• shareIcon

पेट की सूजन कम करने के 10 तरीके

पेट में सूजन की समस्‍या के लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार कब्‍ज और गैस बनना है, यह शिकायत तब होती है जब खाना पचने में समस्‍या हो।

स्वस्थ आहार By Nachiketa Sharma / Mar 28, 2014

पेट में सूजन

खानपान और अनियमित दिनचर्या के कारण पेट से संबंधित कई बीमारियां हो जाती हैं, इसमें से एक है पेट में सूजन होना। पेट में सूजन की समस्‍या के लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार कब्‍ज और गैस बनना है। यह शिकायत तब होती है जब खाना पचने में समस्‍या हो। इसके अलावा कुछ आहार ऐसे भी हैं जो इसके लिए जिम्‍मेदार होते हैं। आगे के स्‍लाइडशो में जानिए पेट की सूजन कम करने के आसान तरीकों के बारे में।

imagecourtesy-gettyimages

जब हो कब्‍ज

पेट की सूजन के लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार कब्‍ज होता है, यह शिकायत खाना ठीक से न पचने के कारण होता है। कम फाइबर और तरल पदार्थ का सेवन करने से कब्ज की शिकायत हो सकती है। इससे निजात पाने के लिए आहार में फाइबर के स्रोतों जैसे - दालें, नट्स, बीज, हरी सब्जियां और ताजे फलों को शामिल कीजिए। फाइबर आपकी पाचन क्रिया को ठीक रखने में बहुत मददगार है।

imagecourtesy-gettyimages

फूड एलर्जी से करें बचाव

पेट में सूजन के लिए फूड एलर्जी भी जिम्‍मेदार है। फूड एलर्जी के लिए अस्‍वस्‍थ खानपान जिम्‍मेदार है। अधिक तला-भुना, फास्‍ट फूड, डिब्‍बाबंद आहार खाने से बचें, क्‍योंकि ये फूड एलर्जी का कारण बन सकते हैं।

imagecourtesy-gettyimages

अच्‍छे से चबाकर खायें

खाने में जल्‍दबाजी न करें, जल्दी में ना खाएं। खाने को अच्छे से पचाने के लिए जरूरी है कि चबा-चबा कर खाया जाए। अच्छे से ना चबाने से शरीर के अंदर हवा चली जाती है जिससे पेट में सूजन की समस्या हो सकती है। इसलिए खाने को धीरे-धीरे और अच्छे से चबा कर खाएं इससे खाना अच्‍छे से पचता है और सूजन नहीं होती।

imagecourtesy-gettyimages

कार्बानेटेड ड्रिंक्स न पियें

कोल्ड ड्रिंक्स या अन्य तरल पदार्थ पेट में सूजन का कारण हो सकता है। इसलिए इनसे दूर रहने कोशिश करें, इसकी जगह सादा पानी पिएं। अगर आप चाहें तो नींबू पानी भी ले सकते हैं। इसके अलावा ग्रीन टी, पिपरमिंट टी भी पेट की सूजन को कम करती है।

imagecourtesy-gettyimages

शुगर फ्री खायें

शुगर का अधिक सेवन करने से पेट में सूजन होती है। इसलिए शुगरयुक्‍त आहार का अधिक सेवन करने से बचें। चिकित्‍सकों की मानें तो दिन भर में दो या तीन बार कृत्रिम मीठा आहार ले सकते हैं।

imagecourtesy-gettyimages

मुंह को लगाम दें

बोलना और बातें करना बहुत जरूरी है, लेकिन कुछ समय ऐसा भी होता है जब आपको अपने मुंह को लगाम देने की जरूरत होती है, खासकर तब जब आप कुछ खा रहे हों। खाते समय बात करने से बचें, क्‍योंकि खाते वक्‍त बात करने से शरीर में हवा जाती है और यह पेट की सूजन का कारण बन सकता है।
imagecourtesy-gettyimages

च्वूइंग गम कम खाएं

च्वूइंग गम खाने से शरीर में हवा का प्रवेश होता है जो पेट की सूजन का कारण हो सकता है। अगर आपकी आदत च्वूइंग गम खाने है तो इसपर रोक लगायें, इसकी जगह टॉफी का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा खाने के बीच में हाई फाइबर स्नैक के रूप में आप फल और सूखे मेवे खा सकते हैं।imagecourtesy-gettyimages

सोडियम कम लें

हाई प्रोसेस्‍ड फूड में सोडियम की मात्रा अधिक और फाइबर की मात्रा कम होती है जो पेट में भारीपन और सूजन का कारण हो सकता है। जब भी डिब्बाबंद आहार या प्रोसेस्‍ड आहार लें तो सोडियम की मात्रा जांच लें। 500 ग्राम से अधिक सोडियम का सेवन नुकसानदेह है और यह पेट में सूजन का कारण बनता है।

imagecourtesy-gettyimages

खूब पानी पियें

पानी शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है, यह शरीर से विषाक्‍त पदार्थ निकालता है और बीमारियों से बचाता है। पेट में सूजन की समस्‍या होने पर पानी का सेवन करने से सूजन कम हो सकती है। इसलिए नियमित 10-12 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए।

imagecourtesy-gettyimages

घरेलू नुस्‍खे भी आजमायें

पेट की सूजन कम करने के लिए घरेलू नुस्‍खे आजमाइए। अजवायन, जीरा, छोटी हरड़ और काला नमक बराबर मात्रा में पीस लें, इसे खाने के बाद खाने से पेट में सूजन की शिकायत नहीं होती। हर बार खाने के साथ अजवायन का सेवन करने से पाचन दुरुस्‍त होता है।

 

imagecourtesy-gettyimages

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK