Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

कैंसर को दूर रखने के लिए करें खाना पकाने के अंदाज में बदलाव

भोजन में महत्‍वपूर्ण पोषक तत्‍वों को सुरक्षित रखने के लिए खाना पकाने का तरीका महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसी तरह खाना पकाने का तरीका कैंसर जैसे कई रोगों से लड़ने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है।

कैंसर By Pooja SinhaMay 06, 2014

कैंसर की रोकथाम के लिए खाना पकाने का सही तरीका

डॉक्‍टर के पास जल्‍दी-जल्‍दी जाने, निकोटीन और शराब से परहेज करने के अलावा आप खाना पकाने के तरीकों में कुछ परिवर्तन करके भी कैंसर की रोकथाम कर सकते हैं। क्‍या खाना चाहिए, के साथ-साथ भोजन पकाने का तरीका भी उतना ही महत्‍वपूर्ण होता है। यहां पर सही तरीके से खाना पकाने के कुछ उदाहरण दिए गए हैं।   Image courtesy: Getty Images

टमाटर

टमाटर में लाइकोपीन नामक एंटी-ऑक्‍सीडेंट होता हे जो विभिन्‍न प्रकार के कैंसर के जोखिम से लड़ने में बहुत मददगार होता है। ले‍किन ज्‍यादा देर के लिए टमाटर को पकाने से लाइकोपीन निकल जाता है। इसके अलावा आप शरीर में अवशोषित लाइकोपीन की मात्रा को बढ़ाने के लिए टमाटर को पकाते समय उसमें थोड़ा सा जैतून का तेल मिला सकते हैं।  Image courtesy: Getty Images

लहसुन

जब आप कटे या कुचले हुए लहसुन का उपयोग करते हैं, तो उसे पकाने से पहले 10-15 मिनट के लिए रख देना चाहिए। क्‍योंकि यह  
फोटोकेमिकल जिसे एलिसीन कहते है, के गठन में मदद करता है। और साथ ही केमिकल कई प्रकार के रोगों से लड़ने में मदद करता है। Image courtesy: Getty Images

आलू

आलू को अधिक देर तक पकाने से यह एक्रिलामाइड नामक एंजाइम बनाता हैं। यह केमिकल पशुओं और मनुष्यों में कैंसर के खतरे को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। साथ ही आलू को कभी भी फ्रीज में या अंधेरे में संग्रहित नहीं करना चाहिए। इसके अलावा, एक्रिलामाइड का उत्पादन कम करने के लिए खाना पकाने से पहले 15-30 मिनट के लिए आलू को पानी में सोखना चाहिए। Image courtesy: Getty Images

रोटी

आलू की तरह ही रोटी को भी अधिक पकाना नुकसानदेह होता है। इससे ज्‍यादा पकाने से इससे भी एक्रिलामाइड नामक एंजाइम पैदा होते है। इसलिए एक बार रोटी के हल्‍के भूरे रंग में बदलने के बाद रोटी को अधिक ना पकाये। Image courtesy: Getty Images

मीट

मांस को उच्‍च तापमान पर पकाने से निकलने वाले कंपोनेंट्स डीएनए को नुकसान पहुंचा सकते है और कैंसर के खतरे को बढ़ा सकते है। इसलिए मीट को विशेष रूप से लकड़ी के कोयला पर पकाया जाना चाहिए या ग्रिल्लिंग करके खाना चाहिए। Image courtesy: Getty Images

हर्ब्‍स

हर्ब्‍स में मौजूद औषधीय गुणों के कारण इसका इस्‍तेमाल एक उम्र के बाद रोगों को रोकने और इलाज के लिए किया जाता है। कुछ अध्‍ययनों के अनुसार, हर्ब्‍स जैसे रोजमेरी कैंसर को रोकने में मदद करती है। रोजमेरी में करनसोल नामक पदार्थ होता है जो कैंसर ट्यूमर के विकास को प्रतिबंध करता है। Image courtesy: Getty Images

फल और सब्जियां

फलों और सब्जियों के छिलकों को कभी भी उतार कर नहीं खाना चाहिए। क्‍योंकि इसमें कैंसर रोधी फिटोकेमिकल होते हैं। इसके अलावा, सब्जियों को लंबे समय तक पकाने से इसमें मौजूद पानी में घुलनशील विटामिन नष्‍ट हो जाते है। Image courtesy: Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK