने लगती है। याददाश्त की ये क्षमता तो स्कूल पास कर लेने से बाद से ही कम होने लगती है। वहीं कामकाजी जानकारियों को याद रखने की क्षमता में भी 40 साल के बाद गिरावट आने लगती है। युवावस्था में लोग रचानात्मक तौर पर सबसे बेहतर स्थिति में होते हैं। उदाहरण के तौर पर अधिकांश नोबेल पुरस्कार पाने वाले खोज, वैज्ञानिकों ने 40 साल की उम्र के आसपास कर ली थीं। मिडल एज में आपकी तर्क करने की क्षमता बढ़ती है। वहीं कठिन परिस्थितियों का हल निकालने की क्षमता भी उम्र बढ़ने के साथ अच्छी होती है।
Images source : © Getty Images

संभोग की चाहत का पैमाना


खुद हो जाइये! बढ़ती उम्र और संभोग की चाहत से जुड़ी जानकारी खुश करने वाली हैं। 65 से 74 साल की आयु के स्वस्थ लोगों में 30 प्रतिशत लोग हफ्ते  में एक बार संभोग करते हैं। मौजूदा जानकारी के अनुसार 20 से 40 की उम्र में सेक्स की चाहत चरम पर होती है। संभोग करने की चाहत और संभोग करने की क्षमता में 50 साल की उम्र तक कोई बड़ी गिरावट नहीं आती है। "सेक्सुअली एक्टिव लाइफ़ एक्सपेक्टेंसी" से संबंधित एक जर्नल के अनुसार 55 साल की आयु वाले पुरुषों में अगले 15 साल तक संभोग करने की चाहत देखी जाती है। वहीं 55 साल की महिला अगले दस साल तक ये चाहत रखती हैं।
हालांकि इस आयु में यौन संबंधों बनने बेहद कम हो जाते हैं, लेकिन 65 से 74 साल की उम्र के स्वस्थ्य लोगों में 30 प्रतिशत हफते में एक बार संभोग जरूर करते हैं।
Images source : © Getty Images

क्या है सबसे बेहतरीन समय



मोटे तौर पर देखें तो कहा जा सकता है कि 20 से 30 साल की उम्र में सेक्स करने की चाहत सबसे अधिक होती है। जबकि 30 से 40 साल की उम्र के बीच लोग शारीरिक तौर पर सबसे ज़्यादा सक्षम होते हैं। वहीं मानसिक तौर पर लोग 40 से 60 साल के बीच सबसे अच्छी स्थिति में होते हैं। 60 से 70 साल के दौरान लोग सबसे अधिक खुश रहते हैं। ऐसे में एक बात साफ है कि जीवन जीने की कोई एक बेहतरीन उम्र नहीं है। हालांकि एक्सरसाइज और स्वस्थ खानपान से ना सिर्फ शारीरिक फिटनेस बढ़ती है बल्कि उम्र संबंधी बीमारियों का खतरा भी कम हो जाता है।
Images source : © Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK